Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

सोमवार, 26 अप्रैल 2021

चुटकेबाज़ जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी प्रतापगढ़ अशोक कुमार सिंह त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में भी हस्तलिखित आदेश कर रहे हैं,जारी

जिलास्तरीय अधिकारी के पास होते हैं,सारे संसाधन। कंप्यूटर कक्ष, ऑपरेटर, लैपटॉप, गोपनीय कक्ष जैसे आदि सुविधाओं से लैश BSA प्रतापगढ़ अशोक कुमार सिंह बिना पत्रांक और डिस्पैच के निर्गत करते हैं, हस्तलिखित विभागीय आदेश...!!!

BSAप्रतापगढ़ का चुटके वाला आदेश...
परदेश से आये परदेशियों ने त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में कोरोना संक्रमण को जंगल में आग की तरह फैलाने का किया कार्य। चुनावी ड्यूटी में लगे चुनावी कर्मी जो मतदेय स्थलों पर तैनात रहे। कोई अमिट स्याही लगा रहा था तो कोई मतदान करने के लिए बैलेट पेपर की औपचारिकता का निर्वहन कर रहा था तो कोई मतदान पेटिका यानि बैलेट बॉक्स में पड़ने वाले बैलेट पेपर को लोहे की पटरी से अंदर कर रहा था। सारे मतदाता चाहे वह कोरोना संक्रमित रहे हों या न रहे हों, परन्तु बैलेट पेपर पर अपने हाथ में पकड़ कर अपने मत की मुहर तो लगा ही रहे थे ऐसे में एक दूसरे के सम्पर्क में आने कर बाद से खूब जमकर फैला कोरोना संक्रमण अब जानलेवा बन चुका है।

अपने जिले प्रतापगढ़ में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव की ड्यूटी दूसरे चरण 19अप्रेल को करके कोरोना संक्रमण से संक्रिमत होकर घर में बैठे कई शिक्षक अपना कोरोना टेस्ट नहीं करा रहे हैं। यदि बिना जाँच कराये कोरोना संक्रिमत शिक्षक पुनः किसी दूसरे जनपद में त्रिस्तरीय पंचायत चुनावी ड्यूटी किये तो संक्रमण का खतरा और बढ़ेगा। क्योंकि जितने मतदाता बूथ पर मतदान के लिये आयेंगे वो संक्रमित हो जायेंगे। आखिर इस संकट का जिम्मेदार कौन होगा ? चूँकि अपने गृह जनपद प्रतापगढ़ में चुनावी ड्यूटी में कई शिक्षक कोरोना से संक्रिमत हो चुके हैं। कई शिक्षकों की जीवन लीला भी समाप्त हो चुकी है। फिर भी सिस्टम बैठे बड़े हाकिमों द्वारा इतना बड़ा रिस्क लिया जा रहा है।

त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में अब सुरक्षा के साथ-साथ शिक्षा विभाग के कर्मचारियों को देनी होगी दूसरे जनपदों में चुनावी ड्यूटी। जबकि कोरोना महामारी संक्रमण काल में दूसरे जनपदों में ड्यूटी करना बेहद खतरनाक है। सिस्टम में बैठे नीति निर्धारण कर्ताओं को कौन समझाये कि इस समय जीवन बचाना मुश्किल है। फिर किस संवेदनशीलता को आधार मानकर दूसरे जनपदों में चुनावी ड्यूटी करने के लिए शिक्षकों की ड्यूटी निर्धारित की गई है ? एक तरफ हाईकोर्ट सूबे में सम्पूर्ण लॉक डाउन करने पर उतारू होकर आदेश तक जारी कर दिया। अब जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी प्रतापगढ़ अशोक कुमार सिंह का आदेश किसी हिटलर और तुगलक के आदेश से कम भी नहीं है। सिस्टम में बैठे बड़े हाकिम नशे में लगते हैं जो ऐसा आदेश जारी कर देते हैं जिसमें जनहानि तक जाने की संभावना है

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें