Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

मंगलवार, 19 मई 2020

वेशर्मी की इंतहा पारकर झूठ की बिसात पर चल रही दिल्ली की केजरीवाल सरकार

लाख छुपाओ छुप न सकेगा राज़ हो कितना गहरा,दिल की बात बता देता है,असली नक़ली चेहरा...!!!
➤सतीश मिश्र की कलम से...
कहानी किसी छोटे मोटे दूर दराज के गांव या कस्बे की नहीं बल्कि देश की राजधानी दिल्ली की है यह कहानी हमको आपको, पूरे देश को बता रही है, दिखा रही है कि... विज्ञापनों की मंडी में कुछ करोड़ में किस तरह बिक जाती है मीडिया... विज्ञापनों का दमख़म तो देखिये... केजरीवाल की बेईमानी पर पर्दा डालने के लिए खुद बेईमानी पर उतारू हो जाने से भी ना हिचक रहा है मीडिया, ना झिझक रहा है मीडिया, ना शर्मा रहा है मीडियाशासक से सम्पादक तक बेईमानी और बेशर्मी की अनलिमिटेड जुगलबंदी बेलगाम जारी है...!!!
8अप्रैल, 2020 को केजरीवाल ने दिल्ली के सातों सांसदों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए लम्बी वार्ता की थी उस वार्तालाप में सांसद प्रवेश वर्मा ने केजरीवाल से कहा कि कृपया मुझे उन स्थानों के नाम पते की सूची दे दीजिये जिन ढाई हजार से अधिक स्थानों पर भोजन बनवा के रोजाना 10-12 लाख लोगों को दिल्ली सरकार भोजन करा रही है प्रवेश वर्मा की उपरोक्त मांग पर केजरीवाल ने अपनी बगल में बैठे संजय सिंह से तत्काल कहा था कि उन स्थानों की सूची दिल्ली के सातों सांसदों के पास शाम तक पहुंचा दो लेकिन 8 अप्रैल की शाम की बात तो छोड़िए, वो सूची आज 40 दिन बाद, 18 मई तक भी किसी सांसद तक नहीं पहुंची है...!!!
केजरीवाल ने वह सूची किसी सांसद को आज तक नहीं दी है। जबकि इस दौरान प्रवेश वर्मा, मनोज तिवारी, मीनाक्षी लेखी, रमेश विधूड़ी, गौतम गम्भीर आदि सांसद केजरीवाल से वह सूची लगातार मांगते रहे हैं कई बार ट्वीट करके केजरीवाल को उस सूची की याद दिला चुके हैं लेकिन केजरीवाल चुप्पी साधे हुए है ध्यान रहे कि केजरीवाल से वह सूची इसलिए मांगी जा रही है, क्योंकि 24 मार्च को लॉकडाउन शुरू होने के बाद से ही केजरीवाल लगातार यह दावा कर रहा है कि मेरी सरकार 2500 से अधिक स्थानों पर खाना बनवा कर रोजाना 10-12 लाख लोगों को दोनों समय भोजन करा रही है लेकिन केजरीवाल उन स्थानों की सूची देने में आनाकानी कर रहा है उसकी सरकार या पार्टी की वेबसाइट पर भी उन स्थानों की कोई सूची या सूचना उपलब्ध नहीं है...!!! 
दरअसल ऐसी कोई सूची खुद केजरीवाल के पास भी नहीं है क्योंकि ऐसी कोई सूची तो तब ही बन सकती है जब वाकई में ढाई हजार स्थानों पर खाना बनवा के 10-12 लाख लोगों को भोजन कराया जा रहा हो स्पष्ट है कि दोनों समय का जोड़कर रोजाना 20-25 लाख भोजन बांटने का फर्जीवाड़ा केजरीवाल पिछले 55 दिनों से लगातार कर रहा है आश्चर्यजनक तथ्य यह है कि इतने बड़े पैमाने पर सार्वजनिक रूप से खुलेआम किए जा रहे केजरीवाल के इस सनसनीखेज शर्मनाक फर्जीवाड़े पर मीडिया ने आजतक कोई सवाल नहीं पूछा है सवाल पूछने की तो बात छोड़िए, केजरीवाल के बचाव में खबरों का फर्जीवाड़ा करने में जुटा है मीडिया का एक वर्ग. इसका सबसे ज्वलन्त उदाहरण है न्यूज चैनल आजतक की करतूत...!!!
ज्ञात रहे कि आरएसएस के अनुषांगिक संगठन सेवाभारती द्वारा दिल्ली में रोजाना लगभग सवा लाख लोगों को भोजन कराया जा रहा है तीन दिन पहले दिल्ली पुलिस ने इसके लिए सेवाभारती को सम्मानित भी किया है सेवाभारती द्वारा दिल्ली में संचालित की जा रही सबसे बड़ी रसोई दिल्ली के माता मंदिर झंडेवालान में चल रही है न्यूजचैनल "आजतक" का रिपोर्टर इस रसोई की कवरेज के लिए गया भी था, फोटो भी खींची थी, रिपोर्ट भी तैयार की थी लेकिन "आजतक" ने जब वह रिपोर्ट प्रसारित की तो उस रिपोर्ट में सेवाभारती और माता मंदिर कमेटी का नाम ही गायब था सेवाभारती द्वारा संचालित उस विशाल रसोई को न्यूजचैनल "आजतक" अपनी रिपोर्ट में दिल्ली की केजरीवाल सरकार द्वारा संचालित रसोई बता कर झूठी खबर दिखाने में जुट गया था...!!!
स्वयं सोचिए कि अगर केजरीवाल सरकार दिल्ली में ढाई हजार स्थानों पर विशाल रसोईघरों का संचालन कर रही होती तो न्यूजचैनल "आजतक" को आरएसएस की सेवा भारती द्वारा संचालित रसोई का वीडियो दिखा कर यह झूठ नहीं बोलना पड़ता कि ये रसोई दिल्ली सरकार संचालित कर रहीं हैं यह उदाहरण है, साक्ष्य है, इस तथ्य का कि केजरीवाल के करोड़ों रुपए के विज्ञापनों से मिल रही मोटी रकम के अहसानों का बोझ उतारने के लिए कितने बेईमान और बेशर्म हथकंडे आजमा रहा है दिल्ली का लुटियनिया मीडिया कोरोना संक्रमितों की संख्या और मृत्यु से सम्बंधित आंकड़ों में कैसे हेराफेरी कर रही है केजरीवाल सरकार फिर भी अपने कुकर्मो पर पर्दा डालने से बाज़ नहीं आ रही है परन्तु केजरीवाल सरकार की इस सच्चाई को आज कल पूरा देश देख रहा है...!!!
आजतक की करतूत की खबर का लिंक...
https://hindi.opindia.com/.../aajtak-gives-credit-to.../amp/

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें