Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

बुधवार, 21 जुलाई 2021

रानीगंज कोतवाली में दो पक्षो के बीच मारपीट, बमबाजी और फायरिंग के मामले में विनोद दुबे समेत 17 पर हत्या हत्या का प्रयास और घर में घुसकर मारने सहित कई धाराओं में दर्ज हुआ मुकदमा

एक पक्ष के लोग रानीगंज विधायक धीरज ओझा के करीबी हैं तो दूसरा पक्ष प्रमुख शिवगढ़ पद के उम्मीदवार विनोद दुबे के समर्थक हैं...!!!


ब्लॉक प्रमुख पद पर विधायक धीरज ओझा के भतीजे सत्यम ओझा को लेनी थी,पद एवं गोपनीयता की शपथ ! शपथ समारोह में कैबिनेट मोती सिंह और विधायक धीरज ओझा थे,शामिल...!!!


विनोद दुबे के पिता रमाकांत दुबे "कक्का " ब्लॉक प्रमुख शिवगढ़ के पद पर काफी समय तक रहे और वर्ष-2010में आरक्षण के बाद विनोद दुबे अपने दबंगई और बाहुबल के बल पर शिवगढ़ प्रमुख पद अपने आदमी को चुनाव जितवाकर करते रहे,प्रमुख प्रतिनधि के तौर पर कार्य...!!!

गोली लगने के बाद विनोद दुबे अपने समर्थक मनोज दुबे का ईलाज कराते हुए...

अभी त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में ब्लॉक प्रमुख के चुनाव परिणाम के बाद शपथ समारोह का प्रत्येक ब्लॉक मुख्यालय पर आयोजन चाल ही रहा था कि प्रतापगढ़ के शिवगढ़ ब्लॉक अंतर्गत दहेरकला गाँव में चुनावी रंजिश को लेकर दो पक्षों में पहले गाली गलौज शुरू हुई जो बाद में बल्बे का स्वरूप धारण कर ली देखते ही देखते दोनों पक्षों में जमकर फायरिंग व बमबाजी शुरू हो गई हुई। जिसमें 2 लोगों को गोली लगी और 5 लोग कुल्हाड़ी व लाठी व डंडे की मारपीट से घायल हो गए। वहीं बमबाजी से घर का दरवाजा टूट गया। घटना की जानकारी होते ही कई थानों की फोर्स व पीएसी लेकर एसपी, एएसपी व सीओ मौके पर पहुंच गए। घायलों को अस्पताल भेजकर गांव में फोर्स तैनात कर दी गई। जिसमें एक घायल बुजुर्ग की अस्पताल में मौत हो गई। अस्पताल में परिजनों ने विधायक, डीएम व एसपी को बुलाने की मांग करते हुए काफी देर तक हंगामा करते रहे।

दहेरकला में बंधक बना वार्डबॉय अभिषेक मिश्र भी हुआ था,घायल...

रानीगंज थानाक्षेत्र के दहेरकला निवासी रणजीत सिंह उर्फ राजू का भाई शिव नारायन सिंह इस बार शिवगढ़ ब्लॉक प्रमुख पद के निर्दलीय उम्मीदवार विनोद दुबे के प्रत्याशी को हराकर बीडीसी सदस्य का चुनाव जीता है। इसके बाद प्रमुखी के चुनाव में भी वह विनोद दुबे के विपक्षी प्रत्याशी विधायक धीरज ओझा के भतीजे सत्यम ओझा की तरफ था। रामपुर अधारगंज निवासी अभिषेक उर्फ नन्हकाई (25) रानीगंज सीएचसी में संविदाकर्मी होने के साथ विनोद दुबे के यहां आटा चक्की आदि चलाने का काम भी करता है। बताया जाता है कि मंगलवार सुबह करीब 10:30 बजे अभिषेक रणजीत उर्फ राजू सिंह के घर के पास से गुजरा तो किसी बात पर विवाद हो गया। आरोप है कि अभिषेक को बंधक बना लिया गया। उसको छुड़ाने मनोजधर दुबे उर्फ मिंटू (25) निवासी- सचौली थाना- रानीगंज पहुँचे थे। 

राजकीय मेडिकल कालेज प्रतापगढ़ में ईलाज कराते अभिषेक मिश्र...

बन्धक हुए अभिषेक मिश्र को छुड़ाने पहुँचे मनोजधर दुबे के सीने के पास रणजीत सिंह उर्फ राजू के पक्ष से किसी ने गोली मार दी। इसके बाद दोनों तरफ से काफी संख्या में लोग आमने-सामने हो गए। पिस्टल, तमंचे व बंदूक से फायरिंग के साथ बमबाजी भी होने लगी। जिनके हाथ में असलहे नहीं थे, वे कुल्हाड़ी व लाठी से मारपीट करने लगे। इलाके में हड़कंप मच गया और लोग अपने घरों में दुबक गए। काफी देर तक चली फायरिंग व बमबाजी के बाद पुलिस पहुंची तो एक पक्ष से मनोजधर दुबे व अभिषेक मिश्र व दूसरे पक्ष से रणजीत सिंह उर्फ राजू (50) निवासी- दहेरकला, थाना- रानीगंज, भानु सिंह (52) निवासी- प्रजापतिपुर, थाना- रानीगंज, राजू सिंह का भांजा हिमांशु सिंह (22) निवासी- देवसढ़ा, थाना- सांगीपुर, राजेश सिंह की पत्नी आशा सिंह (35) निवासी- दहेरकला व रणजीत उर्फ राजू सिंह के पिता अनिरुद्ध बहादुर सिंह (75) घायल हो गए। 

दहेरकला में बमबाजी और गोलीकांड के बाद घटनास्थल का निरीक्षण करते SPप्रतापगढ़...

मनोजधर दुबे के सीने के पास और भानु सिंह के बाएं पैर में घुटने के नीचे गोली लगी है। हिमांशु सिंह के सिर में कुल्हाड़ी लगी। अन्य घायल मारपीट में चोटहिल बताए जा रहे हैं। रानीगंज थाने के दरोगा धीरेंद्र ठाकुर ने मौके पर पहुंचकर घायलों को अस्पताल भेजा। राजकीय मेडिकल कालेज में मनोजधर दुबे की हालत गंभीर देख डॉक्टरों ने स्वरूपरानी हॉस्पिटल, प्रयागराज रेफर कर दिया। एसपी सतपाल अंतिल, एएसपी पूर्वी सुरेन्द्र प्रसाद द्विवेदी व सीओ रानीगंज, अतुल अंजान के साथ मौके पर पहुंच गए। काफी देर तक एसपी ने खुद मौके पर छानबीन की। गांव में एहतियातन पुलिस व पीएसी तैनात की गई है। उधर राजकीय मेडिकल कालेज में अनिरुद्ध बहादुर सिंह, राजू व हिमांशु को भी डॉक्टरों ने प्रयागराज रेफर कर दिया। लेकिन एम्बुलेंस के इंतजार के दौरान अनिरुद्ध बहादुर सिंह की राजकीय मेडिकल कालेज प्रतापगढ़ में ही मौत हो गई। 

दहेरकला की घटना में घायल अनिरुद्ध सिंह की हो गई मौत...

हालांकि घटना में अनिरुद्ध बहादुर सिंह को ज्यादा चोट नहीं थी, लेकिन घटना के बाद से उनकी सांस तेज चल रही थी। जैसे उन्हें घबराहट हो रही थी। अनिरुद्ध बहादुर सिंह की मौत के बाद आक्रोशित परिजनों ने काफी देर तक हंगामा किया। शव को मोर्चरी में नहीं ले जाने दे रहे थे, परन्तु बाद में समझाने बुझाने पर मान गए। घटना में शामिल लोग इतने बेखौफ थे कि बम के चीथड़े दूर तक बिखरे थे पिस्टल व तमंचों के खोखे से निकले छर्रे काफी दूर तक बिखर गए थे। पुलिस टीम ने दर्जनभर से अधिक पिस्टल व लगभग उतनी ही संख्या में 12 बोर के खोखे घटनास्थल से बरामद किए हैं। रानीगंज के दहेरकला में राजू सिंह के घर दोनों तरफ से मारपीट फायरिंग व बमबाजी शुरू हुई तो काफी देर तक चली। राजू के घर के कांच व दरवाजा टूट गया था। ईंट व पत्थर के टुकड़े इस कदर जमीन पर पड़े थे, मानों दो गांवों के बीच पथराव हुआ है।

घटना के दूसरे दिन फील्ड यूनिट ने घटना स्थल पर पहुँचकर जुटाए सैम्पल...

दहेरकला गांव में एसपी फोरेंसिक टीम की फील्ड यूनिट व स्वाट टीम के साथ स्वयं पहुंच गए। फील्ड यूनिट ने घटनास्थल से कारतूस व बारूद के कणों के सैम्पल उठाए। पीड़ित पक्ष का बयान दर्ज करने के बाद घटनास्थल का दोबारा निरीक्षण किया गया। पुलिस अधीक्षक सतपाल अंतिल ने पुलिस की तीन टीमें घटना की तहकीकात और धरपकड़ के लिए गठित की है सीओ रानीगंज अतुल अंजान त्रिपाठी का कहना है कि एसपी ने क्राइम ब्रांच की स्वाट टीम को लगा दिया है। इसके अलावा रानीगंज व फतनपुर थाने की 2 टीमें भी आरोपितों व मारपीट में इस्तेमाल हुए असलहों को बरामदगी के लिए लगा दी गई हैं। फिलहाल मंगलवार देर शाम तक किसी पक्ष से रानीगंज थाने पर तहरीर नहीं दी गई थी।

दहेरकला की घटना की मुख्य वजह चुनावी रंजिश ही है...

राजकीय मेडिकल कालेज, प्रतापगढ़ में अनिरुद्ध सिंह के मृत हो जाने के बाद मामला तनाव पूर्ण हो गया। रानीगंज थाने की जीडी पुलिस को रोकनी पड़ी। तहरीर मिलने के बाद चुनावी रंजिश को लेकर रानीगंज थाने में हत्या, बलवा, समेत कई धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया। घर पर चढ़कर मारपीट, फायरिंग, बमबाजी करने का भी आरोप हैं पोस्टमार्टम हाउस पर जब विधायक रानीगंज धीरज ओझा पहुँचे और मृतक के परिजनों को आश्वस्त किये कि उन्हें हरहाल में न्याय दिलाया जायेगा तो लोगों का गुस्सा शांत हुआ और तब कहीं जाकर पोस्टमार्टम की कार्रवाई शुरू हो सकी रणजीत सिंह की तहरीर पर शिवगढ़ ब्लॉक प्रमुख के प्रत्याशी रहे विनोद दुबे, आदर्श दुबे, समेत नौ व्यक्तियों पर नामजद मुकदमा दर्ज किया गया है और 7 से 8 लोग अज्ञात भी शामिल हैं। फ़िलहाल अभी एक पक्ष का मुकदमा लिखा गया है। प्रभारी निरीक्षक रानीगंज ने बताया कि अभी दूसरे पक्ष से तहरीर नहीं मिली है। तहरीर मिलती है तो उस पर भी मुकदमा लिखा जाएगा    


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें