Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

विज्ञापन

विज्ञापन

शनिवार, 31 जुलाई 2021

जम्मू&कश्मीर के लाइसेंस पर प्रतापगढ़ में असलहे इस्तेमाल हो रहे हैं और प्रतापगढ़ की पुलिस बनी हुई है,अनजान


कश्मीर के लाइसेंस का मामला आज मेरे संज्ञान में आया है। पूरे प्रकरण की जांच करायेंगे, मामले में जो भी दोषी होंगे, कार्यवाही की जाएगी-सतपाल अंतिल, एसपी, प्रतापगढ़ 




प्रतापगढ़। कश्मीरी हथियार कहीं जनपद वासियों का सुकून न छीन लें। जम्मू&कश्मीर के लाइसेंस पर भारी संख्या में बेल्हा के अंदर असलहों का इस्तेमाल हो रहा है। इस पर कार्यवाही करने वाली पुलिस ऐसे लोगों को चिन्हित भी किया। बावजूद इसके जानकर भी पुलिस अनभिज्ञ बन गयी। फिलहाल वर्तमान एसपी प्रतापगढ़ सतपाल अंतिल ने जांच कर कार्यवाही की बात कही है।


कश्मीरी असलहे पर लट्टू हैं बेल्हा के अपराधी...


जनपद प्रतापगढ़ में जम्मू&कश्मीर के लाइसेंस पर भारी संख्या असलहे इस्तेमाल किये जा रहें हैं। असलहों का इस्तेमाल करने वाले लोग पुलिस को गुमराह कर इसका बेधड़क इस्तेमाल कर रहें हैं। एक-दो बार तो इस्तेमाल करने वालों को इलाके की पुलिस ने चिन्हित भी किया। चर्चा है कि बावजूद इसके पुलिस ने मामले में सांठगांठ करके मामला ही खत्म कर दिया। सूत्रों की माने तो जम्मू-कश्मीर के लाइसेंस पर असलहों का इस्तेमाल करने वाले लोगों का आंकड़ा भी सम्बन्धित थानों पर नहीं है। कुछ दिनों पूर्व सीबीआई ने जम्मू-कश्मीर और श्रीनगर सहित 40 स्थानों पर छापेमारी किया। 


युवा भी कश्मीरी असलहे पर हो चुके हैं,फ़िदा...

छापेमारी में इस बात का खुलासा हुआ कि वर्ष- 2004 से वर्ष-2016 के बीच जम्मू-कश्मीर से दो लाख, अठहत्तर हजार गन लाइसेंस जारी किये गए थे। जांच में खुलासा हुआ कि जम्मू-कश्मीर से जारी लाइसेंस सभी अवैध हैं। जो गन लाइसेंस जारी किया गया वह विभिन्न प्रदेशों में इस्तेमाल हो रहा है। खास बात यह है कि जिले में भी इसकी बड़ी संख्या है। इस्तेमाल करने वाले सम्बन्धित थाने की पुलिस को गुमराह कर इसका बेधड़क इस्तेमाल कर रहें हैं। इन्हीं लाइसेंस के आधार पर कारतूस की भी खरीदारी करते हैं।


तेजतर्रार आईपीएस सतपाल अंतिल, पुलिस अधीक्षक प्रतापगढ़...

भारी संख्या में हैं,अवैध असलहे की जानकारी तत्कालीन एसपी प्रतापगढ़ देव रंजन वर्मा ने करायी थी,मुनादी...


जिले में भारी संख्या में अवैध असलहों का इस्तेमाल हो रहा है। बीते कुछ दिनों से मान्धाता और जेठवारा सहित विभिन्न स्थानों पर फायरिंग की घटनाएं हुई। कुछ जगह तो पुलिस फायरिंग की घटना से पुलिस इंकार कर गयी। फायरिंग से सम्बंधित अधिकतर घटनाओं में अवैध असलहों का इस्तेमाल हो रहा है। 


मुनादी कराने वाले प्रतापगढ़ के तत्कलीन पुलिस अधीक्षक देव रंजन वर्मा...

अवैध असलहों के इस्तेमाल पर लगाम लगाने के लिए वर्ष- 2018 में तत्कालीन एसपी प्रतापगढ़, देवरंजन वर्मा ने जनपद के थानों में मुनादी करायी थी कि जिसके पास अवैध असलहे हों वो स्वेच्छा से जमा कर दें, नहीं तो जिसके यहां असलहा मिलेगा उसके और उसके परिजनों के खिलाफ कार्यवाही की जाएगी। इस अभियान की सराहना के बाद भी नेताओं के विरोध के कारण उन्हें जनपद से जाना पड़ा था साथ ही उन्होंने गरुण वाहिनी की भी शुरुआत किया था। ऐसे पुलिस के अफसरों को प्रतापगढ़ के विधायक, सांसद और मंत्री रहने ही नहीं देते जो जनपद का दुर्भाग्य ही माना जाए।  


प्रस्तुति :- रवि प्रकाश सिंह "चन्दन"


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें