Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

रविवार, 28 मार्च 2021

सदर विधायक के एक चाचा की हत्या के लिए सदर विधायक के दूसरे चाचा ने दी थी,सुपारी

एक हफ्ते पहले घर के पास दो शार्प सूटरों ने कनपटी पर गोली मारकर कर दी थी,हत्या...!!!

सुपारी देने वाला भाई ही बना था,वादी मुकदमा ! अब बन गया हत्या का षड्यंत्रकारी l जमीन की लालच में कराई भाई की हत्या और बड़ी चालाकी से बन गया वादी मुकदमा...!!!

हत्या के बाद चाचा के शव को कंधा देते सदर विधायक राजकुमार पाल... 

प्रतापगढ़ कोतवाली नगर के पूरे ईश्वरनाथ में सदर विधायक के घर के बगल उनके चचेरे चाचा को पिछले रविवार शाम को घर के पास ही दो अज्ञात बदमाशों ने गोली मारकर उनकी हत्या कर दी थी l उसी दिन पुलिस अधीक्षक प्रतापगढ़ के पद पर प्रभारी पुलिस अधीक्षक सचींद्र पटेल की तैनाती की गई थी और जब वो प्रतापगढ़ पुलिस अधीक्षक का पदभार ग्रहण कर रहे थे तभी यह हत्या बेखौफ बदमाशों द्वारा की गई और सुरक्षित शहर की तरफ से भाग निकले l घटना के 24 घंटे बाद मौके पर प्रेम प्रकाश, एडीजी जोन प्रयागराज पहुँचे थे। मौके पर पहुँचकर घटना स्थल का निरीक्षण किया था l सीओ सिटी अभय पांडये को सख्त निर्देश दिए थे l सीओ सिटी और स्वाट टीम सहित कोतवाली नगर की पुलिस रात भर ताबड़तोड़ दबिश देती रही l सूत्रों के अनुसार विधायक के चाचा की हत्या में शामिल शूटरों को पुलिस पकड़ चुकी है l आज हो सकता है,खुलासा l

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से सुरक्षा की गुहार वाला विधायक का पत्र...

सूत्रों की माने तो पुलिस को विधायक के चाचा की हत्या में शामिल उसके भाई पर शुरू से शक था,परन्तु मामला हाई प्रोफाइल था l इसलिए पुलिस भी बिना ठोस सबूत और साक्ष्य एकत्र किये घटना का अनावरण नहीं करना चाहती थी l घटना के बाद सदर विधायक राजकुमार पाल जिला अस्पताल पहुँचे थे और खुलासा करने के लिए उच्चाधिकारियों से वार्ता भी की थी l विधायक को अपने चाचा के हत्यारों से अधिक अपनी सुरक्षा का भय सताने लगा था l अपने चाचा की हत्या की आड़ में अपनी सुरक्षा का पुख्ता इंतजाम करने सदर विधायक राजकुमार पाल जी उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी तक की परिक्रमा लगा आये l सूत्रों का तो यहाँ तक कहना है कि विधायक राजकुमार पाल शस्त्र लाइसेंस लेने की फ़िराक में हैं l विधायक के चाचा की हत्या विधायक के दूसरे चाचा ने सुपारी देकर कराई है l इस बात की चर्चा घटना के दिन से ही शुरू हो चुकी थी,परन्तु सामने कहने की हिम्मत किसी में नहीं थी l

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें