सेना ने शुरू किया 44 जवानों की शहादत का बदला लेना, मास्‍टरमाइंड समेत 2 आतंकी ढेर

1:33:00 pm 0 Comments Views

पुलवामा के पिंगलान इलाके में हमले के मास्टरमाइंड टॉप आतंकी गाजी अब्दुल राशिद व कामरान...!!! 
मसूद अज़हर का ख़ास था राशिद,आत्मघाती हमलावर अहमद डार को दी थी ट्रेनिंग...!!! 
दक्षिण कश्‍मीर के पुलवामा में 14 फरवरी को हुए आतंकी हमले का बदला 100 घंटों के अंदर सेना ने ले लिया है। पुलवामा के पिंगलान इलाके में रविवार देर रात से एनकाउंटर चल रहा है। इस एनकाउंटर में जैश-ए-मोहम्‍मद के दो टॉप आतंकियों के मारे जाने की खबरें आ रही हैं। बताया जा रहा है कि इस एनकाउंटर में सीआरपीएफ के जवानों पर हुए आतंकी हमले की साजिश में शामिल आतंकी गाजी अब्‍दुल राशिद और एक और टॉप आतंकी कामरान को भी ढेर कर दिया गया है। गाजी वही आतंकी था जिसने सीआरपीएफ कॉन्‍वॉय पर आत्‍मघाती हमले में शामिल आदिल अहमद डार को ट्रेनिंग दी थी।
आईईडी एक्‍सपर्ट था गाजी...!!! 
पुलवामा के अवंतिपोरा में हुए हमले का मास्‍टरमाइंड डार नहीं बल्कि पाकिस्‍तान का जैश आतंकी गाजी अब्‍दुल राशिद ही था। गाजी ने ही डार को हमले के लिए ट्रेनिंग दी और उसे आईईडी में एक्‍सपर्ट बनाया। सुरक्षा एजेंसियों की मानें तो गाजी एक आईईडी एक्‍सपर्ट था और उसने ही इस पूरे हमले को अंजाम तक पहुंचाया था। गाजी राशिद पिछले वर्ष दिसंबर माह के मध्‍य में कश्‍मीर में दाखिल हुआ था। गाजी को जैश के सरगना मौलाना मसूद अजहर ने अपने दो भांजों की मौत का बदला लेने के लिए भेजा था। मसूद अजहर के भांजे तल्‍हा राशिद और और उस्‍मान साल 2017 और 2018 में एक एनकाउंटर में मारे गए थे। दोनों को पुलवामा में ही हुए एनकाउंटर में सुरक्षा एजेंसियों ने ढेर कर दिया था। इसके बाद गाजी ने पुलवामा में ही अजहर के भांजों की मौत का बदला लेने का फैसला किया।
मसूद अजहर का सबसे करीबी...!!! 
इंटेलीजेंस सूत्रों की मानें तो गाजी राशिद पुलवामा के रात्‍नीपोरा में गांव में 12 फरवरी को हुए एक एनकाउंटर में बच निकला था। उस एनकाउंटर में जैश का एक लोकल आतंकी मारा गया था लेकिन तीन आतंकी भाग निकलने में कामयाब हो रहे थे। सेना के जवान एचवी बलजीत भी इसी एनकाउंटर में शहीद हो गए थे। गाजी, मसूद अजहर का सबसे खास था और अजहर उस पर काफी भरोसा करता है। साल 2008 में गाजी जैश का हिस्‍सा बना था। 32 वर्ष के गाजी को तालिबान ने अफगानिस्‍तान में ट्रेनिंग दी थी।

rameshrajdar

एक खोजी पत्रकार की सत्य खबरें जिन्हे पूरा पढ़े बिना आप रह ही नहीं सकते हैं ,इस खबर को पढ़ने के लिए............| Google || Facebook

0 टिप्पणियाँ: