Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

सोमवार, 1 जून 2020

जर्मनी को पीछे छोड़ दुनिया के सर्वाधिक कोरोना प्रभावित देशों में भारत पहुँचा 8वें स्थान पर

भारत में कोरोना केस में अब तक का सबसे बड़ा उछाल देखा गया और 8,380 केस एक दिन में सामने आए।
 भारत कोरोना अपडेट- 
नये मामलों में भारी वृद्धि जारी- 
24 घण्टे में नये मामले - 8392 
कुल मौतें - 5408
नई मौतें - 230 
कुल मामले - 190535 
कुल ठीक - 91885
सक्रिय मामले - 93348

दुनिया के सर्वाधिक कोरोना प्रभावित देशों में भारत पहुँचा 8वें स्थान पर...
नई दिल्ली। कोविड-19 कोरोना वायरस के संक्रमण ने पूरे संसार में मानव जाति पर ऐसा कहर बरपा रहा है कि महा शक्तिमान देशों की बोलती बंद है। वैश्विक महामारी के चलते दुनिया में हड़कंप मचा हुआ है। भारत में दिनोंदिन स्थिति और गंभीर होती जा रही है। जॉन हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के मुताबिक 1लाख 85 हजार कोरोना केस के बाद भारत कोराना संक्रमण से प्रभावित दुनिया के शीर्ष 10 देशों में अब 9वें स्थान पर जर्मनी को पीछे छोड़ते हुए 8वें पर आ गया है। देश में रविवार 31 मई, 2020 की शाम तक कोरोना के 1 लाख, 84 हजार 735 मामले आए थे।

दुनियाभर में कोरोना संक्रमण के मामले 61 लाख को पार कर गए हैं। अब तक 3 लाख, 70 हज़ार से अधिक मौतें हो चुकी हैं। कोरोना वायरस से मौत के मामले में ब्राज़ील अब फ्रांस से भी आगे निकलकर अमेरिका, ब्रिटेन और इटली के बाद चौथे नंबर पर आ गया है। दो महीने के लॉकडाउन के बाद यरूशलम की अल अक़्सा मस्ज़िद में नमाज़ी लौट रहे हैं। ये इस्लाम का तीसरा सबसे पवित्र स्थल है। पोप फ्रांसिस ने कोरोना वायरस को रोकने के लिए लागू किए गए लॉकडाउन को खोलने की जल्दबाज़ी के प्रति दुनिया के देशों को चेताया है। उन्होंने कहा कि लोगों को बचाना अर्थव्यवस्था को बचाने से ज़्यादा ज़रूरी है। अमेरिका में 17 लाख, 71 हजार से ज्यादा केस आने के बाद दुनिया को सबसे ज्यादा प्रभावित देशों की सूची में टॉप पर है। जबकि ब्राजील करीब 5 लाख कोरोना केस के साथ दूसरे और रूस 4 लाख से ज्यादा केस के साथ तीसरे स्थान पर है।

देश में रविवार की सुबह कोरोना केस में सबसे बड़ा उछाल देखा गया और 8,380 केस एक दिन में सामने आए। तो वहीं, 24 घंटे में कोराना से 193 कोरोना संक्रमित लोगों की मौत के बाद कुल मृतकों का आंकड़ा 5 हजार के पार कर गया है। ऐसा पहली बार भारत में हुआ है, जब कोरोना का केस एक दिन में 8 हजार के पार हुआ है। पिछले तीन दिनों में कोरोना केस में रिकॉर्ड बढ़ोत्तरी के बाद इस महामारी से प्रभावित देशों की सूची में भारत अब 8वें स्थान पर आ गया है। कोरोना केस में ये बढ़ोत्तरी ऐसे वक्त पर हो रही है,जब भारत दो महीने के लॉकडाउन को फिर से खोलने की तैयारी में है। लॉकडाउन खोलने और सोशल डिस्टेंसिंग यानि निर्धारित सामाजिक दूरी दो गज के मानक की धज्जियाँ उड़ाकर ही देश में कोरोना के ये हालात पैदा हुए हैं। 

एक अरब, 30करोड़ की आबादी वाले भारत में यदि कोरोना संक्रमण को गंभीरता से नहीं लिया गया और जैसे ढील दी जा रही है वैसे स्थिति में वो दिन दूर नहीं जब भारत कोरोना संक्रमण के मामले में ब्राजील और रूस को पछाड़ते हुए पहले पॉयदान पर अपना नाम स्वर्णिम अक्षरों में लिखवा लेगा। केंद्र की मोदी सरकार और प्रदेश के राज्य सरकारें अब कोरोना के संक्रमण में ढील देकर 2महीने से अधिक समय तक देश में लॉकडाउन से मिली सफलता से गदगद अब कोरोना संक्रमण के तेजी से फैलने के दौरान लॉक डाउन में पूरी तरह छूट देकर सारे किये कराये पर सिस्टम में बैठे रणबांकुरे देश को गर्त में गिराने की ओर अग्रसर हैं। जब देश में संक्रमण न के बराबर था तब देश में लॉकडाउन को बड़ी कड़ाई के साथ लागू किया गया और जब भारत में कोरोना का संक्रमण पौने दो लाख से अधिक हो गया है तो लॉकडाउन में इस कदर ढील देकर संक्रमण को आमंत्रण देने जैसा है। रणनीतिकारों की रणनीति समझ के परे है।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें