Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

मंगलवार, 13 जुलाई 2021

विधायक रानीगंज धीरज ओझा पर धांधली करने का ब्लॉक प्रमुख उम्मीदवार विनोद दुबे ने लगाया आरोप

ब्लॉक प्रमुख पद के प्रत्याशी रहे विनोद दूबे ने विधायक और आरओ पर लगाये गंभीर आरोप...!!!


सत्ता का दुरुप्रयोग कर रानीगंज विधायक धीरज ओझा ने अपने भतीजे सत्यम ओझा को जितवाया ब्लॉक प्रमुख का चुनाव-विनोद दूबे,ब्लॉक प्रमुख पद के प्रत्याशी...!!!


शिवगढ़ ब्लॉक प्रमुख पद के उम्मीदवार विनोद दुबे...

प्रतापगढ़। जिले में ब्लॉक प्रमुख चुनाव पर लगातार सवाल उठ रहे हैं। आपको बता दें कि आसपुर देवसरा के बाद अब शिवगढ़ ब्लाक में हुए चुनाव पर सवाल उठाए जा रहे हैं। वहीं शिवगढ़ ब्लॉक पद के निर्दलीय प्रत्याशी रहे विनोद दुबे ने रानीगंज विधायक अभय कुमार उर्फ धीरज ओझा पर आरोप लगाते हुए कहा कि हमारे 10 वोटों को इनवैलिड (अवैध) किया गया है। विधायक के दबाव और आरओ की मिलीभगत की वजह से मैं यह चुनाव हारा हूं। मतदान कक्ष में पेन ले जाने पर प्रतिबंध के बावजूद दूसरी पेन से बैलट पेपर पर पीछे निशान लगाकर मेरे मतों को इनवैलिड किया गया है। इस मामले को कोर्ट में लेकर जायेंगे और न्याय मिलने तक लड़ाई जारी रहेगीविधायक धीरज ओझा और उनके भाई व भतीजे के अत्याचार का जवाब जनता 2022 में देगी।  


प्रेस कांफ्रेंस करते शिवगढ़ ब्लॉक प्रमुख पद के उम्मीदवार विनोद दुबे...


मेरी आपत्ति को अनसुना कर प्रमाण पत्र तहसील में ले जाकर आरओ ने विधायक के भतीजे को दिया है और न्याय के लिए मैं अदालत का दरवाजा खट खटाउंगा। विधायक मेरे पैसे और मेरी गाड़ियों से चुनाव लड़ रहे थे और अब मेरा ही विरोध कर रहे हैं। इसी के साथ ही शिवगढ़ ब्लॉक प्रमुख पद के उम्मीदवार विनोद दुबे ने कहा कि मुझे 29 मत मिले तो विधायक के भतीजे को मात्र 23 मत ही मिले जिसके बाद मेरे 10 वोटों को इनवैलिड बताकर जीत हासिल की गई। वहीं, मेरे ऊपर फर्जी तरीके से बीडीसी के अपहरण के मामले पर मुकदमा दर्ज कराया गया।लेकिन बीडीसी ने पुलिस को फोन कर बताया कि मेरा किसी ने अपहरण नहीं किया, मैं मामा के घर सुरक्षित हूं। 


विधायक धीरज ओझा और नव निर्वाचित प्रमुख सत्यम ओझा...

शिवगढ़ ब्लॉक प्रमुख का चुनाव सम्पन होने के बाद भी शिवगढ़ ब्लॉक प्रमुख पद पर चुनाव में उतरे विनोद दुबे और विधायक धीरज ओझा के भतीजे सत्यम ओझा के बीच अभी भी रार, बरकरार है। ब्लॉक प्रमुख प्रत्याशी विनोद दुबे के आरोपो पर विधायक धीरज ओझा ने कहा कि अपनी हार से प्रमुख पद का प्रत्याशी बौखला गया है। उसे अपनी हार पच नहीं रही है। अगर सत्ता का दुरुप्रयोग करता तो भाई 1 वोटों से नहीं हारता। मैं सत्ता का दुरुपयोग नहीं करता। प्रमुख प्रत्याशी के सभी आरोप निराधार हैं। विनोद दुबे प्रमुख पद का चुनाव जैसा हथकंडा अपनाकर जीतते थे, वैसा सबके बारे में सोचते हैं। जो जैसा रहता है, वह दूसरे के बारे में वैसा ही सोचता है। फिलहाल ब्लॉक प्रमुख शिवगढ़ और आसपुर देवसरा के प्रमुख पद के चुनाव परिणाम बाद भी  आरोप प्रत्यारोप जारी है।  


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें