Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

गुरुवार, 14 मई 2020

राजधानी लखनऊ में कोरोना के 15 नए मरीज,13 सिर्फ कैसरबाग सब्जी मंडी के हैं

सील किया गया कैसरबाग इलाका...!!!
उत्तर प्रदेश के लखनऊ में कैसरबाग इलाका अब कोरोना का नया हॉटस्पॉट बन रही है। बुधवार को आई रिपोर्ट में 15 लोग कोरोना पाजिटिव पाए गए, इनमें से 13 अकेले कैसरबाग सब्जी मंडी के हैं। कैसरबाग मंडी से दूसरे इलाकों में सब्जी के साथ कोरोना संक्रमण की सप्लाई भी होने की आशंका है।लखनऊ के कैसरबाग मंडी में कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग यानी संक्रमितों के संपर्क में आए लोगों के ही सैंपल लिए जा रहे हैं। वहीं, इस मंडी से रोज सैकड़ो फुटकर व्यापारी सब्जी लेकर जाते थे,लेकिन इनका कोई ब्योरा नहीं है। इस मंडी में लगातार कोरोना के संक्रमित मरीज सामने आ रहे हैं। इनमें से ज्यादातर सब्जी के थोक कारोबारी हैं, जिनसे दूसरे इलाकों के फुटकर दुकानदार सब्जी खरीदते थे। कैसरबाग को हॉटस्पॉट बनाए जाने के बाद मंडी बंद है। इलाके में लगातार जांच भी हो रही है, लेकिन स्वास्थ्य विभाग और जिला प्रशासन की टीम उन फुटकर दुकानदारों का पता नहीं लगा पा रही, जो यहां संक्रमित मिले दुकानदारों से सब्जी खरीदकर दूसरे इलाकों में बेच रहे थे।
अड्डेबाजी ने बढ़ाई मुसीबत...!!!
लगातार मिल रहे पाजिटिव केस इससे पहले यहां चार मई से 8 मई के बच दस लोगों और 12 मई को तीन अन्य की रिपोर्ट पाजिटिव आई थी। इसी बीच यहां के दुकानदार से कोरोना संक्रमण फतेहगंज भी पहुंचा, जहां एक गुड़ व्यापारी की रिपोर्ट पाजिटिव आई है। इसके अलावा कैसरबाग के पास मछली मोहाल में भी पांच मई को एक और छह मई को 6लोग संक्रमित पाए गए थे। इस तरह कैसरबाग मंडी और इसके आसपास करीब 40 संक्रमित चिह्नित हो चुके हैं, लेकिन यहां से सब्जी खरीदने वालों का ब्योरा न होने के कारण उनकी जांच नहीं हो पा रही।
कोरोना पाजिटिव मिले मरीज आपस में दोस्त और जान-पहचान वाले ही हैं। कोरोना के नोडल अधिकारी डॉ. केपी त्रिपाठी ने बताया कि पूछताछ के दौरान संक्रमितों ने बताया कि वे सभी शाम को एक साथ बैठकी करते थे।
तीन दिन बाद लिए थे सैंपल...!!!
लालबाग में 28 अप्रैल को एक सब्जी विक्रेता कोरोना संक्रमित मिला था। वह कैसरबाग मंडी से सब्जी खरीदता था। इस जानकारी के बाद भी स्वास्थ्य विभाग की टीम तीन दिन तक शांत रही। विभाग की टीम चौथे दिन कैसरबाग मंडी में सैंपल लेने पहुंची। तीन मई को आई रिपोर्ट में दो आढ़ितयों और एक जनरल स्टोर संचालक में संक्रमण की पुष्टि हुई थी। इसके बाद इलाके को हॉटस्पॉट बना दिया गया था।
फुटकर दुकानदारों का ब्योरा नहीं...!!!
कैसरबाग मंडी में कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग यानी संक्रमितों के संपर्क में आए लोगों के ही सैंपल लिए जा रहे हैं। वहीं, इस मंडी से रोज सैकड़ो फुटकर व्यापारी सब्जी लेकर जाते थे, लेकिन इनका कोई ब्योरा नहीं है।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें