Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

मंगलवार, 7 जुलाई 2020

सीओ देवेन्द्र मिश्र के पत्र उजागर होने के बाद से दुर्दांत अपराधी विकास दुबे और एसओ विनय तिवारी के साथ-साथ तत्कालीन एसएसपी कानपुर अनंत देव की भूमिका भी लग रही है,संदिग्ध

कानपुर में शहीद हुए सीओ देवेन्द्र मिश्र के द्वारा लिखे गए पत्र की जाँच तेजतर्रार आईपीएस अधिकारी लक्ष्मी सिंह आईजी, लखनऊ करेंगी...  

तेजतर्रार आईपीएस अधिकारी लक्ष्मी सिंह आईजी,लखनऊ...
कानपुर कांड के आरोपी ढाई लाख के इनामी दुर्दांत विकास दुबे को खोजने में कानपुर पुलिस के साथ परदे के पीछे से 74 जिलों की पुलिस लगी है। बड़े मामलों में लगाई जाने वाली STF भी पूरी तन्मयता से लगी है। सभी पर नजर गड़ाने रखने के लिए सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ जी इंटेलिजेंस को भी लगा दिया है। लेकिन दुर्दांत विकास दूबे सबको चकमा दे रहा है। विकास निःसंदेह बहुत शातिर है। पुलिस के उच्चाधिकारी सन्नाटा खींचे हैं। यूपी पुलिस की बेइज़्ज़ती लगातार जारी है। अब तो इज्जत बचाना भारी पड़ रहा है।

विकास दुबे का जय बाजपेई कनेक्शन जय जमीनों की खरीद फरोख्त करता था। विकास के बल पर विवादित जमीनें लेता था। मार्केट में ब्याज पर रुपए बांटने का काम है। 15 से अधिक मकान, दर्जनों फ्लैट का मालिक 7 साल पहले 4 हजार की सैलरी पाता था। प्रिंटिंग प्रेस में काम करता था, जय बाजपेई। कम समय में करोड़ों की संपत्ति बना ली। लखनऊ-कानपुर रोड पर एक पेट्रोल पम्प है। अवैध रूप से चल रहे पम्प का मालिक है। कई केस में वांछित फिर भी पासपोर्ट बने। पुलिस ने कैसे लगा दी पासपोर्ट रिपोर्ट ? ब्रम्ह नगर में एक दर्जन से अधिक मकान। जय और भाई रजय की कई बार जांच हुई। इनके मकानों में दारोगा, सिपाही रहते हैं। कानपुर में 8 पुलिसकर्मियों की हत्या का मामला, विकास दुबे की वेस्ट यूपी में तलाश, मेरठ समेत कई जिलों में चस्पा हुए आरोपी के पोस्टर ADG जोन कानपुर ने खुद पुलिसकर्मियों को विकास की जानकारी दी, विकास दुबे ढाई लाख का इनामी घोषित हुआ। मेरठ जोन में पुलिस, STF तलाश में सक्रिय है।

आठ पुलिस के हत्याकांड़ का मामला, SSP ने 10 कांस्टेबल को दी थी, तैनाती। पुलिस लाइन से चौबेपुर में मिली थी तैनाती, शक के दायरे में आने पर हो रही पूछताछ। अब नए पुलिसकर्मियों से लिया जाएगा काम। विकास के खाते में डाले में थे 15 लाख रुपए। जय वाजपेयी ने हाल में ही दुबई में खरीदा था फ्लैट। जय वाजपेयी ने 15 करोड़ में खरीदा था, फ्लैट। जय और विकास दुबई में उसी फ्लैट में रुकते थे। जांच में दोनों ही भूमाफिया बताए गए थे जय वाजपेयी अभी एसटीएफ की गिरफ्त में। कानपुर कांड से जुड़े 3 और आरोपी गिरफ्तार, बिकरु गाँव मे हुई घटना मामले में 3 आरोपियों को पुलिस ने किया अरेस्ट, सुरेश वर्मा, विकास के घर में रहने वाली नौकरानी रेखा और रिश्तेदार क्षमा दुबे गिरफ़्तार, आपराधिक षड्यंत्र में शामिल होने के आरोप में गिरफ्तार।

अनंतदेव पर जांच के आदेश दिए गए विकास और अनंतदेव के कनेक्शन की होगी जांच। फिलहाल STF के DIG हैं, अनंतदेव। मामले की अभी तक जांच ADG जोन कानपुर कर रहे थे। दिवंगत CO देवेन्द्र मिश्र ने तत्कालीन SSP अनंत देव को लिखा था, पत्र सीओ देवेन्द्र मिश्र पत्र लिखकर चौबेपुर SO विनय तिवारी की भूमिका पर उठाए थे, सवाल। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सख्त रुख के बाद शहीद सीओ देवेंद्र मिश्र द्वारा एसओ चौबेपुर के खिलाफ तत्कालीन एसएसपी को लिखे गये पत्र के वायरल होने एवं पत्र के पुलिस रिकार्ड से गायब होने की जांच अब तेज तर्रार आईपीएस लक्ष्मी सिंह को सौंपी गई है। खबर है कि आईजी लखनऊ लक्ष्मी सिंह सीओ बिल्हौर के कार्यालय भी जांच के लिए पहुंच गई है। पहले इस मामले की जांच एडीजी जोन जे एन सिंह को दी गई थी। हालांकि जाँच बदलने पर भी योगी सरकार पर सवाल उठ रहे हैं

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें