Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

गुरुवार, 8 फ़रवरी 2018

आनंद शर्मा का झूठ

सतीश चन्द्र मिश्र की कलम से...
       कल राज्यसभा में भाषण देते समय राज्यसभा में आनंद शर्मा ने नेहरू गांधी परिवार का जयगान करते हुए देश की आज़ादी के लिए नेहरू के महान बलिदान का राग जब अलापा तो आनंद शर्मा को सरासर झूठ का सहारा लेना पड़ा। आनंद शर्मा अपने माथे और गले की नसें फुलाकर अपने दांत पीसते हुए बड़ी उत्तेजित मुद्रा में दावा किया कि नेहरू ने 14 साल जेल में गुजारे। यह दावा करते समय आनंद शर्मा को भलीभांति यह मालूम था कि वो सरासर झूठ बोल रहा है। क्योंकि मुझे नहीं लगता कि अपना पूरा जीवन कांग्रेस में गुजार कर राज्यसभा में दल के उपनेता का पद सम्भाल रहे आनंद शर्मा को नेहरू के बारे में जानकारी नहीं होगी। अब जानिए कि जिस देश की आज़ादी की लड़ाई में चन्द्रशेखर आज़ाद, भगत सिंह, रामप्रसाद बिस्मिल, अशफ़ाक़उल्लाह खान सरीखे 7 लाख लोग बलिदान हो गए उस आज़ादी की लड़ाई में कांग्रेस के सबसे बड़े नेता जवाहर लाल नेहरू ने अपने पूरे जीवनकाल में 10 किस्तों में कुल 8 साल 9 महीने 3 दिन जेल काटी, ये जेल यात्रायें भी भाषण देने, निषेधाज्ञा का उल्लंघन करने. जबरन दुकाने बंद कराने सरीखे अत्यंत साधारण आरोपों में की गयी थीं. नेहरू की जेल यात्राओं का तिथिवार हिसाब किताब कुछ इस तरह है -
 कांग्रेसी नेता आनंद शर्मा... 
1. 6 दिसंबर 1921 को गिरफ्तार हुई. इसके 2 महीने 25 दिन बाद 3 मार्च 1922 को रिहा कर दिया गया.

2. 11 मई 1922 को गिरफ्तार हुई. इसके 8 महीने 15 दिन बाद 26 जनवरी 1923 को रिहा कर दिया गया.

3. 19 सितम्बर 1923 को को गिरफ्तार हुई. इसके 24 दिन बाद 6 अक्टूबर 1923 को रिहा कर दिया गया.
4. 14 अप्रैल 1930 को गिरफ्तार हुई. इसके 5 महीने 27 दिन बाद 11 अक्टूबर 1930 को रिहा कर दिया गया.
5. 19अक्टूबर 1930 को गिरफ्तारी हुई. इसके 3 महीने 7 दिन बाद 26 जनवरी 1931 को रिहा कर दिया गया.
6. 26 दिसंबर 1931 को गिरफ्तारी हुई. इसके एक वर्ष 8 महीने 4 दिन बाद 30 अगस्त 1933 को रिहा कर दिया गया.
7. 12 फ़रवरी 1934 को गिरफ्तारी हुई. इसके 1 वर्ष 8 महीने 24 दिन बाद 4 सितम्बर 1935 को रिहा कर दिया गया.
8. 31 अक्टूबर 1940 को गिरफ्तारी हुई. इसके 1 वर्ष 1 महीने 4 दिन बाद 4 दिसम्बर 1941 को रिहा कर दिया गया.
9. 19 अक्टूबर 1930 को गिरफ्तारी हुई. इसके 3 महीने 7 दिन बाद 26 जनवरी 1931 को रिहा कर दिया गया.
10. 9 अगस्त 1942 को गिरफ्तारी हुई. इसके 2 वर्ष 10 महीने 16 दिन बाद 25 जून 1945 को रिहा कर दिया गया.
कुल 8 साल 9 महीने 3 दिन. ध्यान रहे कि कल आनंद शर्मा दावा कर रहा था कि नेहरू 14 साल जेल में बंद रहे।
       जवाहर लाल नेहरू से भी बड़े कांग्रेसी नेता मोहनदास करमचंद गांधी के भीषण स्वतंत्रता संग्राम का इतिहास 6 किस्तों में कुल 5 साल 9 महीने 12 दिन की जेल यात्राओं का है. इसका भी तिथिवार विवरण है मेरे पास. यहाँ लिखूंगा तो पोस्ट और लम्बी हो जाएगी। हमारा आपका यह दायित्व है कि देश को आज़ादी दिलाने की इकलौती ठेकेदार होने का का दावा करनेवाली कांग्रेस से यह पूछा जाए कि जिस देश की आज़ादी की लड़ाई में चन्द्रशेखर आज़ाद, भगत सिंह, रामप्रसाद बिस्मिल, अशफ़ाक़उल्लाह खान सरीखे 7 लाख देशभक्तों ने अपना जीवन बलिदान कर दिया उस देश की आज़ादी की लड़ाई में 1885 से 1947 तक 62 साल की अवधि में कांग्रेस के शीर्ष 500 नेताओं में से कितने नेताओं को ब्रिटिश शासकों ने गोली मारी...? या सजा-ए-मौत दी ? या आजीवन कारावास दी ? या कालापानी भेजा ? या कितने कांग्रेसी नेताओं ने लगातार 10 साल जेल में गुजारे...?
...तो जबाब होगा-कोई नहीं...!!!

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें