Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

गुरुवार, 18 फ़रवरी 2021

राजधानी लखनऊ में दबिश देने गए पुलिसकर्मियों की टीम पर हमला, कई पुलिसकर्मी घायल

लखनऊ में होते-होते बचा बिकरू कांड, दबिश देने गई पुलिस टीम पर हमला, दो दारोगा समेत पांच पुलिसकर्मी घायल...

लगातार पुलिस वांछित अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए जब जाती है तो बिना पूर्ण तैयारी किये ही चली जाती है क्या जो खुद ही बंधक बन जाती है और खुद ही पिट कर चली आती है...???

बदमाशों के गिरफ्त में उत्तर प्रदेश की पुलिस...

एससी-एसटी एक्ट के आरोपित वारंटी दो भाइयों की गिरफ्तारी के लिए गई पुलिस टीम पर उसके घर वालों और मोहल्ले वालों ने हमला बोल दिया। जमकर पथराव किया और लाठी-डंडे चलाए। हमले के दौरान दो दारोगाओं को एक घंटे बंधक बनाए रखा। वारंटियों को पकड़ने सुबह छह बजे उमरावल गांव पहुंची पुलिस टीम पर घात लगाए बैठे आरोपियों ने हमला बोल दिया,जिसमें दो उप निरीक्षक समेत पांच पुलिसकर्मी घायल हो गए। घटना की सूचना मिलते ही बड़ी संख्या में पुलिस बल मौके पर पहुंच गया। पुलिस ने एक महिला समेत तीन हमलावरों को दबोच लिया जबकि चार मौके से भाग गए।


उत्तर प्रदेश में सख्त कार्रवाई के बाद भी पुलिस टीम पर होने वाले हमले का सिलसिला रूक नही रहा है। प्रतापगढ़ के बाद अब ताजा मामला राजधानी लखनऊ का है। दबिश देने गई पुलिसकर्मियों की टीम पर हमला हुआ है।एससी-एसटी एक्ट के आरोपी दो वारंटी भाइयों को गिरफ्तार करने के लिए गई हुई पुलिसकर्मियों की टीम पर आरोपी के घर वाले और मोहल्ले वालों ने हमला बोल दिया। दो उपनिरीक्षकों को लोगों ने बंधक बना लिया था। कई पुलिसकर्मियों को मारपीट में चोट भी आई है।


लखनऊ के उमरावल गांव के निवासी रजनीश मौर्या उर्फ कृष्णा और उसके भाई अंकित के खिलाफ वर्ष 2014 में एससी-एसटी एक्ट सहित अन्य धाराओं में मुकदमा पंजीकृत हुआ था। काफी दिनों से ये लोग पेशी पर नहीं जा रहे थे और पेशी की तारीख निकल रही थी। न्यायालय ने इनके खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया हुआ था।न्यायालय के आदेश का पालन करते हुए माल थाने के उप निरीक्षक प्रेम चंद्र यादव, उप निरीक्षक नीरज, सिपाही उमेश, विवेक और अजय यादव आरोपी के घर दबिश देने गए हुए थे। 


पुलिसकर्मियों की टीम रजनीश मौर्या और उनके भाई को गिरफ्तार करने के लिए दबिश देने के लिए दाखिल हो ही रही थी कि तभी अचानक उसके परिजनों और मोहल्ले वालों ने लाठी डंडों के साथ पुलिसकर्मियों की टीम को घेर लिया। पुलिसकर्मियों की टीम पर परिजनों ने पहले लाठी डंडे से हमला बोला, फिर पथराव कर दिया। हमलावरों ने उप निरीक्षक प्रेम चंद्र यादव और नीरज को बंधक बना लिया। पुलिसकर्मियों की टीम पर हमले की सूचना मिलने पर पुलिस अधिकारियों में हडकंप मच गया।थाना प्रभारी माल राम सिंह, एसएसपी ग्रामीण सहित भारी पुलिस बल लेकर तुरंत मौके पर पहुंचे। पुलिस ने बंधक बनाए गए उप निरीक्षको को छुड़ाया और तीन हमलावरों को गिरफ्तार किया और अन्य आरोपियों की धरपकड़ के लिए तलाश शुरू कर दी। हमले के दौरान कुछ पुलिसकर्मी भागे तो उन पर पथराव कर दिया। वहीं, हमलावरों ने दारोगा प्रेम चंद्र यादव और नीरज को बंधक बना लिया।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें