Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

मंगलवार, 1 मई 2018

STF की कामयाबी या छलावा

पुलिस के खुलासे से मृतक सत्यम शुक्ल के माता-पिता नहीं हैं,संतुष्ट...!!
सत्यम शुक्ल हत्याकांड में माँ की तहरीर पर नामजद पाँचों आरोपियों को प्रतापगढ़ स्थानीय पुलिस आज तक उन्हें छुआ तक नहीं l विवेचना अधिकारी रहे आशुतोष त्रिपाठी जी से परिजन कई बार मिले परन्तु उन्हें उनसे न्याय की उम्मीद से तंग आकर सूबे के मुखिया योगी आदित्य नाथ जी का जनपद प्रतापगढ़ में कार्यक्रम लग गया l जब इस बात की जानकारी सत्यम शुक्ल के पिता मुन्ना शुक्ल को हुई तो कंधई मधुपुर में जिस जगह उनकी शाम को चौपाल लगनी थी,उस स्थल पर मुन्ना शुक्ल सुबह से लाइन लगाए रहे l उनकी मेहनत उस समय सफल हो गई जब मुख्यमंत्री जी चौपाल पर जनता से उनकी समस्या को सुन रहे थे l मुन्ना शुक्ल ने बताया कि उनका आवेदन मुख्यमंत्री जी स्वयं अपनी जेब में रखे थे l मुन्ना शुक्ल को उस वक्त भरोसा हुआ कि उनके प्रकरण में उन्हें न्याय जरुर मिलेगा l मुख्यमंत्री के जाते ही पंचम ताल पर बैठे मुख्यमंत्री के सचिव डॉ आदर्श सिंह ने मुन्ना शुक्ल के आवेदन को एस पी प्रतापगढ़ के लिए फारवर्ड कर दिया और मुख्यमंत्री के पोर्टल पर उसका रजिस्ट्रेशन कर उस पर अपलोड कर दिया l मुन्ना शुक्ल के मोबाइल पर जब इसका SMS आया तो मुन्ना शुक्ल का मनोबल और बढ़ गया,परन्तु कल शाम को जिस अंदाज में STF के द्वारा सत्यम शुक्ल की हत्या का राज़फाश किया गया,उससे मुन्ना शुक्ल और उनकी पत्नी संतुष्ट नहीं है l मुन्ना शुक्ल का कथन है कि जब वादी/वादिनी मुकदमा ने नामजद प्राथमिकी दर्ज कराई थी तो स्थानीय पुलिस और विवेचना अधिकारी अभी तक उन्हें आजाद घूमने के लिए छोड़ रखे हैं l आखिर किस वजह से उनकी गिरफ्तारी नहीं की गई ? STF द्वारा जिन दो लड़को के नाम का खुलासा किया गया,उससे परिजन संतुष्ट नहीं l जब मृतक के परिजनों से सवाल किया गया कि अब उनका अगला कदम क्या होगा तो उनका टका सा जबाब था कि उनका प्रकरण मुख्यमंत्री के संज्ञान में है l वो अपनी फरियाद पुनः मुख्यमंत्री तक पहुँचायेगे l उनका प्रथम और अंतिम उद्देश्य सिर्फ और सिर्फ असली अपराधी को सजा दिलाने का है l उनका ये कहना है कि जो दो लड़को को STF की पुलिस ने उठाया है वो हत्या में शामिल थे या नहीं,परन्तु उनके द्वारा दी गई तहरीर पर नामजद अभियुक्त को पुलिस अपना संरक्षण दे रही है इस बात से उन्हें अत्यंत कष्ट और वेचैनी है l असली अपराधी को सजा मिले इसके लिए वो लोग अंतिम दम तक लड़ने के लिए दृढ़ संकल्पित हैं l

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें