Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

रविवार, 10 फ़रवरी 2019

पूर्व सीबीआई निदेशक नागेश्वर राव के दो ठिकानों पर बंगाल पुलिस ने की छापेमारी

नागेश्वर व उनकी पत्नी के 2 ठिकानों पर कोलकाता पुलिस ने ममता सरकार के आदेश पर डाली रेड...!!!
"दीदी" के विश्वासपात्र कमिश्नर राजीव पर है हजारों करोड़ के शारदा घोटाले में सबूत छिपाने व नष्ट करने के आरोप...!!!
सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर कमिश्नर CBI मुख्यालय शिलांग रवाना,जहाँ होगी पूछताछ...!!!
केंद्र सरकार के प्रतिउत्तर में देखा जा रहा ममता का ये कदम,सियासत होगी गर्म...!!!

कोलकाता पुलिस ने सीबीआई के पूर्व निदेशक नागेश्वर राव से जुड़ी कंपनियों पर छापा मारा है। राव के जिन ठिकानों पर पुलिस ने छापा मारा वह एक कोलकाता में है और दूसरा साल्ट लेक में उनकी पत्नी एंजेलीना मर्सेन्टाइल प्राइवेट लिमिटेड है

सीबीआई के पूर्व अंतरिम निदेशक नागेश्वर राव... 
कोलकता। आम चुनाव का समय करीब है और इससे पहले मोदी सरकार और ममता सरकार के बीच सियासी जंग तेज हो गया है। दरअसल सीबीआई को लेकर छिड़े विवाद के बीच शुक्रवार को सीबीआई के अंतरिम निदेशक रह चुके एम नागेश्वर राव और उनकी पत्नी के दो ठिकानों पर बंगाल पुलिस ने छापेमारी की। बता दें कि पुलिस ने पहला छापेमारी कोलकाता ताथा दूसरी सॉल्ट लेक स्थित नागेश्वर राव की पत्नी की कंपनी एंजेलिना मर्केंटाइल प्राइवेट लिमिटेड पर हुई है। इस छापेमारी को लेकर सियासी गलियारों में हलचल तेज हो गई है। माना जा रहा है कि सीबीआई पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार से पूछताछ करने वाली है। इसी को लेकर ममता की पुलिस ने ये कार्रवाई की है। हालांकि अब एम नागेश्वर राव ने एक ज्ञापन जारी किया है और अपनी सफाई दी है। बता दें कि एंजेला मर्केंटाइल्स प्राइवेट लिमिटेड एक गैर-बैंकिंग वित्त कंपनी है जिसे फरवरी 1994 में शुरू की गई थी। शशि अग्रवाल, प्रतीक अग्रवाल, प्रवीण अग्रवाल और सुनील कुमार अग्रवाल एएमपीएल कंपनी के निदेशक हैं। 
आपको बता दें कि बीते रविवार को ममता बनर्जी के करीबी माने जाने वाले कोलकाता पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार के आवास पर सीबीआई की टीम शारदा चिटफंड घोटाले में पूछताछ करने के लिए पहुंची थी। लेकिन पुलिस ने अधिकारियों को हिरासत में ले लिया। इसके बाद से पूरा मामला सियासी हो गया। ममता बनर्जी ने सीबीआई की कार्रवाई को लेकर मोदी सरकार के खिलाफ हमला बोल दिया। ममता बनर्जी मोदी सरकार के खिलाफ धरने पर बैठ गई। हालांकि सीबीआई ने इसे सुप्रीम कोर्ट में चैलेंज किया। सुप्रीम कोर्ट ने आदेश जारी करते हुए राजीव कुमार से कहा कि सीबीआई पूछताछ में सहयोग करें। अब राजीव कुमार शिलांग के लिए रवाना हो चुके हैं। सीबीआई उनसे वहीं पूछताछ करेगे। सीबीआई ने कहा था कि राजीव कुमार ने तथ्यों को छुपाया है और पूरी जानकारी मुहैया नहीं कराई है। शारदा चिटफंड घोटाले से संबंधित कुछ ऐसे सबूत हैं जिन्हें सीबीआई को नहीं सौंपा गया है। बता दें कि अब देखना दिलचस्प होगा कि राजीव कुमार से पूछताछ में सीबीआई को किया सबूत मिलते हैं और पश्चिम बंगाल की राजनीति के साथ देश की राजनीति में सीबीआई विवाद को किया असर पड़ता है।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें