Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

शनिवार, 20 जून 2020

चीन की सेना भारतीय भूमि में घुस गयी है उक्त कथन के कांग्रेसी झूठ का हथियार बने धूर्त का शर्मनाक सच

चीन की सेना भारतीय भूमि में घुस गयी है उपरोक्त आरोप का राग अलापते हुए राहुल गांधी और उसकी कांग्रेसी सेना अपने इस आरोप का स्त्रोत दो तीन विशेषज्ञों को बताती है इन विशेषज्ञों में सबसे पहला और बड़ा नाम अजय शुक्ला नाम के धूर्त का है। कुछ वेबसाइटों और एक दो लुटियनिया अखबारों में ये सच को झूठ बताते लेख लगातार लिख रहा है...

जानिए कि कौन है,तथाकथित रक्षा विशेषज्ञ अजय शुक्ल....???

5000 करोड़ के नेशनल हेराल्ड घोटाले में राहुल गांधी सोनिया गांधी के साथ ही सुमन दुबे नाम का एक धूर्त भी नामजद है और राहुल गांधी सोनिया गांधी की ही भांति जमानत पर बाहर है अजय शुक्ल इसी सुमन दुबे का चचेरा ममेरा नहीं बल्कि सगा साला है नेहरू मेमोरियल म्यूज़ियम और लाइब्रेरी तथा राजीव गांधी फाउंडेशन एवं नेशनल हेराल्ड समेत लगभग उन सभी संस्थाओं में महत्वपूर्ण जिम्मेदारी को अजय शुक्ल का सगा जीजा सुमन दुबे ही सम्भालता है जिनकी कर्ताधर्ता सोनिया गांधी है यही कारण है कि नेशनल हेराल्ड केस में वो भी नामजद है तथा 19 दिसम्बर 2015 से वो जमानत पर बाहर है अजय शुक्ल और सुमन दुबे की एक और बहुत महत्वपूर्ण पहचान भी है प्रचंड मोदी विरोधी अरुण शौरी का सगा साढ़ू है सुमन दुबे अर्थात सुमन दुबे और अरुण शौरी की पत्नियां सगी बहने हैं अर्थात्‌ अजय शुक्ल का सगा जीजा अरुण शौरी भी है वर्ष-2009 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की मीडिया रणनीति की कमान अजय शुक्ल ही सम्भालता था। 

"गलवान घाटी में तैनात सैन्य अधिकारियों, देश के सेनाध्यक्ष, देश के चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ, देश के रक्षामंत्री, देश के विदेशमंत्री तथा देश के प्रधानमंत्री को झूठा बताकर उनको उनकी बातों को नकार रही है, कांग्रेस लेकिन इस अजय शुक्ल द्वारा दिल्ली में बैठ कर लिखे गए लेखों और बयानों को वही कांग्रेस ईश्वरीय वचन की तरह सच मान रही है, बता रही है और उन्हें आधार बनाकर देश की सेना तथा देश की सरकार पर अश्लील अभद्र भाषा में तथ्यहीन आरोपों का कीचड़ उछालने में जुटी हुई है..."

अनुशासनहीनता के आरोप में सेना से निकाले जाने के बाद कांग्रेसी यूपीए राज में अजय शुक्ल पहले NDTV में नौकरी करता था। फिर उसे दूरदर्शन का कर्ताधर्ता बना दिया गया था। उसके भारत सरकार विरोधी, विशेषकर भारतीय सेना विरोधी ब्लॉग्स को पाकिस्तानी सेना और मीडिया की वेबसाइट्स प्रमुखता से छापती रहती हैंआज कल यही अजय शुक्ल उस भारत विरोधी अभियान की कमान सम्भाल रहा है और अखबारों वेबसाइटों में लगातार लेख लिख कर यह सिद्ध करने की कोशिश में जुटा हुआ है कि चीन ने भारत भूमि पर क़ब्ज़ा कर लिया है और भारतीय सेना उसे नहीं रोक पायी है। आज कल राजदीप सरदेसाई और रविशकुमार इस अजय शुक्ला की उपरोक्त पहचान छुपा लेते हैं और देश की आंखों में धूल झोंकते हुए उसको रक्षा विशेषज्ञ बताकर अपने अपने न्यूज़ चैनलों में लगातार बुला कर बैठा रहे हैं और उससे यह दुष्प्रचार करवा रहे हैं कि चीन ने भारत भूमि पर क़ब्ज़ा कर लिया है तथा भारतीय सेना उसे नहीं रोक पायी है। 

प्रस्तुति : - सतीश मिश्र  

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें