Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

सोमवार, 6 जुलाई 2020

आठ जाबाज़ जवानों का हत्यारा विकास दुबे पर इनाम बढ़ाकर हुआ ढ़ाई लाख, दीवारों पर चस्पा किये गए पोस्टर

दुर्दांत अपराधी विकास दुबे की गर्दन से उत्तर प्रदेश की पुलिस के हाथ की दूरी अभी कितनी दूर है...???

इनामी बदमाश विकास दुबे का चस्पा पोस्टर...
" बड़े हत्याकांड को अंजाम देकर फरार चल रहे विकास दुबे की गिरफ्तारी पुलिस के लिए किसी चुनौती से कम नहीं है 40 थानों की फोर्स, एक हजार से अधिक दरोगा, क्राइम ब्रांच और STF की टीम उसकी चप्पे-चप्पे पर तलाश कर रही है बावजूद उसके 72 घंटे से ज्यादा का वक्त गुजरने के बाद भी विकास दुबे और उसके गुर्गे पुलिस की गिरफ्त से दूर..."
विकास की खोज में 100जगहों पर छापेमारी...

 हाई-वे पर आने-जाने वाले लोगों से पुलिस विकास का पोस्टर दिखाकर शिनाख्त में जुटी...
उ प्र के कानपुर में आठ पुलिसकर्मियो को मौत के घाट उतारने वाला दुर्दान्त अपराधी विकास दुबे अब भी पुलिस की गिरफ्त से दूर है। हालांकि विकास दुबे की गिरफ्तारी के लिए यूपी पुलिस जगह जगह दबिश दे रही है। उसकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस ने अब तक 2000 से ज्यादा मोबाईल नंबर सर्विलांस पर लगा रखे हैं। साथ ही आठ पुलिसकर्मियो से पूछताछ के बाद भी नतीजा कुछ नहीं निकला है। पुलिस को आशंका है कि विकास दुबे नेपाल भाग सकता है। लिहाजा यूपी से सटे नेपाल बार्डर पर सुरक्षा बढ़ा दी गई है लेकिन पुलिस को अभी भी उम्मीद है कि आसपास के पच्चीस गांवो से विकास के बारे मे कोई सुराग मिल सकता है लिहाजा गांव से सटे जंगलो मे भी सुराग तलाशे जा रहे है।

 विकास दुबे की तलाश में 24 घंटे पुलिस मार रही है हाथ पैर...
अब तक विकास दुबे प्रकरण में योगी सरकार द्वारा लिए गए एक्शन...
1- हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे पर अब ढ़ाई लाख का इनाम 
2- विकास का एक साथी दयाशंकर अग्निहोत्री गिरफ्तार 
3- विकास की तलाश में जगह-जगह सर्च अभियान 
4- लखीमपुर-खीरी से लगी नेपाल सीमा पर अलर्ट 
5- यूपी एसटीएफ ने 8 पुलिस कर्मियों से की पूछताछ 
6- 2 थानों के 2 दरोगा, 1 हेड कांस्टेबल और 4 सिपाही पर शक 
7- 40 मोबाइल नम्बर संदिग्ध, 2000 से ज्यादा नम्बर सर्विलांस पर 
8- विकास के खिलाफ एक और कार्रवाई की तैयारी में योगी सरकार 
9- राज्यमंत्री संतोष शुक्ला हत्याकांड को दोबारा खोलने की तैयारी 
10- 2001 में थाने में घुसकर की गई थी बीजेपी नेता संतोष की हत्या 

 उत्तर प्रदेश की पुलिस के लिए विकास दुबे का मिलना किसी चुनौती से नहीं है,कम...
कानपुर में विकास दुबे का मकान गिराए जाने के बाद पूरे बिकरू गांव में सुरक्षाबलों का पुख्ता बंदोबस्त किया गया है। पूरे गांव में पुलिस के जवानों ने डेरा डाल रखा है तो अब पुलिस विकास दुबे के लखनऊ वाले घर पर एक्शन की तैयारी कर रही है। पुलिस इसके लिए विकास के कृष्णानगर स्थित आवास और इंद्रलोक कॉलोनी स्थित मकान पर मुस्तैदी बढ़ा दी है। विकास के कृष्णानगर वाले आवास को पुलिस ने सील भी कर दिया है। साथ ही दोनों मकान पर पुलिस का पहरा बैठा दिया गया है। लखनऊ विकास प्राधिकरण की टीम भी उसके घर पहुंची और नाप की विकास दुबे के ऊपर एक्शन से प्रदेश में अन्य माफियाओं की नींद उड़ी हुई है 

अपराध की दुनिया का बेताज़ बादशाह विकाश दुबे आठ जाबाज़ पुलिस कर्मियों को मौत की नींद सुलाने वाला हत्यारा पुलिस की पकड़ से दूर है। 2 दिन पहले ही खुफिया तंत्रों के हवाले पुलिस को इनपुट मिला कि लखीमपुर खीरी की मोहम्मदी कोर्ट में भेष बदल कर विकास दुबे खुद सरेंडर करेगा लेकिन ऐसा हुआ नहीं कयास लगाया जा रहा है कि ढ़ाई लाख रुपये का इनामी कानपुर से फरार विकास दुबे लखीमपुर के रास्ते नेपाल भागने की फिराक में है जिसके बाद विकास दुबे की तलाश में इंडो नेपाल की 130 किलोमीर सीमा पर भी अलर्ट जारी कर दिया गया हैं साथ ही विकाश दुबे के पोस्टर भी दीवारों पर चस्पा कराए जा रहे हैं 

खुंखार अपराधी विकास दुबे...
इंडो नेपाल की खुली सीमाओं पर पुलिस की सघन चेकिंग अभियान भी चलाया जा रहा हैं। हर आने जाने वालों पर पुलिस अपनी पैनी नजर बनाए हुए है इतना ही नहीं उत्तर प्रदेश जिले में बड़ी-बड़ी घटनाओं को अंजाम देने के बाद अपराधी लखीमपुर खीरी से सटे इंडो नेपाल बॉर्डर से खुली सीमाओं में प्रवेश कर नेपाल को अपने छुपने का अड्डा बनाते है। हाल ही में अक्टूबर, 2019 में हुए बहुचर्चित कमलेश तिवारी हत्याकांड के मुख्य आरोपी कमलेश तिवारी की हत्या कर लखीमपुर के पलिया के रास्ते नेपाल जाने की फिराक में थे लेकिन चाक चौबंद सुरक्षा के कारण बदमाश नेपाल भागने में नाकाम हुए थे इसी के साथ कानपुर का कुख्यात दुर्दांत अपराधी विकास दुबे की धर-पकड़ के लिए पुलिस के चार थानों की पुलिस के साथ एस. एस. बी. के जवानों को भी तैनात कर दिया गया है।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें