Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

बुधवार, 1 जुलाई 2020

फतनपुर में एटीएम लूट के प्रयास में हुई फायरिंग की घटना के दूसरे दिन ही मुख्य अभियुक्त गिरफ्तार, घटना मे प्रयुक्त, अवैध पिस्टल, कारतूस व मोटर साइकिल बरामद।

पुलिस को घटनाओं के क्रम में अपराधियों को दबोचने में सफलता तो मिल रही है,परन्तु अपराध पर नहीं लगाया जा सका नियंत्रण...

 फतनपुर में ATM लूट के प्रयास में फायरिंग की घटना में दूसरे ही दिन पुलिस को मिली कामयाबी...
पुलिस अधीक्षक प्रतापगढ़ अभिषेक सिंह के कुशल निर्देशन में आज जनपद के स्वाट टीम व थाना फतनपुर व थाना रानीगंज पुलिस को कल सुबह फतनपुर में एटीएम लूट के प्रयास में हुई फायरिंग की घटना में संलिप्त मुख्य अभियुक्त को गिरफ्तार कर घटना में प्रयुक्त, अवैध पिस्टल व मोटर साइकिल, बरामद करने में उल्लेखनीय सफलता प्राप्त हुई। 
गिरफ्तार अभियुक्त सुशील कुमार सिंघानिया पुत्र बनवारी लाल निवासी सण्डौरा, थाना रानीगंज, जनपद प्रतापगढ़ है जबकि फरार अभियुक्त प्रदीप कुमार पुत्र बलदेव निवासी सण्डौरा, थाना रानीगंज, जनपद प्रतापगढ़ है। 

प्रभारी निरीक्षक अजय सिंह मय स्वाट टीम जनपद प्रतापगढ़, प्रभारी निरीक्षक गणेश प्रसाद सिंह मय हमराह थाना फतनपुर जनपद प्रतापगढ़ एवं थानाध्यक्ष उमेश सिंह मय हमराह थाना रानीगंज जनपद प्रतापगढ़ द्वारा अभियुक्त सुशील कुमार सिंघानिया को सण्डौरा से पहले नहर पुलिया के पास थाना क्षेत्र रानीगंज में गिरफ्तार किया गया। गिरफ्तार अभियुक्त सुशील कुमार सिंघानिया के पास से एक अदद पिस्टल .32 बोर जो घटना में प्रयुक्त की गई थी 2 अदद जिन्दा व 1 अदद खोखा कारतूस .32 एवं एक अदद मोटर साइकिल सुपर स्प्लेण्डर रंग काला, बिना नम्बर  घटना में प्रयुक्त) एक अदद मोबाइल फोन, 3 अदद एटीएम कार्ड (एक एचडीएफसी बैंक का, एक बडौदा उ0प्र0 ग्रा0 बैंक का, एक उत्कर्ष स्माल फाइनेन्स बैंक का जो फरार अभियुक्त प्रदीप का है)। साथ ही 740/- रू0 नकद पुलिस ने बरामद किया। 

जनपद प्रतागपढ़ के थानाक्षेत्र फतनपुर के पटहटिया कला में एच0एल0 चौरसिया (इण्डियन आयल) पेट्रोल पम्प जहां पर हिटाची कम्पनी का एक प्राइवेट एटीएम लगा है। वहां पर कल दिनांक 30.06.2020 को प्रातः करीब 06:15 बजे पेट्रोल पम्प मालिक संतोष चौरसिया से एटीएम में पैसा डालते समय 02 अज्ञात बदमाशों द्वारा लूट का प्रयास किया गया। संतोष चौरसिया के विरोध करने पर उन बदमाशों द्वारा उन्हें गोली मार दी गयी। इस अफरा-तफरी में बदमाश बिना पैसा लिए ही भागने लगे, तभी उसी समय पेट्रोल पम्प पर तेल भराने आये रमाकान्त यादव पुत्र स्व0 हीरा लाल यादव नि0 कैली डीह थाना फतनपुर जनपद प्रतापगढ़ ने उन बदमाशों को रोकने का प्रयास किया। इस पर उन बदमाशों द्वारा रमाकान्त यादव को भी गोली मार दी गयी और बदमाश भाग निकले। उक्त प्रकरण के सम्बन्ध में संतोष चौरसिया के भाई वादी विजय कुमार चौरसिया की तहरीर पर थाना स्थानीय पर मु0अ0सं0- 115/20 धारा 393, 307 भादवि बनाम दो अज्ञात बदमाश, पंजीकृत किया गया।  

पुलिस अधीक्षक प्रतापगढ़ अभिषेक सिंह द्वारा उक्त घटना के सफल अनावरण व सम्बन्धित अभियुक्तों की गिरफ्तारी हेतु दिये गये कड़े निर्देश के क्रम में अपर पुलिस अधीक्षक पूर्वी सुरेन्द्र प्रसाद द्विवेदी व क्षेत्राधिकारी रानीगंज अतुल अंजान त्रिपाठी के निकट पर्यवेक्षण में स्वाट टीम प्रतापगढ़ व थाना फतनपुर के प्रभारी निरीक्षक गनेश प्रसाद सिंह मय हमराह द्वारा उक्त प्रकरण के सम्बन्ध में सीसीटीवी फुटेज में आये अभियुक्त के हुलिया व अन्य जानकारी को मुखबिरों के साथ साझा करते हुये घटना के अनावरण का प्रयास किया जा रहा था। इसी क्रम में आज दिनांक 01.07.2020 को उक्त घटना के सम्बन्ध में मुखबिर खास द्वारा बताया गया कि सीसीटीवी फुटेज में दिखाई दे रहे अभियुक्त के हुलिये जैसे एक व्यक्ति के बारे में ज्ञात हुआ है जिसका नाम सुशील है जो सण्डौरा का निवासी है सुशील द्वारा अपने साथियों से यह बात करते हुये सुना गया है कि आज तो घटना असफल हो गई। मुखबिर ने बताया कि सुशील आज सण्डौरा से पहले नहर पुलिया के रास्ते से होकर किसी के साथ घटना में प्रयुक्त मोटर साइकिल से जाने वाला है, यदि जल्दी किया जाय तो पकड़ा जा सकता है सुशील अपने पास असलहा रखता है और किसी पर चलाने में नही कतराता है, उसे सावधानी पूर्वक पकड़ियेगा।

मुखबिर की इस सूचना पर पुलिस टीम द्वारा मुखबिर को साथ लेकर उसके बताये गये स्थान सण्डौरा से पहले नहर पुलिया पर गाड़ा बन्दी कर अभियुक्तों के आने का इन्तजार किया जाने लगा। थोड़ी देर बाद एक मोटर साइकिल पर सवार दो व्यक्ति आते दिखाई दिये, दूर से ही देखकर मुखबिर ने बताया कि पीछे बैठा व्यक्ति सुशील है। इस पर पुलिस टीम द्वारा अभियुक्तों के पास आने पर उन्हे का रोकने का प्रयास किया गया जिस पर पीछे बैठे अभियुक्त सुशील द्वारा पुलिस टीम पर पिस्टल से फायर कर दिया गया जिसमें पुलिस टीम बाल-बाल बची, इसी बीच पुलिस टीम द्वारा साहस का परिचय देते हुये आगे बढ़कर अभियुक्त सुशील की पिस्टल छीन ली गई, इसी अफरा-तफरी में मोटर साइकिल गिर पड़ी तथा आगे चला रहा अभियुक्त भौगोलिक स्थिति का फायदा उठाकर भाग निकला। पुलिस टीम द्वारा अभियुक्त सुशील को हिरासत में ले लिया गया, मौके पर उक्त मोटर साइकिल के अलावा एक उत्कार्ष स्माल फाइनेंस बैंक का एटीम कार्ड बरामद हुआ जो प्रदीप के नाम का था।  

पूछताछ का विवरण-

गिरफ्तार अभियुक्त सुशील कुमार ने पूछताछ में बताया कि साहब मैने आज जब पुलिस को देखा तभी समझ गया कि आप लोग जो कल दिनांक 30.06.2020 को प्रातः करीब 06:00 बजे पटहटिया कला के पेट्रोल पम्प/एटीएम पर हुई घटना के सम्बन्ध में मुझे पकड़ना चाह रहे हैं, इसी कारण मैने पुलिस टीम पर फायरिंग कर भागने का प्रयास किया। पुलिस टीम द्वारा कड़ाई से पूरे घटनाक्रम के सम्बन्ध में पूछताछ पर अभियुक्त सुशील द्वारा बताया गया कि मेरे पास एक मैजिक टैम्पो है जिससे मैं ढ़ुलाई का कार्य करता था। इसी साल जनवरी माह में मैने अपनी टैम्पो में गन्ना के जूस की मशीन खरीद कर लगवाई है, मशीन चलाने के लिये बैटरी, पैनल, इन्वर्टर आदि 60,000/- रू0 कीमत के मिश्रा जी से उधार लिया था और दो महिला समूह से क्रमशः 30,000/- रू0 व 35,000/- रू0 उधार लिया था, इसके अलावा गांव के प्रेमचन्द्र से 40 हजार रू0 कर्जा लिया। फिर मैने प्रयागराज से 19 हजार रू0 का गन्ना उधार लिया। परन्तु लाकडाउन की वजह से धन्धा नही चल पाया और कर्जा देने वाले लोग लगातार तकादा करने लगे। 

इसी महीने की 20 तारीख को जब मै अपनी दादी की तेरहवीं का न्योता देने सण्डौरा से पडवा जा रहा था तो रास्ते में पड़ने वाले एचएल चैरसिया पेट्रोल पम्प पर लगे एटीएम से 500/- रू0 निकाला, मेरे पैसा निकालने के बाद तुरन्त वहां एक व्यक्ति (संतोष चैरसिया) जिसको मै नही जानता पालीथीन में पैसा लेकर आये और पैसा एटीएम में डालने लगे, उनका पैसा देखकर मेरी नीयत खराब हो गई। उसके बाद से मैने तीन बार उस एटीएम की रैकी की और देखा कि वह व्यक्ति प्रतिदिन लगभग उसी समय बिना किसी सुरक्षा के उस एटीएम में पैसे डालने आता है। मैने अपने चाचा के लड़के प्रदीप के साथ मिलकर उस व्यक्ति के पैसों को लूटने की योजना बनाई। मै कल दिनांक 30.06.2020 को सुबह 06:00 बजे प्रदीप के साथ एटीएम पर पहुंच गया, मेरे पास .32 बोर की पिस्टल थी जिसे मैने अमेठी के एक व्यक्ति गोलू सिंह से लिया था। 

एटीएम के अन्दर जाकर मै पैसे निकालने का नाटक करने लगा और उस व्यक्ति का इन्तजार करने लगा कि कब पैसा डालने आयेगा। थोड़ी देर बाद वह व्यक्ति पैसा डालने एटीएम में आया, तो मैने उससे पैसा छीनने का प्रयास किया तो उसके विरोध करने पर मैने उसके बांह में गोली मारी कि पैसा उसके हाथ से छूट जायेगा, पर वह अपना पैसा लेकर भागने लगा। पैसा छीनने में असफल होने पर मै, प्रदीप जो कि पहले से ही मोटर साइकिल स्टार्ट रखा था के साथ भागने लगा तभी सामने से एक लड़के ने हमारी मोटर साइकिल रोकने का प्रयास किया इस पर मैने उसे भी गोली मार दी और मौके से फरार हो गया। आज मेरे पास से जो मोटर साइकिल व पिस्टल बरामद हुई है, इसे मैने कल की घटना में प्रयोग किया था। आज हम कहीं भागने की फिराक में थे कि आप लोगों ने पकड़ लिया, मौके से जो व्यक्ति फरार हो गया वह प्रदीप था। 

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें