Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

रविवार, 21 फ़रवरी 2021

दस वर्षीय मासूम दीपक का सिर दबोचकर दिलशाद ने नाले के पानी में तब तक डुबाये रखा जब तक कि उसकी सांसे चलती रही

नगर कोतवाली की मान्यवर कांशीराम कालोनी में आपसी विवाद में दस वर्षीय मासूम की हुई हत्या की घटना का पुलिस ने किया खुलासा...

दस वर्षीय मृतक मासूम दीपक (फाइल फोटो) 
प्रतापगढ़। उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ शहर में सरोज तिराहे के पास काशीराम कालोनी में हुई दस वर्षीय मासूम दीपक की हत्या मामले का खुलासा पुलिस ने कर दिया है। पुलिस अधीक्षक शिवहरि मीना ने मीडिया को बताया कि दीपक की हत्या दिलशाद ने नाले के पानी में डुबोकर किया था। इस मामले में तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है।

नगर क्षेत्र में हुई 10वर्षीय मासूम दीपक की हत्या के मामले का खुलासा करते SPप्रतापगढ़...

गिरफ्तार अभियुक्तों का विवरण...

1- दिलशाद पुत्र दिलदार निवासी काशीराम कालोनी, सरोज चौराहा थाना कोतवाली नगर जनपद प्रतापगढ़।
2- अजमल पुत्र अमजद निवासी काशीराम कालोनी, सरोज चौराहा थाना कोतवाली नगर जनपद प्रतापगढ़।
3- एजाज अहमद उर्फ सिकन्दर पुत्र असफाक अहमद निवासी काशीराम कालोनी, सरोज चौराहा थाना कोतवाली नगर जनपद प्रतापगढ़।

घटना का विवरण...

जनपद प्रतापगढ़ के थाना कोतवाली नगर में श्यामू पुत्र अशर्फी लाल निवासी काशीराम कालोनी, सरोज चौराहा के लड़के दीपक के गुम हो जाने के सम्बन्ध में मु.अ.सं. 157/21 धारा 363, 506 भादवि का अभियोग पंजीकृत किया गया था। गुमशुदा की तलाश की जा रही थी। 20 फरवरी 2021 को सुबह उसका शव बरामद हुआ था। अभियोग में धारा 302, 201 भादवि की बृद्धि की गयी।

पूछताछ का विवरण...

वादी की तहरीर के आधार पर नामजद अभियुक्तों को हिरासत में लेकर पूछतांछ की गयी तो उन्होंने बताया कि मेरे भाई इरशाद उम्र 07 वर्ष और दीपक दोनों, दीपक के घर के बाहर खेल रहे थे। खेल-खेल में ही इरशाद ने एक पत्थर मारा जिससे दीपक के घर का शीशा टूट गया। पत्थर मारने पर दीपक के पिता अशर्फी नाराज हो गये और दो थप्पड़ इरशाद को मार दिया। इसके बाद इरशाद को पकड़कर उसके घर लाये। इरशाद की मां ने भी इरशाद को मारा तथा 200/-रुपये भी अशर्फी लाल को दिया कि शीशा लगवा लेना। अशर्फी उसके घर पर गाली-गलौज करके अपने घर चला गया।

इस तरह दिया घटना को अंजाम...

दिलशाद व अजमल कहीं जा रहे थे तभी इन्हें दीपक झाड़ी में बेर खाते हुए दिखा। दिलशाद ने अपने मामा सिकन्दर को फोन लगाया और कहा कि मामा आ जाओ, तब सिकन्दर वहां आ गया। झाड़ी के पास बेर खा रहे दीपक को दिलशाद ने दो थप्पड़ मारा तो वह ईट पर गिर गया, जिससे उसको चोट आयी और वह दिलशाद को गाली देने लगा। इस पर दिलशाद ने दीपक की गर्दन पकड़कर पानी में डूबो दिया और तब तक डूबाये रहा जब तक की उसकी मृत्यु नहीं हो गयी। इसकी पुष्टि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में भी हुई है।

घटना के समय सिकन्दर के द्वारा ही इनको बताया गया कि आप लोग इस घटना को स्वीकार न करना और आप लोग कहीं मत भागना, जिससे पुलिस को किसी तरह का कोई शक न हो सके। विवेचना के क्रम में प्रकाश में आये तीसरे अभियुक्त एजाज उर्फ सिकन्दर को थाना क्षेत्र के सगरा ढलान के पास से 21 फरवरी को सुबह के समय लगभग 10:25 बजे गिरफ्तार किया गया।

पुलिस टीम को एसपी ने दिया पुरस्कार...

पुलिस अधीक्षक शिवहरि मीना द्वारा इस घटना के अनावारण करने वाली टीम अभय कुमार पाण्डेय क्षेत्राधिकारी नगर, रवीन्द्र नाथ राय प्रभारी निरीक्षक कोतवाली नगर मय हमराह तथा स्वाट टीम, प्रतापगढ़ को संयुक्त रुप से 10000/- रु. से पुरस्कृत किया गया।

पुलिस टीम...

प्रभारी निरीक्षक रवीन्द्र नाथ राय, वरिष्ठ उप निरीक्षक कमलेश कुमार पाण्डेय, उप निरीक्षक शनिकुमार, उप निरीक्षक विवेक कुमार मिश्रा, मुख्य आरक्षी रघुवीर दास, आरक्षी राहुल शर्मा व आरक्षी भूपेन्द्र गुर्जर थाना कोतवाली नगर जनपद प्रतापगढ़।

1 टिप्पणी:

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें