Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

शनिवार, 10 फ़रवरी 2018

तंत्र में बैठे हुक्मरान बेरोजगारों को रोजगार देने में भले ही असफल हों,पर कम से कम उनका अपमान भी न करें

प्रधानमंत्री पकौड़ा रोजगार योजना... 
 पकौड़ा वार 
चाय बेचने वाला देश का प्रधानमंत्री बन जाये,तो ये हमारे लोकतंत्र की सुंदरता का अहसास है,परन्तु कोई प्रधानमंत्री बनकर चाय बेंचे,ये उसके प्रोटोकॉल का उल्लंघन और देश का अपमान है। ठीक इसी तरह अगर कोई पकौड़े वाला अच्छी पढ़ाई करके इंजीनियर व डॉक्टर बने तो ये हमारे शिक्षातंत्र की खूबसूरती है,परन्तु कोई छात्र इंजीनियरिंग व एम बी बी एस अथवा बीएड करके कोई पकौड़े की दुकान लगाकर उसे अपना जीविकोपार्जन का साधन बनाये तो ये हमारे शिक्षा तंत्र की कमजोरी और सरकार का अपमान है।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें