Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

मंगलवार, 7 जुलाई 2020

बलिया में तीस वर्षीय पीसीएस अधिकारी मणिमंजरी ने फांसी लगाकर दे दी,जान

मनियर नगर पंचायत में अधिशासी अधिकारी के पद पर तैनात थी,मणि मंजरी राय 


अधिशासी अधिकारी मंजरी राय...(फाइल फोटो)
उत्तर प्रदेश में बलिया जिले के कोतवाली इलाके में पीसीएस महिला अफसर मंजरी राय ने 6 जुलाई, 2020 सोमवार देर रात पंखे के हुक से फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। महिला अफसर आवास विकास कॉलोनी में रहती थीं। वह यहां मनिया नगर पंचायत में अधिशासी अधिकारी के तौर पर तैनाती थी। उन्होंने 2 साल पहले मनिया नगर पंचायत में कार्यभार ग्रहण किया था। पुलिस का कहना है कि अधिशासी अधिकारी ने फांसी क्यों लगाई, इसकी वजह का पता नहीं चल सका है। मामले की जांच की जा रही है। गाजीपुर के भांवरकोल की रहने वाली 30 वर्षीय मणिमंजरी राय की तैनाती करीब दो साल पहले मनियर नगर पंचायत के ईओ पद पर हुई थी। वह जिला मुख्यालय पर आवास विकास कॉलोनी में किराये के मकान में रहती थी और यहीं से मनियर आना-जाना था। 


अधिशासी अधिकारी के शव के पास एक सुसाइड नोट मिला है। इसमें लिखा है- मैं दिल्ली-मुंबई से बचकर बलिया में चली आई। लेकिन यहां मुझे रणनीति के तहत फंसाया गया है। इससे मैं काफी दुखी हूं। लिहाजा मेरे पास आत्महत्या करने के लिए अलावा कोई विकल्प नहीं है। हो सके तो मुझे माफ कर दीजिएगा। पुलिस सूत्रों के मुताबिक अधिशासी अधिकारी को किसने जान-बूझकर फंसाया, इसमें कौन-कौन लोग हैं, यह जांच का विषय है..."
कई फ्लैट वाले बड़े मकान में तीसरे तल पर अधिशासी अधिकारी मणि मंजरी राय का फ्लैट था। सोमवार को वह घर मे अकेले ही थी। उनके फ्लैट के बगल वाले फ्लैट में रहने वाली एक महिला को ईओ के कमरे की खिड़की के शीशे से कुछ हिलता हुआ दिखाई दिया। आसपास के लोगों को किसी अनहोनी की आशंका हुई। उसके बाद किसी ने डायल 112 और पुलिस को इसकी सूचना दी। दरवाजा तोड़कर पुलिस पहुंची तो बेड के ऊपर ही फंदे पर मणि मंजरी राय की लाश लटक रही थी। पुलिस अधीक्षक ने तत्काल फॉरेंसिक टीम बुलाई। सूचना मिलते ही डीएम श्रीहरि प्रताप शाही व एसपी देवेन्द्र नाथ के साथ ही फोरेंसिक टीम पहुंच गई। पुलिस को मौके से सुसाइड नोट भी मिला है। अब पुलिस इसी सुसाइड नोट और अधिशासी अधिकारी की कॉल डिटेल के जरिए आत्महत्या की वजह की जांच में जुट गई है।

टीम ने पूरी जांच पड़ताल करने के बाद शव को नीचे उतारा। देर रात तक डीएम-एसपी मौके पर थे। वहीं, इसकी सूचना मिलते ही संयुक्त मजिस्ट्रेट विपिन कुमार जैन व अन्नपूर्णा गर्व के अलावा सदर तहसीलदार शिवसागर दुबे, नायब तहसीलदार जया सिंह, ईओ बांसडीह सीमा राय, ईओ सिकंदरपुर संजय राव समेत अन्य अधिकारी मौके पर पहुंच गए थे। सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को नीचे उतरवाया और कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। घटना की जानकारी मिलते ही एसपी देवेंद्र नाथ, अपर पुलिस अधीक्षक संजय कुमार, सीओ सिटी अरुण कुमार सिंह, कोतवाल विपिन सिंह समेत उच्चाधिकारी मौके पर पहुंच गए। आत्महत्या के लिए किसने रणनीति के तहत उनको फंसाया, इसका पता लगाने में पुलिस अभी जुटी है।  

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें