Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

मंगलवार, 5 मई 2020

बेहतर भविष्य के लिए बेहतर उपाय

भारत में शराब पाने के लिए किसी भी हद तक जा सकते हैं ये विशेष वर्ग के लोग...!!!
 इन्हें शराब की चाहत ने पागल बना दिया है...
लॉकडाउन में शराब की खरीद हेतु कैशलेश ब्यवस्था लागू कर सोशल डिस्टेंसिंग सहित देश में गरीबी का आधार तय करने हेतु सरकार को शराब की दुकानों पर कैशलेश की ब्यवस्था करनी चाहिए। शराब की नकद ख़रीददारी पर पूर्णतः प्रतिबंध लगा देना चाहिये। जब शराब की खरीद कैशलेश होगी तो पता चल जायेगा कि कितने लोंगो ने एक माह में कितने रुपये की शराब खरीदी...???
इस निर्णय से देश का भला होगा। आधी समस्या स्वतः खत्म हो जायेगी। इससे ये पता चल जायेगा कि सरकार जिसे गरीब मानते हुए राशन एवं नकदी की ब्यवस्था इस कोरोना महामारी के दौरान कर रही है वो असल में उसके पात्र नहीं है। चूँकि सरकार एक हजार जिसे गरीब समझकर उसके जीविकोपार्जन हेतु सहायता प्रदान कर रही है। वह एक माह में दो हजार की शराब ही पी रहा है। बहुत अच्छा समय है देश में गरीबी का आधार तय करने का...!!!

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें