Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

गुरुवार, 25 जनवरी 2018

मदाफरपुर बाजार पर भूमाफियाओं के विरुद्ध कड़ी कार्यवाही के लिए एकत्र हुआ जिला प्रशासन

एंटी भूमाफिया सेल हुआ सक्रिय... 
प्रशासन की मुहीम से सकते में भूमाफिया...!!!
 मदाफरपुर बाजार का वो तालाब जहाँ वर्षो से लगती थी,बाजार 
प्रतापगढ़। सूबे में योगी सरकार बनते ही भूमाफियाओं की जन्म कुंडली बनाने के लिए एंटी भूमाफिया सेल का गठन जिलावार किये जाने का फैसला किया गया जनपद प्रतापगढ़ में भी एंटी भूमाफिया सेल का गठन किया गया। राजस्व मामले में शान्ति ब्यवस्था बनाये रखने के लिए पुलिस बल की आवश्यकता होती है,लिहाजा इस  बार योगी सरकार ने सप्ताह में दो दिन गुरुवार और शनिवार को राजस्व विभाग और पुलिस की संयुक्त टीम बनाकर राजस्व के प्रकरण को निपटाने का कार्य सम्पन्न कराने का निर्देश योगी सरकार ने जारी किया है। जनपद प्रतापगढ़ में भूमाफियाओं पर नकेल कसने के लिए अभी तक जिला प्रशासन द्वारा कुछ विशेष कार्य नहीं हुआ,परन्तु इधर बीच जिलाधिकारी प्रतापगढ़ ने शख्ती दिखाई तो आज पट्टी तहसील के मंगरौरा ब्लाक के मदाफरपुर ग्राम सभा में सुबह-सुबह मयफोर्स एक गाड़ी PAC के साथ आ धमके। चूँकि मदाफरपुर काफी पुरानी बाजार है और जो भूमि और तालाब की जांच के लिए उप जिलाधिकारी पट्टी जे पी मिश्र पहुंचे थे,उस भूमि और तालाब पर कई वर्षों से सोमवार और गुरुवार को बाजार लगती है। 
 पट्टी रोड़ पर करोड़ो रुपये की सरकारी भूमि पर किया गया अतिक्रमण... 
जिला प्रशासन के निर्देशन पर उप जिलाधिकारी पट्टी जे पी मिश्र और क्षेत्राधिकारी पट्टी सहित कोहड़ौर कोतवाली के प्रभारी निरीक्षक व राजस्व टीम सहित एक गाड़ी PAC लिए पूरी मुश्तैदी के साथ राजस्व ग्राम मदाफरपुर और चनुआडीह बार्डर पर जहां सैकड़ो वर्ष से मदाफरपुर बाजार लगती रही वहां बाजार लगने से पहले ही पहुंचकर 8 बीघे तालाब की अराजी सहित ग्राम समाज की भूमि की पैमाइश कराने के लिए सबको तितर-वितर कर अपनी पैमाइश की कार्यवाही शुरू की। आज गुरुवार का दिन था और आज मदाफरपुर बाजार का साप्ताहिक दिन भी था, लिहाजा शुरुवात में दबंग व मनबढ़ बाजार मालिक अरविन्द जायसवाल और सोनू जायसवाल प्रशासन से कुछ दबंगई दिखाना चाहे, जिस पर उप जिलाधिकारी,पट्टी जे पी मिश्र ने उन्हें उनकी ही भाषा में समझाकर उन दोनों को शांत रहने के लिए मजबूर कर दिया। सबसे बड़ा सवाल यह है कि जिस स्थल पर सैकड़ो वर्ष से मदाफरपुर बाजार लगती रही और सालभर में एक बार स्थानीय मेला भी लगा करता था और प्रशासनिक लोग उसमें सरीक भी होते रहे,परन्तु उस समय उस पर कोई ध्यान नहीं दिया। तालाब पाटकर बाजार लगवाना और सरकारी भूमि पर अवैध कब्ज़ा कर उस पर पक्का निर्माण कराकर उसका ब्यवसायिक लाभ कई वर्षो से बाजार मालिक लेता रहा और राजस्व विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों की आँख में क्या मोतियाविन्द हुई थी,जो अभी तक नहीं दिखा ?
 सरकारी भूमि पर अतिक्रमण कर बना लिया राईस मील 
दोहरा चरित्र वाले राजस्व विभाग के कर्मचारियों को पैमाइश करने पर पता चला कि उक्त तालाब, पड़ोसी राजस्व ग्राम चनुआडीह का बार्डर पर स्थित है, जिसका लाभ बाजार मालिक अरविन्द जायसवाल और उसके पूर्वज राधेश्याम जायसवाल एवं बच्चा शाहू जी लेते आ रहे थे, परन्तु राजस्व कर्मचारियों को तब तक कुछ नहीं दिखा जब तक शासन व प्रशासन की इच्छाशक्ति मरी हुई थी सही बात यही है कि जब तक किसी को राजनैतिक संरक्षण प्राप्त रहता है,तब तक उसका शासन व प्रशासन भी बाल बांका नहीं कर पाता और जैसे ही राजनैतिक संरक्षण समाप्त हो जाता है तो वही शासन व प्रशासन उसके गले की फांस बन जाता है आज उसी शासन व प्रशासन द्वारा जब भूमाफियाओं के विरुद्ध शिकंजा कसा गया तो जो सच सामने आया उसे देख व सुनकर लोग दंग रह गए। उक्त तालाब जहां बाजार लगा करती है, उसका रकबा 7 बीघे का है और उस तालाब को पाटकर बाजार मालिक वर्षो से वहां बाजार लगवाता रहा और उसके एवज में बैठकी के नाम पर बनियों से पैसा वसूलता रहा यही नहीं चनुआडीह और मदाफरपुर दोनों राजस्व ग्राम में कई बीघे सरकारी जमीन पर अबैध कब्जा कर बाजार मालिक अरविन्द जायसवाल उर्फ पप्पू व सोनू जायसवाल सप्ताह के दो दिन उस पर बाजार लगवाकर अभी तक धनार्जन करते रहे। तालाब में मछली पालन कर उसका भी लाभ उठाते थे। साथ ही अवैध रूप से कब्जा कर जबरन हथियाई गई सरकारी भूमि पर स्थाई रूप से निर्माण कर उस पर कई तरह के ब्यवसाय करने में बाजार मालिक अरविन्द जायसवाल उर्फ पप्पू व सोनू जायसवाल सप्ताह मशगूल रहे
अतिक्रमण की शिकार हुई मदाफरपुर मंडी समिति...
कोहड़ौर कोतवाली क्षेत्र के मदाफरपुर ग्राम सभा में कई बर्षो से उक्त तालाब पर से अवैध कब्जे को  खाली करवाये जाने का प्रयास स्थानीय लोगों द्वारा किया जा रहा था,परन्तु स्थानीय लोगों को अभी तक सफलता नहीं मिल सकी थी। आज तहसील प्रशासन भारी पुलिस बल के साथ कड़ी मशक्कत से अरविंद जायसवाल व सोनू द्वारा किये गए अवैध कब्जे को खाली करवाने में सफल रहा। एस डी एम पट्टी के साथ सी ओ सिटी, एक गाड़ी पी ए सी और कोहड़ौर थाने के  कोतवाल मयफ़ोर्स पूरे दिन मदाफरपुर बाजार में उस तालाब को खाली कराने के लिए डटे रहे। उप जिलाधिकारी,पट्टी जे पी मिश्र ने बताया कि बाजार मालिक अरविन्द जायसवाल उर्फ पप्पू और सोनू सरकारी भूमि पर अवैध रूप से कब्जा कर अभी तक उसका कई तरीके से लाभ लेते रहे,जिसे आज उनसे खाली कराया गया और भूमाफियाओं की श्रेणी में इनका नाम शामिल कर लिया गया है। इन पर सरकारी भूमि और तालाब पर अतिक्रमण कर अवैध निर्माण करने के विरुद्ध कार्यवाही कराई जायेगी और सुसंगत धाराओं में मुकदमा भी लिखाया जाएगा...!!!  

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें