Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

गुरुवार, 15 जुलाई 2021

अमरोहा में बीच सड़क पर पत्रकार को शराब कारोबारी पटक-पटक कर मारता रहा और खड़ी पुलिस तमाशबीन बनी रही

शराब माफिया की दादागीरी का नजारा देख दंग रह गए लोग, पत्रकार बनेगा... गाली देते हुए पीट रहा था,शराब ठेकेदार...!!!


पुलिस की मौजूदगी में शराब माफिया पत्रकार को सड़क पर गिराकर पीटता रहा...


यह सच है कि उत्तर प्रदेश के कई जनपदों में तय कीमत से अधिक पर शराब बेचे जाने की शिकायतें सामने आती रहती हैं। इस बीच राज्य के अमरोहा (Amroha) से एक शराब ठेकेदार की दबंगई का मामला सामने आया है कथित तौर पर शराब की दुकानों से सेल्समैन तय कीमत से ज्यादा पर शराब बेंचते हैं और खरीदने वाले यदि कुछ बोले तो उन्हें बेइज्जत होना भी तय रहता हैशराब के शौकीन लोग शराब खरीदे पिये और भूल गए। किसी में शिकायत करने की इच्छाशक्ति ही नहीं होती। राज्य से आए दिन शराब माफियाओं की दबंगई की खबरें भी सामने आती रहती हैं। समाजवादी पार्टी और कांग्रेस समेत विपक्षी पार्टियां सीधे-सीधे राज्य की योगी आदित्यनाथ सरकार पर शराब माफिया के खिलाफ जरूरी कार्रवाई न कर उन्हें छूट देने का आरोप लगाती रही हैं।  


बीच सड़क पर पुलिस की मौजूदगी में पत्रकार की छाती पर चढ़कर शराब माफिया ने की पिटाई...

उत्तर प्रदेश में नशा नासूर बनता जा रहा है। सूखा नशा तो जानलेवा था ही, पर उत्तर प्रदेश में अवैध जहरीली शराब भी जानलेवा बन चुकी है। एक साल में सैकड़ों लोगों की मौत हो जाती है,परन्तु जिम्मेदार प्रशासन और उत्तर प्रदेश शासन मूकदर्शक बना रहता है। शराब की दुकान के लिए जो टेंडर निकाले जाते हैं, उसमें शराब माफिया न पायें इसलिए ई-टेंडरिंग कराया जाता है। फिर भी शारब माफियाओं का इतना काकस होता है कि दूसरे के नाम ठेका लेकर अपने सेल्समैन से दुकान संचालित कराते हैं और सरकारी ठेके की दुकान पर जहरीली लोकल शराब की बिक्री भी की जाती है। यह बात आबकारी विभाग से लेकर पुलिस महकमा की जानकारी में होता है। बदले में सबको महीना दिया जाता है, जिससे शाशन व प्रशासन चुप रहता है।   

शराब के धंधे में मिलावट के साथ-साथ नकली और जहरीली शराब का बोलबाला रहता है। साथ ही ओवर रेटिंग भी खूब की जाती है आज अमरोहा जनपद के थाना रहरा स्थित देसी शराब की दुकान के सामने सड़क पर मारपीट के संबंध में ओवर रेटिंग करने की खबर से नाराज शराब का कारोबारी वैभव त्यागी ने एक पत्रकार को सड़क पर पटक-पटक मारने लगा और मजेदार बात यह रही कि मौके पर पुलिस भी मौजूद रही, परन्तु छुड़ाने की हिम्मत खाकी के जवानों में न हो सकी। पत्रकार को शराब माफिया वैभव त्यागी के पीटने का जो वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है, उसमें रहरा पुलिस द्वारा तत्काल अभियोग पंजीकृत कर अभियुक्त वैभव त्यागी पुत्र विनोद त्यागी को गिरफ्तार कर लिया गया हैसवाल उठता है कि जब मौके पर पुलिस मौजूद थी तो शराब माफिया पत्रकार को पटक-पटक कर क्यों मारा ? क्या पुलिस भी शराब माफिया से मिलकर पत्रकार को पिटवाने में शामिल थी ?

पीड़ित पत्रकार का कहना है कि वह शराब के ठेके पर ओवर रेटिंग करने का वीडियो बनाने गया तो ठेके पर 4-5 लोग पहले से ही मौजूद थे। वैभव त्यागी ने मुझे सड़क पर पटक-पटक कर मारा। धारदार हथियार से भी वार किया उसके बाद पत्रकार पुलिस में रिपोर्ट दर्ज कराने के लिए तहरीर दिया तो पुलिस पीड़ित पत्रकार को भी साथ उठा ले गई पीड़ित पत्रकार का मोबाइल फोन भी पुलिस ने छीनकर रख लिया जो बाद में उसे लौटा दिया गया। शराब ठेकेदार की सरेआम इस गुंडई का एक वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है। विवाद की वजह जानने का प्रेस किया गया तो पत्रकार से शराब माफिया वैभव त्यागी इसलिए नाराज हुआ कि उसके ठेके पर पत्रकार वीडियो बनाने पहुँचा था। यह बात उसे नागवार लगी। वैभव त्यागी पत्रकार को पीटते हुए कहता दिख रहा है कि पत्रकार बनेगा तू !

1 टिप्पणी:

  1. देश में पत्रकारों की सुरक्षा के लिए जो भी कानून बनाए गए हैं क्या पुलिस वालों को नही पता है पुलिस वाले दबंग से पैसे लेकर ये सब काम कराते हैं ऐसे लोगो पर सख्ती से कार्रवाई की जाएगी 🙏

    जवाब देंहटाएं

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें