Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

शुक्रवार, 17 नवंबर 2017

सदर विधायक संगम लाल गुप्ता को उचित सम्मान न मिलने से समर्थको में हुई नाराजगी

मान न मान, मैं तेरा मेहमान...
भाजपा उम्मीदवार को नहीं है किसी पर भरोसा...
  सदर विधायक संगम लाल गुप्ता को उचित सम्मान न मिलने से समर्थको में हुई नाराजगी 
प्रतापगढ़। नगर पालिका प्रत्याशी प्रेमलता पत्नी हरिप्रताप सिंह ने अपने गुरुरता यानि घमंड  का परिचय देते हुए बनिया वर्ग संम्मान के साथ खिलवाड़ किया। प्रतापगढ़ (सदर) विधायक संगमलाल गुप्ता का समर्थन तो भाजपा उम्मीदवार चाहते हैं,परंतु उनका सम्मान उन्हें नहीं देना चाहते। उनकी एक अदद तस्वीर भी नुक्कड़ सभा के लिये बने बैनर पर नहीं है। ये कार्य हरि प्रताप शुरू से किये। पहले जिला संगठन के समक्ष उम्मीदवारी का आवेदन का न देना। फिर भी भाजपा के मठाधीश बिकाऊ नेतृत्व उन्हें टिकट दिया। अधिसूचना के पहले भी सिर्फ अपने भतीजे के साथ होर्डिग्स लगवाए और जिला संगठन के किसी भी पदाधिकारी की फोटो होर्डिग्स में न लगाना उस कहावत को चरितार्थ करता है कि माई धिया गवनहरी,बाप-पूत बराती। किसी की फोटो को स्थान न देना और सबका सहयोग और साथ की अपेक्षा करना कहां तक जायज है...? ऐसा करना  बेहद ही निंदनीय है और सरकार के उस नारे का अपमान भी है कि  सबका साथ,सबका विकास। सबका सम्मान,सबका साथ।विधायक संगम लाल जी ने अपनी सरलता का परिचय देते हुए इनके प्रचार में दिन रात मेहनत कर रहे हैं। वहीं नगर पालिका प्रत्याशी प्रेमलता पत्नी हरि प्रताप ने 86 हज़ार जनता के भावनाओं के साथ भद्दा मजाक किया जिन्होंने 10 माह पहले सदर विधान सभा के इतिहास को बदलकर 30 हजार से अधिक मतों से जीत दिलाई। तब भाजपा और अपना दल एस का गठबंधन था। निकाय चुनाव में गठबंधन न होते हुए पार्टी की तरफ से पूरी आजादी कि वो किसी का समर्थन करें, इसके बावजूद विधायक संगम लाल भाजपा उम्मीदवार के मंच को साझा किया,परंतु उनके इस अपमान से उनके समर्थकों में खासी नाराजगी है। ये तो वही हाल हुई मान न मान,मैं तेरा मेहमान...!!!

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें