Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

शुक्रवार, 10 जुलाई 2020

मारा गया मोस्ट वांटेड दुर्दांत अपराधी पाँच लाख इनामिया विकास दुबे कानपुर वाला

विकास दुबे एनकाउंटर में ढेर, सीने और कमर में लगींं चार गोलियां...

पुलिस मुठभेड़ के बाद मोस्ट वांटेड विकास दुबे को अस्पताल में किया गया मृत घोषित...
कानपुर के बिकरू गांव में सीओ सहित आठ पुलिस वालों की हत्या करने वाले पांच लाख का इनामी विकास दुबे एनकाउंटर में ढेर हो गया है। विकास दुबे को सडक मार्ग से कानपुर लाने के लिए एसटीएफ उसे अपनी गाड़ी से ला रही थी। विकास दुबे को कानपुर ला रही एसटीएफ की दो गाड़ियां पलट गई हैं। जानकारी के अनुसार सचेंडी थाने के एक किलोमीटर आगे बर्रा थाने के पास हाईवे पर भारी बारिश के बीच गाड़ी पलट हई।शातिर अपराधी विकास दुबे पर पुलिस ने आरोप लगाया है कि विकास दुबे गाड़ी पलटने के बाद विकास दुबे हथियार छीनकर भागने की कोशिश की। जिसके बाद पुलिस ने उसे मुठभेड़ में मार गिराया है। कल ही विकास दुबे उज्जैन के महाकाल मंदिर परिसर से गिरफ्तार किया गया था। घायल पुलिसकर्मियों को हैलट भेजा गया है। 

"गाड़ी की दशा देखने से नहीं लगता कि गाड़ी चलते वक्त  हाई-वे पर पलट गई होगी,बल्कि खड़ी गाड़ी को पुलिस के जवान पलटाकर मोस्ट वांटेड विकास को मुठभेड़ में मार गिराने की कहानी गढ़े हैं,ऐसी गाड़ी के पलटने की दशा देखकर उसमें कहानी गढ़ने की बू आ रही है..."
उत्तर प्रदेश की नाक में दम करने वाला दुर्दांत पाँच लाख का इनामिया बदमाश  2जुलाई की रात से पुलिस की नाक में दम करने वाला मोस्ट वांटेड अपराधी विकास दुबे को उत्तर प्रदेश की पुलिस ने मुठभेड़ में मार गिराया है। मारा गया कुख्यात अपराधी विकास दुबे कानपुर के शिवली बिकरु का निवासी है। विकास दुबे कल बड़े शातिराना अंदाज में विकास दुबे उज्जैन में महाकाल के मंदिर में दर्शन करने पहुँचा और वीवीआईपी रसीद कटाया तो मंदिर के सुरक्षा गार्डों को शंका हुई तो सुरक्षा गार्डों ने महाकाल पुलिस चौकी पर इसकी सूचना दी और उसके बाद उज्जैन की पुलिस आकर विकास दुबे को गिरफ्तार करती है। फिर सुरक्षित ठिकाने की तरफ उसे ले जाती है। फिर पाँच लाख के इनामिया गैंगेस्टर बदमाश विकास दुबे की गिरफ्तारी की अधिकृत सूचना मध्य प्रदेश के गृह मंत्री द्वारा आकर मीडिया को दी जाती है। थोड़ी ही देर में गया मोस्ट वांटेड दुर्दांत अपराधी पाँच लाख इनामिया विकास दुबे कानपुर वाला

"विकास दुबे को इंदौर से कानपुर लाते समय कानपुर के पास वही गाड़ी पलटी, जिसमें विकास दुबे सवार था। विकास दुबे गाड़ी पलटने के बाद पुलिस वालों का असलहा लेकर भागना चाहा जिससे पुलिस और विकास दुबे में मुठभेड़ हुई। विकास दुबे को पुलिस वालों ने ढेर कर दिया। ऐसा पुलिस की तरफ से बताया जा रहा है। विकास को  सिर और सीने में  चोट आई है। इस कथित भुठभेड़ में पुलिस वालों को भी चोटें आने की सूचना है। सभी घायलों को अस्पताल ले जाया गया। जहाँ चिकित्सकों ने मोस्ट वांटेड विकास दुबे को मृत घोषत कर दिया। खाकी और खादी दोनों नही चाहते कि विकास दुबे सही सलामत जेल या कोर्ट पहुँचे। अब खाकी में छुपे भ्रष्ट भेड़िए और देश को बर्बाद करने में वाले नेता फिलहाल एक बार फिर से बच गए...."

                यही वो स्थल है जहाँ मोस्ट वांटेड विकास दुबे की गाड़ी पलट गई और पुलिस से उसकी मुठभेड़ हुई....


इसे इत्तेफाक कहें या संयोग कि पुलिस की वही गाड़ी हाई-वे पर पलट गई, जिसमें मोस्ट वांटेड विकास दुबे सवार था। गाड़ी पलटती है और कुख्यात अपराधी विकास दुबे पुलिस वालों के असलहे छीनकर भागता है और पुलिस वालों पर फायर करने लगता है। ऐसे कहानी सिर्फ फिल्मों में पर्दे पर देखने को मिलती थी, जिसकी स्क्रिप्ट पहले ही लिखी होती है। परन्तु आज उत्तर प्रदेश की जाबाज़ पुलिस के जवानों ने वो चलचित्र असल में दिखाने का प्रयास किया है। हालांकि पुलिस की इस कहानी पर किसी को सहसा विश्वास नहीं हो रहा है। 8 दिनों से पुलिस की नाक में दम करने वाला मोस्ट वांटेड अपराधी विकास दुबे को उत्तर प्रदेश की पुलिस ने मुठभेड़ में मार गिराया है। मारा गया मोस्ट वांटेड दुर्दांत अपराधी पाँच लाख इनामिया विकास दुबे कानपुर वाला है। 


"पुलिस मुठभेड़ पर सवाल उठता है कि आखिर विकास को भागना ही था तो वह स्वयं चलकर उज्जैन के महाकाल मंदिर में आत्म समर्पण ही क्यों करता ? दूसरा बड़ा सवाल कि इतनी पुलिस की संख्या के बावजूद निहत्था विकास दुबे की गाड़ी पलटने के बाद पुलिस के जवान से हथियार छीनकर भागने लगता है। जिसके बाद पुलिस उसे छलनी कर देती है। क्या ऐसे ही पुलिस मुठभेड़ होती है ? पुलिस के 50से अधिक जवान 2 जुलाई को बिकरू विकास को पकड़ने गए थे। नतीजा डीएसपी सहित 8जवान शहीद हो गए और 7जवान घायल हो गए। बाकी बचे गद्दार जवान अपनी जान बचाकर भाग खड़े हुए। वो सही वाली बदमाश और पुलिस की मुठभेड़ थी। बाकी तो विकास दुबे के हश्र की कहानी लोग जान चुके थे और विकास दुबे भी अपने जीवन की स्थिति का आंकलन कर चुका था..."

        पुलिस मुठभेड़ के बाद मोस्ट वांटेड विकास दुबे को अस्पताल ले जाते हुए...

इंदौर और कानपुर के रास्ते में पहले गाड़ी पलटने की घटना फिर पुलिस मुठभेड़ की घटना में विकास को उत्तर प्रदेश की पुलिस ने मार गिराया और 8 जवानों की शहादत का लिया गया बदला। फिलहाल पुलिस ने विकास दुबे के साथ हुई पुलिस मुठभेड़ को काफी देर तक छिपाए रखा। हालांकि कुछ देर बाद अस्पताल से मोस्ट वांटेड विकास के मृत जाने की पुष्टि के बाद पुलिस ने विकास के साथ मुठभेड़ में मार गिराने की घटना को स्वीकार कर लिया और मोस्ट वांटेड विकास दुबे के मरने की पुष्टि भी कर दी। फिलहाल अन्य जानकारी देने से मना कर दिया।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें