Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

बुधवार, 28 अप्रैल 2021

सदर विधायक राजकुमार पाल भी हुए कोरोना संक्रमित,घर पर स्वयं को किया आइसोलेट

योगी सरकार अंत्येष्टि और अंतिम यात्रा में शामिल होने वालों की संख्या निर्धारित की है और प्रतापगढ़ के भाजपा जिलाध्यक्ष की माताजी की अंतिम यात्रा और अंत्येष्टि में शामिल हुए सैकड़ों लोगों ने कोरोना संक्रमण की बनी गाइडलाइन को हवाहवाई बताकर उसका उड़ाया,मजाक...!!!

कोरोना पॉजिटिव भाजपा जिलाध्यक्ष हरिओम मिश्र की माँ की अंतेष्टि में घाट पर बैठे प्रतापगढ़ सदर विधायक... 

सदर विधायक राजकुमार पाल भाजपा जिलाध्यक्ष हरिओम मिश्र के बगल बैठे हैं, जबकि हरिओम मिश्र जी कोरोना संक्रमित हैं। स्थिति यह हुई कि विधायक जी भी कोरोना संक्रमित हो गए हैं। विधायक जी स्वयं को कोरोना से संक्रमित किये ही अपने साथ अपने परिवार के लोगों की जान जोखिम में डाल दिए। पता नहीं समाज में कितने लोगों को विधायक जी कोरोना संक्रमण का प्रसाद वितरित किये होगें ? कह पाना मुश्किल होगा ! फिर ऐसे जनप्रतिनिधि को सदर क्षेत्र की जनता अपना आदर्श कैसे माने ? ये सदर विधानसभा के जनप्रतिनिधि हैं और जनता में ये कोरोना संक्रमण को फैलाने के लिए दृढ़ संकल्पित हैं

      सदर विधायक राजकुमार पाल की रिपोर्ट आई कोरोना पॉजिटिव...   

भाजपा जिलाध्यक्ष हरिओम मिश्र की माताजी की अंतेष्टि में जाना सदर विधायक राजकुमार पाल को मंहगा पड़ा । स्वयं के साथ-साथ घर वाले भी हुए कोरोना संक्रमित । अपने ही इलाज के लिए अपनी ही सरकार में विधायक को नहीं मिल रही है,स्वास्थ्य सेवाएं तो सदर विधान सभा क्षेत्र की जनता के प्रति अपने पद एवं कर्तब्य का कैसे करेंगे निर्वहन ? जब प्रतापगढ़ में सत्ताधारी दल के विधायक को होम आइसोलेशन की सुविधाएं नहीं मिल पा रही हैं तो आम जनता की क्या स्थिति होगी ? कोरोना संक्रमित होने के बाद घर पर स्वयं को किया आइसोलेट कर अब स्वास्थ्य विभाग से इलाज के लिए सदर विधायक राज कुमार पाल कर रहे हैं,फरियाद...!!!
            विधायक राजकुमार पाल के लिए ट्वीट करके की जारी है,स्वास्थ्य महकमें से फरियाद...

प्रतापगढ़ भाजपा जिलाध्यक्ष हरिओम मिश्र स्वयं कोरोना संक्रमित हुए तो जिला पंचायत सदस्य पद के चुनाव में मतदाताओं से 18 अप्रेल की शाम को अपील किया था कि वह कोरोना संक्रमित हैं। आप सभी देवतुल्य मतदाताओं से आग्रह है कि वह भाजपा के समर्थित उम्मीदवारों को अपना बहुमूल्य मतदान करके उन्हें अपना आशीर्वाद प्रदान करें
।इसीबीच भाजपा जिलाध्यक्ष हरिओम मिश्रा की माता का सृजन हॉस्पिटल इलाहाबाद में इलाज के दौरान निधन हो गया तो सोशल मीडिया पर शोक संवेदना देने की शुरुआत शुरू हुई। परन्तु जिम्मेदार भाजपा जिलाध्यक्ष हरिओम मिश्र ने एक बार यह अपील नहीं किया कि वह कोरोना संक्रमित हैं। ऐसे में सभी समर्थकों और शुभ चिंतकों से आग्रह है कि वह सरकार की बनाई गाइड लाइन का पालन करें। अंतिम यात्रा एवं घाट पर भीड़ न लगाएं।

बीजेपी जिलाध्यक्ष हरिओम मिश्र स्वयं संवेदनहीन बने रहे जिससे सैकड़ों लोगों में कोरोना का संक्रमण फैला और आज लोग खुद तो संक्रमित हुए ही साथ ही अपने परीवार के सभी सदस्यों के जीवन को खतरे में डालने का कार्य किया। कहीं न कहीं इसका जिम्मेवार भाजपा जिलाध्यक्ष भी हैं प्रयागराज के तेलियरगंज रसूलाबाद घाट पर दाह संस्कार हुआ था। भाजपा जिलाध्यक्ष की माँ की अंत्येष्टि में शामिल होने वाले महानुभावों ने कोरोना संक्रमण काल का ऐसा मजाक उड़ाया कि सारी गाइड लाइन ध्वस्त हो गई। जब सत्ताधारी नेताओं की यह दशा है तो वह आम जनता को अपनी सरकार से बनाये गए कानून का पालन करने के लिए किस मुँह से कहेगी ? भारतीय जनता पार्टी के जिलाध्यक्ष हरिओम मिश्र पहले से ही कोरोना संक्रमित हैं।

ऐसे में उनकी माताजी की अंतिम यात्रा और अंतेष्टि में शामिल होने वाले उनके समर्थकों और शुभचिंतकों को यह नहीं भूलना चाहिये था कि इस महामारी में वह स्वयं को और अपने परिवार को कोरोना वायरस संक्रमण को आमंत्रण देने का कार्य किये हैं। साथ ही महामारी अधिनियम की धज्जियां उड़ाई हैसत्ताधारी दल के नेताओं द्वारा जिस तरह अपनी ही सरकार द्वारा पारित नियम कानून को ठेंगा दिखाया जा रहा है। वह स्वस्थ लोकतंत्र के लिए ठीक नहीं। भाजपा जिलाध्यक्ष हरिओम मिश्र के पैतृक गाँव में भी लगातार समर्थकों और जिला प्रशासन से जुड़े अधिकारीगण और कर्मचारीगण भीड़ लेकर आ जा रहे हैं। वो कोरोना वायरस को दावत देने का कार्य कर रहे हैं

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें