Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

शनिवार, 10 जुलाई 2021

सदर ब्लॉक प्रमुख पद के चुनाव में इस बार भी हो रहा जमकर गदर, सत्ताधारी दल के विधायक और सांसद की इज्जत भी दाँव पर

यह कैसी उम्मीदवारी कि जिस दल से उम्मीदवारी के दावे किये जाएं वह दल उससे अपना पल्ला झाड़ लें...!!!

जनसत्ता दल लोकतांत्रिक कार्यालय के सामने अनाधिकृत उम्मीदवार शेषा सिंह की लगी होर्डिंग...

प्रतापगढ़ का सदर विकास खण्ड जिला मुख्यालय से जुड़ा रहा है और विकास भवन के बगल ही सदर विकास खंड का कार्यालय भी है। सदर ब्लाक प्रमुख के चुनाव में दो उम्मीदवार अपनी जीत के प्रति आश्वस्त हैं, परन्तु बीडीसी को उठाने और धमकाने के साथ दर्जनों बीडीसी का हफ्ते भर से पता ही चl पा रहा है। उनके मोबाइल बंद बता रहे हैं और घरवाले उनकी सही ठिकाना बता पाने में असमर्थ है। घरवालों की बातचीत से लगता है कि उन्हें इस बात की जानकारी है कि उनके घर से निर्वाचित बीडीसी कहाँ हैं ? उन्हें डरवा धमका कर इस बात से रोका गया है कि मतदान हो जाने तक इस बात को छुपाये रखा जाए कि उनके घर से जीता बीडीसी कहाँ है ? घरवालों को भरोसा दिलाया गया है कि मतदान होते ही बीडीसी आजाद हो जायेंगे और अपने अपने घर सुरक्षित पहुँच जायेंगे 


जनपद प्रतापगढ़ में ब्लॉक प्रमुख पद हेतु भाजपा की अधिकृत सूची...

जिले में ब्लॉक प्रमुख पद पर आज सुबह 11 बजे से मतदान शुरू है प्रमुख पद पर नामांकन वापसी के बाद बचे हुए 11 विकास खंड के प्रमुख पद पर सरगर्मी तेज हो गई। सदर ब्लाक प्रमुख चुनाव में आरोप-प्रत्यारोप का दौर लगातार जारी रहा भाजपा ब्लाक प्रमुख प्रत्याशियों की सूची जारी कर सदर ब्लॉक के प्रमुख पद पर उम्मीदवार के रूप में शोभा देवी को अपना प्रत्याशी बनाया है। वहीं जनसत्ता दल लोकतांत्रिक ने जनपद प्रतापगढ़ में केवल चार ब्लॉक में अपने प्रत्याशी उतारे हैं। उस चार उम्मीदवारों में सदर ब्लॉक प्रमुख पद की उम्मीदवार शेषा देवी का नाम नहीं है, फिर भी शेषा देवी जनसत्ता दल लोकतांत्रिक से स्वयंभू उम्मीदवार घोषित कर जनसत्ता दल लोकतांत्रिक के केन्द्रीय कार्यालय पर अपने नाम का होर्डिंग्स लगाकर संशय उत्पन्न कर दिया है  


 ब्लॉक प्रमुख पद हेतु जनसत्ता दल लोकतांत्रिक की अधिकृत सूची...

सवाल उठता है कि जब जनसत्ता दल लोकतांत्रिक से अधिकृत उम्मीदवार शेषा सिंह नहीं घोषित हुई तो उनकी होर्डिंग्स वह भी जनसत्ता दल लोकतांत्रिक के कार्यालय के सामने किस अधिकार से शेषा सिंह ने लगा रखा है ?  इस बात की पुष्टि कि लिए जब जनसत्ता दल लोकतांत्रिक के जिलाध्यक्ष राम अचल वर्मा से सम्पर्क कर उनका पक्ष जानने का प्रयास किया गया तो उन्होंने बताया कि जिले में सिर्फ चार ब्लॉक पर ही जनसत्ता दल लोकतांत्रिक ने अपने अधिकृत उम्मीदवार उतारे हैं सदर ब्लॉक के प्रमुख पद पर जनसत्ता दल लोकतांत्रिक ने शेषा सिंह नाम की कोई महिला उम्मीदवार घोषित नहीं है यदि  शेषा सिंह ने अपने को जनसत्ता दल लोकतांत्रिक दल की उम्मीदवार बताती हैं और जनसत्ता दल लोकतांत्रिक के कार्यालय के सामने अपने उम्मीदवारी के संदर्भ में कोई होर्डिग्स लगाती हैं तो गलत है इसके लिए वह स्वयं जिम्मेदार होंगी 


जनसत्ता दल लोकतांत्रिक कार्यालय के सामने लगी अनाधिकृत उम्मीदवार शेषा सिंह की होर्डिंग...

जिलाध्यक्ष राम अचल वर्मा ने बताया कि उक्त संदर्भ की सूचना से राष्ट्रीय अध्यक्ष रघुराज प्रताप सिंह "राजा भईया" एवं प्रदेशध्यक्ष विनोद कुमार सरोज को दे दी है उक्त प्रकरण में जो निर्णय लेना होगा, शीर्ष नेतृत्व ही लेगा सवाल उठता है कि जिस दल से शेषा सिंह अपनी उम्मीदवारी बताती हैं उस दल का जिलाध्यक्ष उनकी उम्मीदवारी को खारिज कर दे रहा है आखिर यह शेषा सिंह कौन हैं और बिना अधिकृत उम्मीदवारी के उसी दल के कार्यालय के सामने अपनी होर्डिग्स कैसे लगा रखा है ? इस मामले को जब खंगाला गया तो पता चला कि गोल्डी सिंह की माताजी शेषा सिंह हैं और पिछली बार भी गोल्डी सिंह और प्रदीप कुमार उर्फ डब्बू सिंह ने सदर ब्लॉक प्रमुख पद पर अपना आदमी निर्वाचित कराया था और चुनाव का सारा खर्च उठाया था डब्बू सिंह इन पाँच वर्षों में कई बार जेल यात्रा किये तो उनके स्थान पर गोल्डी सिंह ही सदर प्रमुख का कार्य देखा करते थे 


सदर प्रमुख पद की उम्मीदवार शेषा सिंह के पुत्र गोल्डी सिंह...


इस बार जब सदर ब्लॉक प्रमुख पद पर आरक्षण का चक्रानुक्रम चला तो सीट महिला खाते में चली गई। गोल्डी सिंह अपनी माता जी शेषा सिंह को बीडीसी निर्वाचित कराया और अब ब्लॉक प्रमुख पद पर चुनावी मैदान में उतारा है शेषा सिंह के सामने सत्ताधारी दल भाजपा की उम्मीदवार शोभा सिंह है जो सदर विधानसभा के पहले बूथ लोहंगपुर की निवासी हैं शोभा सिंह स्वर्गीय डॉ सूर्य प्रकाश सिंह की पत्नी हैं और चालीस सालों तक जिला कचेहरी में अंग्रेजी के कुशल टायपिस्ट रहे स्व. सत्यनारायन सिंह की बहू हैं सदर ब्लॉक प्रमुख पद के दोनों उम्मीदवार में काफी समानता है पहली समानता दोनों एक जाति क्षत्रिय समाज से हैं दोनों के पति स्वर्गवासी हैं।दोनों के बेटे अपनी माँ को प्रमुख पद पर आसीन कराना चाहते हैं देखना है कि किसकी इच्छा पूर्ण होती है 


भाजपा उम्मीदवार शोभा सिंह...

भाजपा उम्मीदवार शोभा सिंह के बड़े लड़के राकेश सिंह उर्फ बबलू सदर विधायक राजकुमार "करेजा पाल" और बीस वर्षों तक पूरे केशवराय के प्रधान रहे शिवाजीत सिंह के अति करीबियों में से हैं प्रतापगढ़ सांसद संगम लाल  गुप्ता भी शोभा सिंह के पक्ष में बीडीसी के साथ बैठक कर चुके हैं कैबिनेट मंत्री मोती सिंह का भी आशीर्वाद शोभा सिंह के ऊपर बना हुआ है गोल्डी सिंह, डब्बू सिंह के बल पर सदर ब्लॉक प्रमुख पद पर अपनी माता जी शेषा सिंह को काबिज कराना चाहते हैं, परन्तु इस बार डब्बू सिंह के चाचा शिवाजीत सिंह शोभा सिंह के साथ कदम से कदम मिलाकर उन्हें सदर प्रमुख पद पर काबिज कराने की पूरी ताकत लगा चुके हैं देखना है कि चुनाव परिणाम किसके पक्ष में आता है ? फिलहाल सदर में इस बार भी गदर होने से कोई रोक नहीं पाया बहुत प्रयास के बाद भी सदर ब्लॉक प्रमुख पद निर्विरोध न हो सका और शोभा सिंह और शेषा सिंह में यह चुनाव रोचक मुकाबले में पहुँच चुका है 


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें