Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

बुधवार, 16 जून 2021

प्रतापगढ़ के शराबी पत्रकारों की कलई खुली,पत्रकार सुलभ श्रीवास्तव लालगंज में पत्रकार साथी के घर साथियों संग जमकर पी ली थी,शराब

पुलिस की अब तक की जाँच में मृतक पत्रकार सुलभ श्रीवास्तव के साथियों और परिजनों के लिए बुरी खबर,पुलिस की हर एंगिल की जाँच में घटना की जगह निकल रहा है,दुर्घटना...!!!

दूर-दूर तक शराब माफिया से नहीं निकल रहा है,मृतक पत्रकार की दुश्मनी !प्रतापगढ़ के कई शराब माफियाओं से मृतक पत्रकार सुलभ श्रीवास्तव व्हाट्सएप पर करते थे,घंटों बात और उनके बचाव में लिखी थी,खबर...!!! 

दुर्घटना स्थल का निरीक्षण करते SP प्रतापगढ़ आकाश तोमर... 

प्रतापगढ़ लालगंज में असलहा फैक्ट्री पकड़े जाने के बाद प्रतापगढ़ पुलिस की मीडिया सेल से पत्रकारों को सूचना मिली कि भारी तादात में लालगंज में अवैध असलहे की फैक्ट्री STF और जिले की पुलिस के संयुक्त प्रयास से पकड़ा गया है तो इलेक्ट्रानिक मीडिया के कई पत्रकार लालगंज की तरफ चल पड़े। कुछ चार पहिया वाहन से पहुँचे तो कुछ मोटरसाइकिल से पहुँचे थे। कवरेज करने के बाद पत्रकार सुलभ श्रीवास्तव अपने एक पत्रकार साथी के साथ लालगंज के एक पत्रकार साथी के घर पहुँचे और वहाँ शराब पार्टी हुई, जिसमें चखने की ब्यवस्था भी थी। जब चखने के साथ शराब मिलती है तो कहते हैं कि शराबियों के पैग अधिक हो जाते हैं। 

ADG प्रेम प्रकाश, DM डॉ नितिन बंसल और SP आकाश तोमर मंत्रणा करते हुए...

शराब पार्टी खत्म कर पुनः सुलभ श्रीवास्तव और उनके साथ गए पत्रकार साथी लालगंज कोतवाली आये और वहाँ एक साथी पत्रकार को लेकर जिला मुख्यालय के लिए दो अलग-अलग मोटरसाइकिल से रवाना हुए। सुलभ एवेंजर बाइक से अकेले निकले और उनके दो साथी पत्रकार एक साथ निकले। सगरा पहुँचकर तीनों पत्रकार साथियों में तय हुआ कि अब घर पर भोजन मिले या न मिले, इसलिए रास्ते में सुखपाल नगर के आगे कटरा मोड़ से पहले एक ढ़ाबे पर भोजन कर लेने की योजना बनी थी। वहाँ से भोजन के बाद ही लोग अपने-अपने घर के लिए प्रस्थान करते। ताकि घर पहुँचने पर घरवालों को कोई समस्या न उत्पन्न हो और सिर्फ विस्तर पर जाकर सोना ही शेष रह जाए। 

घटना स्थल का बारीकी से निरीक्षण करते SPआकाश तोमर...

साथी पत्रकार मनीष और रोहित के अनुसार सगरा और सुखपाल नगर के बीच की बात करें तो सुलभ श्रीवास्तव आगे आगे चल रहे थे और मनीष और रोहित पीछे-पीछे चल रहे थे। सुलभ श्रीवास्तव को सुखपाल नगर में गुटखा पान मसाला खाने की अमल हुई तो वह CHC सुखपाल नगर के पास बाइक रोक कर दो गुटखा पान मसाला लिया। एक खाया और दूसरा रख लिया। सूत्रों की बातों पर यकीन करें तो सुलभ श्रीवास्तव को दुकानदार ने थोड़ा दूर रहने के लिए कहा, क्योंकि सुलभ के मुँह से शराब की बू आ रही थी। इसीबीच साथी पत्रकार जो पीछे चल रहे थे वो आगे निकल गए और निर्धारित तय ढ़ाबे पर जाकर रुक गए। मनीष और रोहित हाथ मुँह धुले और दो लोंगो के लिए भोजन का ऑर्डर दिए। अक्सर दो लोगों के भोजन में तीन लोगों का भोजन हो जाता है मनीष और रोहित सुलभ के आने का इंतजार कर रहे थे। 


मृतक पत्रकार के परिजनों से मिले ADG प्रेम प्रकाश और SP आकाश तोमर...


अभी टेबल पर भोजन की थाली आई नहीं थी कि साथी पत्रकार रोहित सिंह पर सुलभ श्रीवास्तव के नम्बर से फोन आया। इधर से रोहित सिंह पूँछे कि सुलभ कहाँ रह गए ? अभी तक आये नहीं ! सीधे घर चले गये क्या ? उधर से फोन करने वाला बताया कि आप रोहित सिंह बोल रहे हो ? रोहित ने कहा कि हाँ, मैं रोहित सिंह बोल रहा हूँ। आप कौन ? क्योंकि मोबाइल नम्बर तो सुलभ श्रीवास्तव का था। फिर जवाब मिला कि आप लोग चाँद ब्रिक्स ईंट भट्ठे पर आइये सुलभ श्रीवास्तव का एक्सीडेंट हो गया है। दुर्घटना की खबर सुनकर साथी पत्रकार रोहित सिंह और मनीष ओझा दुर्घटना स्थल भागकर पहुँचे और सुलभ श्रीवास्तव को एम्बुलेंस की ब्यवस्था कर जिला अस्पताल लाये, जहाँ इलाज के दौरान चिकित्सकों  ने सुलभ को मृत घोषित कर दिया। 


पत्रकार सुलभ श्रीवास्तव की मौत की खबर सुनते ही जिले के पत्रकार साथियों सहित जनप्रतिनधियों एवं परिजनों की भारी भीड़ मेडिकल कालेज प्रतापगढ़ की इमरजेंसी की तरफ दौड़ पड़ी। घटना देख व सुनकर सबलोग दंग रह गए। इमरजेंसी में उपस्थित लोग दुर्घटना मानने से इंकार करते हुए हत्या की आशंका जताने लगे दूसरे दिन तीन चिकित्सकों के पैनल द्वारा वीडियोग्राफी के साथ पोस्टमार्टम हुआ। अपर पुलिस महानिदेशक, प्रयागराज जोन प्रयागराज, प्रेम प्रकाश भी प्रतापगढ़ सुलभ श्रीवास्तव के घर आ पहुँचे। प्रतापगढ़ पुलिस अधीक्षक आकाश तोमर छुट्टी से वापस आते ही घटना स्थल का सबसे पहले स्थनीय निरीक्षण किया और प्रथम दृष्टया अपर पुलिस अधीक्षक पूर्वी और सीओ सिटी की रिपोर्ट से संतुष्ट दिखे। जनमानस और सहानुभूति के आधार पर कोतवाली नगर में अज्ञात लोगों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया गया सुलभ श्रीवास्तव के परिजनों एवं उनके पत्रकार साथियों सहित जनप्रतिनिधियों के सम्मान में विवेचनाधिकारी के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक आकश तोमर कई टीम लगाकर जाँच कराने का प्रयास कर रहे हैं


विपक्षी पार्टियों के दबाव और जनमानस की संतुष्टि के लिए पत्रकार सुलभ श्रीवास्तव के मामले में एसपी आकाश तोमर स्वयं जाँच की प्रत्येक विन्दु पर नजर बनाये हुए हैं। पुलिस के उच्चाधिरियों द्वारा भी मामले की निगरानी की जा रही है। एएसपी पूर्वी सुरेंद्र द्विवेदी जाँच टीम का नेतृत्व कर रहे हैं जाँच टीम में सीओ सिटी, सीओ लालगंज, इंस्पेक्टर लालगंज, इंस्पेक्टर विनीत मिश्र, इंस्पेक्टर संजीव कटियार और स्वाट इंचार्ज शामिल किए गए। टीम हर पहलुओं की जांच कर रही है। अभी तक पुलिस ने सुलभ श्रीवास्तव के मामले में लालगंज में अवैध असलहा फैक्ट्री के पकड़े जाने के बाद जिला मुख्यालय से घटना को सुलभ श्रीवास्तव के साथ कवरेज हेतु गए 3 पत्रकारों का बयान भी ले लिया है। बयान में घटना से दो घंटे पहले 3 पत्रकारों द्वारा शराब पीने की बात सामने आई है पुलिस घटना से जुड़े हर पहलुओं पर गंभीरता से जांच कर रही है। लालगंज में सुलभ श्रीवास्तव के साथ साथी पत्रकार के घर पर चली शराब पार्टी में शामिल पत्रकार मनीष ओझा का पुलिस ने 161 का बयान ले लिया है पुलिस पत्रकार मनीष ओझा का अदालत में धारा-164 का बयान भी दर्ज करवा सकती है। 

1 टिप्पणी:

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें