Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

गुरुवार, 8 जुलाई 2021

निर्विरोध निर्वाचन के लिए उत्तर प्रदेश में ब्लॉक प्रमुख चुनाव में नामांकन के दिन जमकर हुई गुंडई

यूपी में क्षेत्र पंचायत प्रमुख के चुनाव में लोकतंत्र की मर्यादाएं हुई तार-तार, महिला (BDC) क्षेत्र पंचायत सदस्य की सार्वजनिक रूप से ब्लॉक के सामने साड़ी खींचने से योगी सरकार की कानून ब्यवस्था पर उठे सवाल...!!!


लखीमपुर खीरी में कलंकित हुआ लोकतंतकेवल बेटी बचाओ की बात हुई थी। माँ बचाओ, बहन बचाओ, महिला बचाओ की कोई बात नहीं हुई थी। ये लखीमपुर खीरी है और अनिता यादव सपा की ब्लॉक प्रमुख उम्मीदवार ऋतु सिंह की प्रस्तावक हैं। उनका चीर हरण करते चाल चरित्र चेहरे वाले लोग हैं। ये निंदनीय है, शर्मनाक है, पुरुष जाति पर कलंक है।

 

पुलिस के सामने नामांकन करने गई महिला BDCकी इज्जत हुई तार-तार...


सूबे में क्षेत्र पंचायत प्रमुख के लिए नामांकन सुबह 11 बजे से शुरू होकर शाम 3 बजे तक खत्म हुआ। उत्तर प्रदेश में ऐसा कोई जिला नहीं बचा जहाँ क्षेत्र पंचायत सदस्य के साथ दुर्ब्यवहार न हुआ होकहीं बीडीसी को उठवा लिया गया तो कहीं नामांकन करने से खुलेआम रोका गया। 75 साल के लोकतंत्र में इससे घिनौना स्वरूप दूसरा कोई और नहीं हो सकता। ब्लॉक प्रमुख पद के चुनाव हेतु आज जब सपा की ब्लॉक प्रमुख की प्रत्याशी ऋतु सिंह अपनी प्रस्तावक अनीता देवी के साथ पहुँची, तभी गुरुदेव खेड़ा से BDC सदस्य अनीता देवी के साथ यह शर्मशार करने वाली घटना घटी। उस समय अफरा-तफरी मच गई जिसके कारण सपा प्रत्याशी ऋतु सिंह नामांकन भी नहीं कर पाईं

बीच सड़क पर इस तरह से किसी महिला को सड़क पर घेरकर उसकी साड़ी खींच रहे अराजक तत्वों को पुलिस रोकने के बजाय किसी बड़ी वारदात का इंतजार करती रही। लखीमपुर की पसगवां ब्लॉक की महिला BDC सदस्य की इज्जत तार-तार की गई और सपा प्रत्याशी के प्रस्तावक के साथ अभद्रता भी की गई। पुलिस के सामने बीडीसी अनीता देवी की साड़ी खींची गई और पुलिस मूक दर्शक बनी देखती रही बीच सड़क पर महिला की साड़ी बीजेपी के कार्यकर्ताओं ने खींची ऐसा पीड़ित महिला बीडीसी सदस्य का आरोप है। ब्लॉक प्रमुख का चुनाव सत्तापक्ष और बाहुबल और धनबल के सहारे ही जीता जाता हैपंचायत चुनाव के लिए इतना बवाल हो रहा है कि जहाँ देखो वहीं से मारपीट की खबरें आ रही है।

2 टिप्‍पणियां:

  1. Sab ke shasan me hota hi 🙏aarchan🐷🐷🐷 murdabaad🙏

    जवाब देंहटाएं
  2. फिर काहे को भाजपा कहती है कि हमारा चाल चेहरा और चरित्र अलग है ! वह भी तो वैसी ही हुई !

    जवाब देंहटाएं

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें