Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

शनिवार, 18 जुलाई 2020

थानाध्यक्ष मानधाता प्रवीण कुशवाहा को विदाई देते समय उड़ाई गई सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां

हर दिल अजीज इंस्पेक्टर प्रवीण कुशवाहा की मानधाता थाने में विदाई के दौरान स्वागत समारोह में महामारी अधिनियम की उड़ाई गई धज्जियां...
आम जनता के द्वारा किये गए ऐसे कृत्यों के खिलाफ यही पुलिस महामारी अधिनियम के तहत दर्ज कर देती है,मुकदमा...
कानून के रखवाले जब कानून की बखिया उधेड़ तो इसे क्या कहेंगे...???
देश में कोरोना वायरस संक्रमण से निपटने के लिए देश में महामारी घोषित किया गया है। इस महामारी को वैश्विक महामारी का भी नाम दिया गया है। देश में इस महामारी से निपटने के लिए देश की मोदी और प्रदेश की योगी सरकार लॉकडाउन के साथ सोशल डिस्टेंसिंग अभियान चलाया गया और उसका उल्लंघन करने पर उसके खिलाफ महामारी अधिनियम के तहत मुकदमा लिखे जाने की ब्यवस्था शासन ने की है और उसका अनुपालन उत्तर प्रदेश पुलिस को करने की जिम्मेदारी सौंपी गई है। देश में लॉक डाउन को चौथा महीना पूरा होने को है, परन्तु ईमानदारी से देखा जाए तो आज भी सिस्टम के वो लोग कानून को तोड़ते नजर आ रहे हैं जिनके कन्धों पर कानून के निर्वहन की जिम्मेवारी शासन ने दे रखी है।    

देश में कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव को लेकर चलाए जा रहे सोशल डिस्टेंसिंग अभियान की उस जगह धज्जियां उड़ाई जा रही है, जहाँ कानून की हिफाजत की बात सीना ठोक कर कही जाती है जनपद प्रतापगढ़ में स्वयं जिलाधिकारी महोदय प्रेस नोट जारी कर जिले की जनता से अपील कर रहे हैं कि बाहर निकले तो मुंह पर मास्क लगाकर निकले और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन अवश्य करें। बहुत जरूरी न हो तो घरों के अंदर ही रहें। उसके बावजूद भी शुक्रवार के दिन थाना मांधाता में इंस्पेक्टर प्रवीण कुशवाहा को विदाई देते समय पूरी तरह सोशल डिस्टेंस की धज्जियां उड़ाई गई। इस भीड़ में सिर्फ एक चेहरे पर मास्क दिखा और बाकी के चेहरे पर नहीं दिखा कोरोना डर। 

मानधाता थानाध्यक्ष रहे प्रवीण कुशवाहा के चाहने वालों ने उनकी भव्य विदाई की। जश्न के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग की जमकर धज्जियां उड़ाई गई। कोरोना वायरस संक्रमण से बचने के लिए कई कारगर उपाय अमल में लाने के लिए देश के प्रधानमंत्री ने लोगों से अपील की थी। इनमें एक सर्वाधिक महत्वपूर्ण मंत्र "सोशल डिस्टेंसिंग" का भी बताया था। सोशल डिस्टेंसिंग का लोग पूरी तरह पालन नहीं कर रहे हैं। जब थानाध्यक्ष ही सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ा रहे हैं तो आम जनता को कैसे पालन कराएंगे। इसके पहले इंस्पेक्टर प्रवीण कुशवाहा जब थानाध्यक्ष कोंहड़ौर से थानाध्यक्ष मानधाता बनाये गए थे तो भी लॉक डाउन के दौरान थाने पर स्वागत समारोह में सोशल डिस्टेंसिंग की जमकर धज्जियां उड़ाई गई थी दूसरी बार मानधाता में इंस्पेक्टर प्रवीण कुशवाहा के स्वागत में कानून की धज्जियां उड़ाई गई। ऐसे में देखना है कि आलाअधिकारी इस प्रकरण का संज्ञान लेते हैं या फिर उन्हें तीसरा मौका देंगे, सोशल डिस्टेंसिंग का धज्जियां उड़ाने के लिए...

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें