Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

बुधवार, 21 मार्च 2018

प्रतापगढ़ महोत्सव में बड़े घोटाले होने की प्रबल सम्भावना-आशुतोष पाण्डेय

प्रतापगढ़ महोत्सव एवं सांस्कृतिक उत्थान समिति प्रतापगढ़ के कोषाध्यक्ष को ही नहीं पता कि प्रतापगढ़ महोत्सव में कितने रूपये खर्च हुए हिसा...???    
 प्रतापगढ़ महोत्सव में श्रीराम भारतीय कला केंद्र,नई दिल्ली का बजट...
प्रतापगढ़। राजकीय इंटर कॉलेज परिसर में आयोजित चार दिवसीय प्रतापगढ़ महोत्सव में नामचीन कलाकारों की प्रस्तुति यू ही नहीं हुई। महोत्सव में लगभग 50 लाख रुपये का खर्च होने का अनुमान है। जिलाधिकारी और उनकी पत्नी को खुश करने के लिए प्रतापगढ़ महोत्सव का रंगारंग कार्यक्रम आयोजित किया गया। जो पैसा शासन के सांस्कृतिक विभाग से मिलेगा वो तो मिलेगा ही,परन्तु जनपद में विभिन्न विभाग के कार्यालय अध्यक्षों से सहयोग राशि लेने की जानकारी हुई । महोत्सव को सम्पन्न हुए तीन दिन बीत गए,परन्तु प्रतापगढ़ के अधिकारियों  की अभी खुमारी नहीं उतरी l महोत्सव में कुल कितने  पैसे खर्च हुए इसकी जानकारी के लिए जब पदेन उपाध्यक्ष/मुख्य विकास अधिकारी,प्रतापगढ़ से इस संदर्भ में बात किया तो उन्होंने  सचिव से  बात करने की बात करके अपना पल्ला झाड़ लिया l महोत्सव में सचिव की भूमिका का निर्वहन करने वाले उप निदेशक कृषि,प्रतापगढ़ से बात किया तो उन्होंने कोषाध्यक्ष की भूमिका का निर्वहन करने वाले जिला कृषि अधिकारी, प्रतापगढ़ से  इस  सम्बन्ध में बात किया तो उन्होंने पूरे प्रकरण से पल्ला झाड़ते हुए कहा कि उन्हें  जिलाधिकारी महोदय जबरन कोषाध्यक्ष बना दिए थे l उन्हें वास्तव में महोत्सव में क्या खर्च आया इसकी जानकारी उन्हें नहीं है l  

प्रतापगढ़ महोत्सव का पहला बिल प्रकाश में आया...

सूत्रों के मुताविक प्रतापगढ़ में सम्पन्न हुए महोत्सव के प्रकरण को जिले के नोडल अधिकारी/प्रमुख सचिव जगत राज ने भी संज्ञान लिया है l जिले में विकास कार्यों की समीक्षा के लिए दो दिन से रुके नोडल अधिकारी जगत राज आज पी डब्लू डी डाक बंगले में अधिकारियों के साथ महोत्सव के खर्च पर विस्तार से चर्चा किया l कई अधिकारियों को प्रमुख सचिव ने डांटा भी l उनके जाने के बाद महोत्सव से जुड़े अधिकारी राहत की सांस लिए l प्रतापगढ़ महोत्सव में हुए खर्च का हिसाब-किताब सार्वजनिक करने के लिए समाजवादी पार्टी के जिला सचिव आशुतोष पाण्डेय ने बीड़ा उठाया है l उन्होंने ऐलान किया है कि प्रतापगढ़ महोत्सव में ब्यापक पैमाने पर अनियमितता करने का मामला प्रकाश में लाने हेतु सुचना अधिकार अधिनियम-2005 के तहत जिलाधिकारी कार्यालय से प्रार्थना पत्र देकर महोत्सव में हुए खर्च का विवरण एकत्र कर उसे सार्वजनिक किया जायेगा l यदि महोत्सव के नाम पर आयोजन समिति से जुड़े लोग घपले व घोटाले किये होंगे तो उनकी शिकायत भी होगी और उनसे रिकवरी भी कराने का प्रयास किया जाएगा l उसके लिए हर स्तर पर लड़ाई लड़ी जायेगी l 



कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें