Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

विज्ञापन

विज्ञापन

शुक्रवार, 30 जुलाई 2021

जिलाधिकारी प्रतापगढ़ डॉ नितिन बंसल कलेक्ट्रेट में जनता दर्शन के दौरान सुनते हैं,जनता की फरियाद और कलेक्ट्रेट के पटल प्रभारी खुलेआम लेते हैं,रिश्वत

शिकायतों का प्राथमिकता के आधार पर निस्तारण करें संबंधित अधिकारी- डीएम, प्रतापगढ़...!!!


जिलाधिकारी के अधीनस्थों की चमड़ी बहुत मोटी हो चुकी है, उनके अधीनस्थ ही नहीं सुनते उनके दिए दिशा-निर्देश...!!!


कलेक्ट्रेट में जनता दर्शन के दौरान जनता की शिकायते सुनते डीएम प्रतापगढ़...

योगी सरकार में लगातार दावा किया जाता रहा है कि उनकी सरकार में भ्रष्टाचार कम हुआ है और कार्य करने में पारदर्शिता आई है, जबकि हकीकत यह है कि कलेक्टर के नाक के नीचे कलेक्ट्रेट में तैनात पटल प्रभारियों द्वारा हर कार्य में पैसे की माँग होती है और पैसा न देने पर एक सामान्य कार्य के लिए महीनों पटल प्रभारियों के टेबल के चक्कर काटने पड़ते हैं। जबकि पैसे दे देने पर वही काम हो जाते हैं आखिर जिलाधिकारी महोदय के नाक के नीचे ही उनके पटल प्रभारी और पटल सहायक रिश्वतखोरी में इतने मस्त हो चुके हैं कि उन्हें न तो जिलाधिकारी प्रतापगढ़ का कोई खौफ है और न ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी का डर है 


शासन और प्रशासन कहता कि कोविड-19 की गाइडलाइन का पालन करें,और यहाँ देखें...

जिलाधिकारी डॉ नितिन बंसल ने आज जनसुनवाई के दौरान कलेक्ट्रेट कार्यालय में कोविड-19 की गाइडलाइन का पालन करते हुए जन सामान्य की समस्याएं सुनी एवं उनके निस्तारण हेतु संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिया। जिलाधिकारी ने जनसुनवाई में आए लोगों से अपील करते हुए कहा कि कोविड-19 संक्रमण से बचाव हेतु सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें, मास्क लगाएं तथा साफ-सफाई व सैनिटाइजेशन पर नियमित रूप से ध्यान दें 18 वर्ष से ऊपर आयु के सभी व्यक्ति अपना कोविड टीकाकरण अवश्य कराएं। जिलाधिकारी महोदय को यह भी ज्ञात होना चाहिए कि उनका फिसड्डी सीएमओ डॉ अरविन्द कुमार श्रीवास्तव जनपद प्रतापगढ़ की जनता के लिए कोविड-19 की वैक्सीन भी लाने में असमर्थ हैं। सीएमओ प्रतापगढ़ तो सिर्फ रिश्वतखोरी में विश्वास रखते हैं और दिनरात उसी के लिए परेशान रहते हैं। 


आज कलेक्ट्रेट कार्यालय में जिलाधिकारी ने सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराते हुए जन समस्याएं सुनी तथा निस्तारण हेतु संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिया। जिलाधिकारी प्रतापगढ़ से अनुरोध है कि पूरे जिले की समस्या बाद में सुने, पहले कलेक्ट्रेट में तैनात पटल प्रभारियों और पटल सहायकों द्वारा खुलेआम ली जा रही रिश्वत को रोकने का काम करें और पद के सापेक्ष पदों को भरने का कार्य करें ताकि जनता का कार्य सीधे हो सके। एक पटल प्रभारी के पास तीन से अधिक पटल का कार्य आवंटित है तो रिश्वतखोरी और घपले घोटाले तो होंगे ही। क्योंकि काम के प्रेशर को खत्म करने के लिए बाहरी ब्यक्ति से काम लिया जायेगा और जो बाहरी होगा वह लूट खसोट करके ही अपनी जेब भरेगा। साथ ही अपने हाकिम को भी खुश रखेगा।    


अब कलेक्टर साहेब तो आम जनता को अपनी बात सुना दिए,परन्तु प्रतापगढ़ के जनप्रतिनिधियों द्वारा कोविड-19 की गाइडलाइन की प्रत्येक दिन धज्जियाँ उनके और उनके अधिकारियों के सामने उड़ाई जाती है और यही कलेक्टर साहेब कुछ बोल पाने में अक्षम रहते हैं। देश के अन्दर जितने भी नियम कानून बनते हैं, वह सिर्फ और सिर्फ आम जनता मतलब गरीब और बिना पॉवर वाले लोगों के लिए ही बनते हैं। असरदार लोगों के लिए कोई नियम-कानून का अनुपालन करना बाध्य नहीं है। आज जनसुनवाई के दौरान जिलाधिकारी के समक्ष नाली विवाद, भूमि पर अवैध कब्जे, वसीयत, भूमि की पैमाइश, शौचालय, राशन, आवास आदि से संबंधित शिकायतें प्राप्त हुई, जिनके निस्तारण हेतु जिलाधिकारी ने संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिया। जिलाधिकारी प्रतापगढ़ से जन सामान्य की शिकायत है कि टीकाकरण केंद्रों पर भारी भीड़ है और वैक्सीन कम पड़ रही है


प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र सुखपाल नगर में भारी भीड़। टीका लगवाने को लेकर सबसे ज्यादा उत्साह युवाओं में दिख रहा है। प्रभारी चिकित्साधिकारी डॉ दिनेश कुमार सरोज की देखरेख में कोरोना टीका लगाया जा रहा है। टीका लगवाने के लिए लाइन में लगे लोगों को मायूसी हाथ लग रही हैं। प्रतापगढ़ जिला मुख्यालय से महज 8 किमी दूर सुखपाल नगर के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर इस कदर भीड़ कि एक के ऊपर एक गिरे जा रहे थे, उन्हें रोकने के लिए स्वास्थ्य विभाग और जिला प्रशासन के पास कोई ब्यवस्था ही नहीं है। कोविड से बचाव के लिए जो लोग वैक्सीन लगवाने सुखपाल नगर पहुँच रहे हैं, वह कोविड-19 वैक्सीन के साथ कहीं कोरोना संक्रमण घर न लेकर लौटे। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, सुखपाल नगर पर प्रभारी चिकित्साधिकारी दिनेश कुमार सरोज और चीफ फार्मासिस्ट सुरेंद्र सिंह, अर्चना, आरजू, दिनेश चंद्र मिश्रा आदि लोग मौजूद रहे। 


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें