Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

शुक्रवार, 17 जुलाई 2020

सियासी संग्राम के 7वें दिन ऑडियो धमाका : वायरल ऑडियो में 30 विधायकों का सौदा, पैसा श्रीनगर व दिल्ली पहुंचने और सरकार को घुटनों पर लाने की बातें

● सीएम के ओएसडी ने खरीद-फरोख्त की 3 रिकॉर्डिंग जारी की, विपक्ष के नेताओं पर लगाया आरोप...
● सरकार का दावा - केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह, कांग्रेस विधायक भंवरलाल शर्मा व विश्वेंद्र और दलाल संजय के बीच हुई ये बातें...
● गजेंद्र सिंह शेखावत और भंवरलाल शर्मा ने कहा- ऑडियो फर्जी हैं, बौखलाई हुई है सरकार, खुद तैयार करा रहे ऑडियो...

गजेंद्र सिंह शेखावत और भंवरलाल शर्मा ने कहा- ऑडियो फर्जी हैं...
जयपुर। राजस्थान की सिसायत में 7 दिन से छिड़े संग्राम के बीच गुरुवार काे ऑडियो धमाका हुआ। विधायकाें की खरीद-फराेख्त का आराेप लगाने और इसके सबूत हाेने के सीएम अशोक गहलाेत के दावे के एक दिन बाद उनके ओएसडी ने 3 ऑडियाे जारी किए। दावा है कि इनमें केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह, कांग्रेस विधायक भंवरलाल शर्मा व विश्वेंद्र तथा दलाल संजय साैदेबाजी कर रहे हैं। दूसरी ओर, गजेंद्र सिंह व भंवरलाल ने कहा- बगावत के कारण इस समय सरकार बौखलाई हुई है, मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के ओएसडी लोकेश शर्मा अपने आदमियों से ये फर्जी ऑडियो तैयार करा रहे हैं। 

पहला ऑडियाे...

हमारे दिल्ली में बैठे साथी पैसा ले चुके, क्या चांदना का फोन वापस नहीं आया ?

पहला व्यक्ति- हैलो..., जी भाई...! हमारे साथी जो दिल्ली में बैठे हैं वो पैसा ले चुके हैं.., पहली किस्त पहुंच चुकी है, श्रीनगर।
दूसरा व्यक्ति- ठीक है...
पहला- सो वेन विल सी यू टूमारो ?
दूसरा- या, आई विल सी यू अर्ली मॉर्निंग बाई एट... मैं आपको मिलता हूं, दिल्ली में ! आप कितने बजे उठ जाते हैं ?
दूसरा- ठीक है !
पहला- वाट आई एम सेइंग इज वी नाऊ मूविंग लीगली ?
दूसरा- बस ठीक है, आपका एक्शन तो डिसाइड हो गया ना
पहला- कैसे ?
दूसरा- व्हाट लाइन यू आर टेकिंग ?
पहला- या, आईएम टेकिंग देयर लाइन !
दूसरा- या यू आर स्टिकिंग विद दम, राइट !
पहला- या !
दूसरा- चांदना का फोन नहीं आया वापस ?
पहला- नहीं आया !
दूसरा- चलो ठीक है...थैंक्यू...खम्मा घणी !
(सरकार का दावा है इसमें पहले व्यक्ति विश्वेंद्र सिंह और दूसरे गजेंद्र सिंह हैं)

दूसरा ऑडियो...

सचिन जी की तरफ से वह लिस्ट नहीं आएगी, डूडी और पूनिया के लिए भी प्रयास कर लो

पहला व्यक्ति- हैलो
दलाल संजय जैन- ठीक है साब बढ़िया हुयो, सारी बात खुल गई अब कोई शंका कौनी?
पहला व्यक्ति- सरकार तो रेणी कौनी, बर्खास्त करनी पड़सी
दलाल- मैं वीनै कह दियो मेरे जिम्मे है आपरी व गिरधारीजी की... अर साब ने कह दियाे कि सचिन जी की तरफ सूं वा लिस्ट कोनी आवै..
पहला व्यक्ति- कोनी आव... वा अमाउंट री बात होगी नि
दलाल- हां थाने काल कह दियो वा बात एकदम सही है
पहला व्यक्ति- ठीक है...
दलाल- थारी वरिष्ठता को पूरो ख्याल है...बस अब चेतन डूडी और बलवान पूनियां रो प्रयास और कर ल्यो
पहला व्यक्ति- चेतन डूडी भी आसी, बलवान पूनियां भी आसी, हो सक है वा रिछपालजी वालो बेटो भी आ जाव
दलाल- बोहोत ही बढ़िया हो जाव फेर तो
पहला व्यक्ति- आपणी संख्या अधिक करवा में लाग रियां हैं आपां
(सरकार का दावा- पहले व्यक्ति भंवरलाल हैं। बनीपार्क निवासी दलाल संजय जैन से एसओजी पूछताछ कर रही है, शुक्रवार को भी होगी।)

तीसरा ऑडियो...

मैंने साब को बता दिया कि दो आदमी हैजिटेशन कर रहे हैं, आपसे बात जारी है

दलाल- अकेलाई हो नी
पहला व्यक्ति- हां
दलाल- दो दिना मैं संख्या पूरी हो जाव नि वा तीस
पहला व्यक्ति- हां
दलाल-संख्या पूरी होगी कि दो तीन दिना मैं हो जासी
पहला व्यक्ति-होवा वाली है
दलाल- टाइम इत्ताे लाग कोनी
पहला व्यक्ति- हां, म्हारी भी बात होरी है वठे
दलाल- मैं साब न बता दियो कि दो जन है जो हैजिटेशन कर रहे हैं, उनकी डायरेक्ट आपसे बात है
पहला व्यक्ति- हां
दलाल- उनकी डायरेक्ट आपसे बात है और वो जो डिटेल देंगे वहां काम तुरंत प्रभाव से होणा चाहिए। बोले वो तो संजय भाई आपको बता दिया कहीं भी कोई दिक्कत नहीं है...तुरंत काम होगा।
पहला व्यक्ति- नई अंइयां है..
दलाल- तो एक तो आपने जाणकारी दे दूं कि आपणी बात पूरी हो रखी है.. शेष पेज 8
(दावा- पहले व्यक्ति भंवरलाल हैं।)

पहला व्यक्ति- हां दलाल-  सचिनजी लिस्ट देव नी तो थे वाऊं कह दिज्यो की मेरी बात हो रखी है मेरा नाम मत देना पहला व्यक्ति- हां, कह दे श्यूं दलाल- और एक थारो गिरधारी जी रो पहला व्यक्ति- अयां है कि अगर दिन में संभव होवे तो एक गजेंद्र जी सूं बात और करवा दो दलाल- अभी करवा दूं पहला व्यक्ति-हां अभी करवा दो दलाल- एक, थाण जाणकारी दे दूं कि गिरधारी जी कह रया कि एक दिन खातर गांव जा श्यां, मैं कयो अबार किमि कौन जाणा पूरा पांच सात दिन पहला व्यक्ति- ना अबार तो दो-तीन दिन कौन जाणों दलाल- अभी आप चल्लू रखो मैं बात कराऊं..(दूसरे व्यक्ति से बात करवाने की बात कह रहे हैं)
दूसरा व्यक्ति- हैलो, गजेंद्र सिंह अर्ज कर हूं महाराज !
पहला व्यक्ति- मैं बियां उम्र मैं बड़ों हूं तो आशिर्वाद तो दूं !
दूसरा व्यक्ति-  बिल्कुल महाराज
पहला व्यक्ति- विजयी भव, विजयी भव
दूसरा व्यक्ति- आपका आशिर्वाद सूं विजयी हो श्यां बिल्कुल
पहला व्यक्ति- एक तो दिन में संख्या पूरी हो ज्यासी
दूसरा व्यक्ति- बस, बस अब तो संख्या पूरी हुई तो बांका गोड़ा झुक जासी, अब तो कांई है मैं काल संजय जी न भी बात करी !
पहला व्यक्ति- हां
दूसरा व्यक्ति-  अब तो आपा न 8-10 दिन 10-15 अठै ही रहणो है, राज तो रह कौन सकै बाड़ा में 10-15 दिन तक, ज्यूंई छोड़ दी लोग आपा कनै आ जासी..
पहला व्यक्ति- नई आ बात मैं भी समझूं कि होटल सूं राज चाल कौनी
दूसरा व्यक्ति-  हां
पहला व्यक्ति- अर संख्या बल है कौनी, और बाकी आपरी बात संजय जी सूं होगी
दूसरा व्यक्ति-  हां
पहला व्यक्ति- मेरो वा लिस्ट मैं नाम कौनी
दूसरा व्यक्ति-  हूं, मैं कर ल्यूंगा बात
पहला व्यक्ति- ठीक है
दूसरा व्यक्ति- ठीक हुकम

(सरकार का दावा है इसमें पहला व्यक्ति भंवरलाल और दूसरा गजेंद्र सिंह हैं)

बोली का टच मेरा नहीं : शेखावत

ऑडियो फेक है। मैं मारवाड़ की भाषा बोलता हूं जबकि इसमें झुंझुनूं टच है। जिस गजेंद्र का जिक्र है उसके पद या जगह तक का जिक्र नहीं है। ऑडियो जोड़-तोड़ कर भी तैयार हो सकता है।  -गजेंद्र सिंह शेखावत

सीएम ओछी हरकत पर उतरे हैं। मेरा जो ऑडियाे आया है वह फर्जी है। सीएम के ओएसडी लोकेश शर्मा ये फर्जी ऑडियो तैयार कर रहे हैं। यह मुख्यमंत्री जी की ओछी हरकत है।
-भंवर लाल शर्मा, विधायक, सरदार शहर

पद छोड़ें गजेंद्र सिंह : डोटासरा

यह साफ है कि भाजपा लोकतांत्रिक रूप से चुनी सरकार को गिराने के षड्यंत्र में शामिल है, गजेंद्र सिंह नैतिकता रखते हैं तो इस्तीफा दें।

-गोविंद सिंह डोटासरा, कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष

इधर, कलह कठघरे में: बागी 19 कांग्रेस विधायकों के भविष्य पर आज एक बजे हाईकोर्ट में सुनवाई

सरकार गिराने की साजिश को लेकर कांग्रेस में उपजी कलह मुख्यमंत्री निवास, बाड़ाबंदी के होटलों और सचिवालय से होते हुए गुरुवार को 7वें दिन हाईकोर्ट तक पहुंच गई। विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी द्वारा जारी अयोग्यता के नोटिस को पायलट खेमे के 19 विधायकों ने हाईकोर्ट में चुनौती दी।

पीछे-पीछे मुख्य सचेतक महेश जोशी भी पहुंच गए और कोर्ट में कैविएट दाखिल करते हुए कहा कि कोई भी निर्णय किए जाने से पहले उनका पक्ष सुना जाए। एकल पीठ ने मामला डिवीजन बैंच काे रैफर कर दिया, जहां 7:30 बजे कहा गया कि अब मामले में शुक्रवार दोपहर एक बजे सुनवाई होगी। बता दें कि मुख्य सचेतक की शिकायत पर एंटी डिफेक्शन लॉ के तहत जारी नोटिस के तहत स्पीकर इन विधायकों की सदस्यता खत्म कर सकते हैं। 

पायलट खेमे से हरीश साल्वे व मुकुल रोहतगी तथा स्पीकर की ओर से अभिषेक मनु सिंघवी, एमएस सिंघवी व प्रतीक कासलीवाल ने दलीलें रखी।

इन 19 की विधायकी पर खतरा...

सचिन पायलट, रमेश मीणा, इंद्राज गुर्जर, गजराज खटाना, राकेश पारीक, मुरारी मीणा, पी.आर. मीणा, सुरेश मोदी, भंवर लाल शर्मा, वेदप्रकाश सोलंकी, मुकेश भाकर, रामनिवास गावड़िया, हरीश मीणा, विजेंद्र ओला, हेमाराम चौधरी, विश्वेन्द्र सिंह, अमर सिंह जाटव, दीपेंद्र सिंह शेखावत व गजेंद्र शक्तावत।

आगे क्या ? अब दो विकल्प रहेंगे !

पहला- अगर हाईकोर्ट पायलट खेमे को राहत दे !

अगर हाईकोर्ट शुक्रवार को सुनवाई के बाद सचिन पायलट खेमे को राहत दे और स्पीकर के नोटिस पर स्टे दे दे ताे स्पीकर की आगामी कार्रवाई स्थगित हो जाएगी। हाईकोर्ट में मामला पेंडिंग होने के कारण स्पीकर कोई कार्रवाई नहीं कर सकेंगे। हालांकि, इस फैसले से प्रभावित हाेने वाला पक्ष काेर्ट की अनुमति से सुप्रीम काेर्ट में चुनाैती दे सकेगा।

दूसरा- कोर्ट स्पीकर को सही ठहराए तो...

हाईकोर्ट से अगर पायलट खेमे को राहत नहीं मिलती है तो इन सभी 19 सदस्यों को स्पीकर के नोटिस का जबाव देना होगा। अगर जबाव से स्पीकर संतुष्ट नहीं हुए तो विधायकों को अयोग्य ठहरा सकते हैं। हालांकि, इसके बाद पायलट खेमा नए सिरे से कोर्ट में जा सकता है। 
(जैसा राजस्थान हाईकोर्ट के अधिवक्ता आर बी माथुर ने बताया)

कोर्ट के फैसले के आधार पर हमारा निर्णय होगा : जोशी
स्पीकर सीपी जोशी ने कहा- हाईकोर्ट की खंडपीठ शुक्रवार को जो भी आदेश देगी, उसी के तहत हमारा निर्णय होगा।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें