जिसको ढूढ़ा गली-गली वो घर के पिछवाड़े मिली की कहावत को चरितार्थ कर दिया आशीष ओझा का टायसन

9:23:00 am 2 Comments Views

सरदार संदीप चावला के यहाँ से बरामद हुआ आशीष ओझा का टायसन। भगवा चुंगी बैंक ऑफ इंडिया के भवन स्वामी संदीप चावला ने आशीष ओझा के टायसन कुत्ते को चुराकर घर की छत पर रखा था,बाँध...!!!
आशीष ओझा अपने लेब्राडोर डॉग टायसन को खोजने वालों को 5100/रुपये पुरस्कार देने की घोषणा थी। टायसन के मिलने पर मुस्लिम महिला को दिया 5500/रुपये का ईनाम...!!! 
सरदार संदीप चावला...
नियति भी अजीब होती है। किसकी नियति कब और कहाँ डिग जाए, ये कहा नहीं जा सकता। अब एक करोड़ पति सरदार एक पालतू कुत्ते के लिए अपना ईमान खराब कर लिया। सरदार का ईमान भी खराब हुआ और कुत्ता भी हाथ नहीं आया। सरदार जी दुनिया की नजर में कुत्ता चोर बन गए। इतनी जलालत झेले कि सार्वजनिक रूप से चेहरा शर्म से झुक गया...!!!
 टायसन की हुई वापसी... 
ये है,टायसन। लेब्राडोर प्रजाति का यह डॉग है। इसके स्वामी आशीष ओझा निवासी गाँजी चौराहा हैं। 5मई को सुबह 4बजकर, 25 मिनट पर प्रतिदिन की भाँति इसे नित्यक्रिया के लिए आशीष ओझा इसे छोड़ दिये थे। परन्तु बंधन बैंक के सामने लोहिया पार्क के पीछे ये उछल कूद कर रहा था। ये स्वतः वापस आ जाता था,परन्तु उस दिन ये वापस नहीं आया। आशीष ओझा, उनके पुत्र गोलू एवं गोपाल ओझा अपने स्तर से टायसन को खोजने का प्रयास किये, परन्तु उन्हें सफलता नहीं मिली। टायसन की लोकेशन पंजाबी कालोनी गेट तक मिली थी...!!!
7 मई को बाबागंज से लेकर रामलीला मैदान में दिखी थी टायसन की लोकेशन। उसके बाद अचलपुर में देखा गया था, टायसन। बाद में सदर तहसील के पीछे एक मुस्लिम युवक टायसन को पकड़ कर अपने जोगापुर स्थित कालोनी ले गया। जहाँ से सरदार संदीप चावला ये कहकर टायसन को उठा लाये कि ये कुत्ता उनका है। इसीबीच किसी ने उस मुस्लिम दंपत्ति को सूचना दी कि ये  कुत्ता जिसका है वह उस पर 5100/ रुपये का ईनाम रखा है। फिर क्या था मुस्लिम महिला सरदार संदीप चावला पर राशन पानी के साथ चढ़ाई कर दी...!!!
सड़क पर होहल्ला होने से भीड़ एकत्र हो गई। एकत्र हुई भीड़ में किसी ने गोलू ओझा के फोन पर सूचना दी कि एक कुत्ते को लेकर विवाद हो रहा है। फिर क्या था ? गोलू, गोपाल और आशीष ओझा अपने वाहन चालक पवन श्रीवास्तव के साथ भगवाचुंगी जा पहुँचे। आशीष ओझा ने पहुँचते ही टायसन टायसन की आवाज दी तो वह छत पर भूकने लगा। अब बिना देर किये सरदार संदीप चावला से कुत्ता दिखाने की बात की जाने लगी तो वो टाल मटोल करने लगे। पहले तो उन्होंने बताया कि यह कुत्ता वो दो साल पहले ले आये थे और ये उनका कुत्ता है...!!!
वहाँ मौजूद लोंगो ने कहा कि कुत्ता दिखाने में उन्हें किस बात का भय है। जिसका कुत्ता होगा वो पता चल जायेगा। जैसे ही कुत्ता बाहर आया तो एक छलांग में ही आशीष ओझा के पास आ गया और उनके पाँव और हाथ को चाटने लगा। अब तक सरदार संदीप चावला के चेहरे की हवाइयां उड़ चुकी थी। आशीष ओझा अपने कुत्ते के साथ अपने घर आ गए। अब सरदार संदीप चावला को डर सताने लगा कि कहीं आशीष ओझा उन पर कानूनी कार्रवाई न करें। इसके लिए वो आशीष ओझा के घर आ गए। फिर तो सरदार जी जमकर गाली खाएं। बाद में लोंगो के बीच बचाव से मामला रफादफा हुआ...!!!
आशीष कुमार ओझा...
टायसन की खोज के लिये मेरे द्वारा लिखी खबर पर कई बुद्धिजीवी लोंगो ने मेरा मजाक भी उड़ाया था। कमेंट पास किये कि खुलासा इंडिया अब कुत्ता खोजने का कार्य करेगा। फिलहाल मैंने उस कमेंट का बुरा नहीं माना। परन्तु उन लोंगो को अवगत कराना चाहूँगा कि ये खुलासा इंडिया की खबर का असर रहा कि आशीष ओझा का कुत्ता कल सकुशल सुबह 10बजे मिल गया। साथ ही मुस्लिम महिला को आशीष ओझा द्वारा घोषित पुरस्कार 5100/ रुपये की जगह 5500/रुपये दिये गए। जब मंत्री रहे आजम खां की भैंस डीजीपी तक खोज रहे थे तो उस वक्त कोई प्रतिक्रिया नहीं किया। भैंस की बरामदगी पुलिस ने सही किया या गलत ये तय नहीं हो सका। परंतु खुलासा इंडिया के सार्थक प्रयास ने एक पालतू वफ़ादार जानवर को उसके स्वामी से जरूर मिलाने का कार्य किया...!!!

rameshrajdar

एक खोजी पत्रकार की सत्य खबरें जिन्हे पूरा पढ़े बिना आप रह ही नहीं सकते हैं ,इस खबर को पढ़ने के लिए............| Google || Facebook

2 टिप्‍पणियां:

  1. इसमें सरदार कैसे चोर हुआ चोर तो मुस्लिम है उसी को 5500 वाह

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. खबर पूरी तरह से पढ़िए फिर समझ में आएगा कि चोर मुस्लिम महिला थी कि सरदार था...???

      हटाएं