Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

गुरुवार, 11 जून 2020

केजरीवाल, कांग्रेस, शिवसेना और एनसीपी के झूठ के मुंह पर कालिख पोत देते हैं यह तथ्य...


➤कोरोना संक्रमण पर लखनऊ से सतीश मिश्र की पढ़िए ये रिपोर्ट...

भारत में कोरोना का संक्रमण  
कोरोना संक्रमण से सम्बन्धित दस जून तक की स्थिति यह है कि पूरे देश में एक्टिव कोरोना संक्रमितों की संख्या में 47.70% तथा पूरे देश में हुई कोरोना संक्रमितों की मौतों की संख्या में 54.57% भागीदारी देश के केवल दो राज्यों दिल्ली और महाराष्ट्र की है। लेकिन दिल्ली में सत्ताधारी केजरीवाल और महाराष्ट्र में सत्ताधारी शिवसेना कांग्रेस और एनसीपी के नेताओं/प्रवक्ताओं से जब इस गम्भीर स्थिति के बारे में प्रश्न पूछा जाता है तो जवाब देने के बजाय वो चीखने चिल्लाने लगते हैं कि सबसे ज्यादा खराब स्थिति गुजरात की हैसवाल गुजरात से पूछिये हमारी स्थिति गुजरात से बहुत बेहतर है। जबकि वास्तविकता यह है कि ऐसा कर के वो लोगों की आंखों में धूल झोंकने का कुकर्म करते हैं। ऐसा करने के बजाय उनको गुजरात से सबक सीखना चाहिए था कि लॉक डाउन का सदुपयोग कर के बिगड़ी हुई स्थिति को कैसे नियंत्रित किया जाता है। 31 मई को समाप्त हुए लॉक डाउन के बाद के दस दिनों के दौरान तीनों राज्यों में कोरोना संक्रमण की स्थिति इसका ठोस साक्ष्य है। किसी भी राज्य में कोरोना संक्रमण की स्थिति का आंकलन चार मापदंडों पर ही होता है। आइए जानते हैं कि उन चार मापदंडों पर तीनों राज्यों की आज क्या स्थिति है। 

पहला मापदंड...
31 मई को गुजरात में एक्टिव कोरोना संक्रमितों की संख्या 5832 थी आज 5438 है अर्थात्‌ पिछले 10 दिनों में गुजरात में एक्टिव कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़ने के बजाय 7.4% घटी है जबकि 31 मई तक दिल्ली में एक्टिव कोरोना संक्रमितों की संख्या 10893 थी आज यह संख्या 19581 है अर्थात्‌ पिछले 10 दिनों में दिल्ली में एक्टिव कोरोना संक्रमितों की संख्या घटने के बजाय 79.56% बढ़ी है इसी प्रकार महाराष्ट्र में 31 मई तक एक्टिव कोरोना संक्रमितों की संख्या 36040 थी। आज यह संख्या 46086 है अर्थात्‌ पिछले 10 दिनों में महाराष्ट्र में एक्टिव कोरोना संक्रमितों की संख्या घटने के बजाय 29% बढ़ी है। 

दूसरा मापदंड...
31 मई तक गुजरात में कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या 16779 थी आज 21521 है अर्थात्‌ पिछले 10 दिनों में गुजरात में कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या 28.26% बढ़ी है जबकि 31 मई तक दिल्ली में कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या 19844 थी आज यह संख्या 32810 है अर्थात्‌ पिछले 10 दिनों में दिल्ली में कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या 64.72% बढ़ी है यह वृद्धि दर गुजरात से 2.6 गुना अधिक है इसी प्रकार महाराष्ट्र में 31 मई तक कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या 67655 थी आज यह संख्या 94041 है अर्थात्‌ पिछले 10 दिनों में महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या घटने के बजाय 39% बढ़ी है। 

तीसरा मापदंड...
31 मई तक गुजरात में स्वस्थ हो चुके कोरोना संक्रमितों की संख्या 9909 थी आज 14735 है अर्थात्‌ पिछले 10 दिनों में गुजरात में स्वस्थ हो चुके कोरोना संक्रमितों की संख्या 48.71% बढ़ी है। जबकि 31 मई तक दिल्ली में स्वस्थ हो चुके कोरोना संक्रमितों की संख्या 8478 थी आज यह संख्या 12245 है अर्थात्‌ पिछले 10 दिनों में दिल्ली में स्वस्थ हो चुके कोरोना संक्रमितों की संख्या 44.44% बढ़ी है यह वृद्धि दर गुजरात से 4.27% कम है इसी प्रकार महाराष्ट्र में 31 मई तक स्वस्थ हो चुके कोरोना संक्रमितों की संख्या 29329 थी आज यह संख्या 42638 है अर्थात्‌ पिछले 10 दिनों में महाराष्ट्र में स्वस्थ हो चुके कोरोना संक्रमितों की संख्या 45.38% बढ़ी है यह वृद्धि दर गुजरात से 3.33 % कम है। 

चौथा मापदंड...
31 मई तक गुजरात में 1038 कोरोना संक्रमितों की मौत हो चुकी थी। 10 जून तक यह संख्या बढ़कर 1347 हो चुकी है। अर्थात्‌ पिछले 10 दिनों में गुजरात में हुई कोरोना संक्रमितों की मौत की संख्या 29.80% बढ़ी है।  जबकि 31 मई तक दिल्ली में हुई कोरोना संक्रमितों की मौत संख्या 473 थी। 10 जून तक यह संख्या 984 हो चुकी है। अर्थात्‌ पिछले 10 दिनों में दिल्ली में हुई कोरोना संक्रमितों की मौतों की संख्या 108.20% बढ़ी है। यह वृद्धि दर गुजरात से 3.6 गुना अधिक है। इसी प्रकार महाराष्ट्र में 31 मई तक हुई कोरोना संक्रमितों की मौत की संख्या 2286 थी। दस जून तक यह संख्या 3289 हो चुकी है। अर्थात्‌ पिछले 10 दिनों में महाराष्ट्र में हुई कोरोना संक्रमितों की संख्या 44% बढ़ी है। महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमितों की मौत की संख्या की यह वृद्धि दर गुजरात से 47.50% अधिक है। 

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें