Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

गुरुवार, 18 जून 2020

राजस्थान में 10वीं और 12वीं बोर्ड की बकाया परीक्षा 29 जून से शुरू होगी

परीक्षा पर रोक लगाने वाली याचिका हाईकोर्ट से खारिज, परीक्षा से पहले 92 हजार विद्यार्थियों की हुई थर्मल स्क्रीनिंग...

राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड...
कोरोना वायरस के संक्रमण के डर की वजह से राजस्थान में भले ही शिक्षण संस्थान बंद पड़े हो, लेकिन  18 जून से राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने अपनी 10वीं और 12वीं की बकाया परीक्षा लेना शुरू कर दिया है। हालांकि शिक्षा बोर्ड ने राज्य सरकार से आग्रह किया था कि 10वीं की परीक्षा का आयोजन न किया जाए। लेकिन सरकार ने बोर्ड के इस प्रस्ताव को स्वीकार नहीं किया। तय कार्यक्रम के अनुसार 18 जून को 12वीं कक्षा के विज्ञान वर्ग की गणित की परीक्षा शांतिपूर्ण तरीके से प्रदेशभर में सम्पन्न हुई। 

बोर्ड के जनसम्पर्क विभाग के उपनिदेशक राजेन्द्र गुप्ता ने बताया कि इस परीक्षा में 92 हजार विद्यार्थियों ने भाग लिया। परीक्षा शुरू होने से पहले सभी विद्यार्थियों की थर्मल स्क्रीनिंग की गई। हाथों को सैनेटाइज करने के बाद ही विद्यार्थियों को परीक्षा केन्द्र पर प्रवेश दिया गया। विद्यार्थियों की थर्मल स्क्रीनिंग में चिकित्सा विभाग का विशेष योगदान रहा। कोरोना काल में जिन स्कूलों को क्वारंटीन सेंंटर बनाया गया, वहां परीक्षा से पहले 2-3 बार स्कूल परिसर को सैनेटाइज किया गया। गुप्ता ने बताया कि सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन करते हुए प्रदेश भर में 524 नए परीक्षा केन्द्र बनाए गए हैं।

29 जून को होगी 11 लाख विद्यार्थियों की परीक्षा...

गुप्ता ने बताया कि 10वीं कक्षा के गणित और सामाजिक विज्ञान की परीक्षा आगामी 29 और 30 जून को होगी। इन दोनों ही परीक्षा में 11 लाख विद्यार्थी भाग लेंगे। उन्होंने बताया कि 12वीं की शेष परीक्षाओं में विद्यार्थियों की संख्या कम है, लेकिन 10वीं की परीक्षा में एक साथ 11 लाख विद्यार्थी भाग लेंगे। बोर्ड ने इतनी बड़ी परीक्षा के लिए व्यापक तैयारियां की है। इसमें जिला प्रशासन का भी सहयोग लिया जा रहा है।

वंचित विद्यार्थी पूरक परीक्षा के साथ दे सकेंगे परीक्षा...

राजेन्द्र गुप्ता ने बताया कि लॉकडाउन की वजह से जो विद्यार्थी इन दिनों 10वीं और 12वीं के बकाया विषयों की परीक्षा नहीं दे पा रहे है, वे अगस्त में होने वाली पूरक परीक्षा के साथ परीक्षा दे सकेंगे। ऐसे विद्यार्थियों की अंकतालिका में पूरक परीक्षा का उल्लेख नहीं होगा। उन्होंने बताया कि अनेक विद्यार्थी राजस्थान से बाहर चले गए हैं। ऐसे में अब वापस प्रदेश आने में परेशानी हो रही है। ऐसे विद्यार्थियों को चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है। वंचित विद्यार्थियों की परीक्षा पूरक परीक्षा के साथ ली जाएगी।

प्रस्तुति :- एस.पी.मित्तल

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें