Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

मंगलवार, 7 नवंबर 2017

सत्ता सुख क्या न करा दे...???

जौनपुर के खुटहन में ब्लाक प्रमुख के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव के दौरान फायरिंग,छह घायल,सत्रह लोग हिरासत में...
प्रतापगढ़ के सांसद कुंवर हरिवंश सिंह अपनी खोई होई खुटहन ब्लाक प्रमुखी हथियाना चाहते हैं,जिसे लेकर नामांकन से लेकर अभी तक संग्राम मचा हुआ है...

ब्लाक प्रमुख खुटहन के खिलाफ बीडीसी सदस्यों ने उठाई आवाज...

ब्लाक प्रमुख खुटहन के खिलाफ बीडीसी सदस्यों ने शुक्रवार को आवाज उठाई। ब्लाक प्रमुख सरयू देई के विरुद्ध प्रस्ताव लाने के लिए यहां के 86 बीडीसी सदस्यों ने शपथ पत्र पर हस्ताक्षर किया है जिसे लेकर 76 सदस्य जिलाधिकारी सर्वज्ञ राम मिश्र से मिले। खुटहन ब्लाक में कुल 109 बीडीसी सदस्य हैं। अधिकारियों के मुताबिक इनमें 86 सदस्य ब्लाक प्रमुख सरयू देई के खिलाफ खड़े हो गए हैं। इन्होंने प्रमुख के खिलाफ बीडीसी सदस्य शामिल रहीं। ये सभी वार्ड नम्बर 17 धिरौली नानाकार प्रथम के क्षेत्र पंचायत सदस्य रवीन्द्र गुप्ता की अगुवाई में दोपहर 2 बजे डीएम से मिलने पहुंचे, परंतु उन्होंने साढ़े तीन बजे का समय दिया। सभी सदस्य कलेक्ट्रेट में ही डेढ़ घंटे तक जमे रहे। इन्हें लेकर सियासी गलियारे में चर्चा होती रही। अविश्वास प्रस्ताव लाने के लिए शपथ पत्र दिया है,जिन्हें लेकर 76 क्षेत्र पंचायत सदस्य दोपहर कलेक्ट्रेट पहुंचे। इनमें ज्यादातर महिला शाम साढ़े तीन बजे क्षेत्र पंचायत सदस्यों ने डीएम को अविश्वास प्रस्ताव सौंपा। वार्ड नम्बर 97 मरहट से क्षेत्र पंचायत सदस्य त्रिभुवन सिंह ने बताया कि जिलाधिकारी ने आश्वासन दिया है कि 30 दिन के अंदर कार्यवाही पूरी कर ली जाएगी।
प्रतापगढ़ सांसद कुंवर हरिवंश सिंह एवं पूर्व मंत्री ललई राम...
जौनपुर में ब्लाक प्रमुख खुटहन सरयू देवी के खिलाफ लाए गए अविश्वास प्रस्ताव पर सोमवार को मतदान के दौरान दोनों पक्षों के समर्थकों में गाली-गलौज के बाद पथराव और फायरिंग हो गई। भगदड़ के बीच कुछ लोगों ने प्रतापगढ़ सांसद कुंवर हरिवंश सिंह के खेमे की एक स्कापियो में आग लगा दी और कई गाड़ियों के शीशे तोड़ डाले। पथराव में छह लोग घायल हो गए। पुलिस ने 17 लोगों को हिरासत में लिया है। उधर, कड़ी सुरक्षा में अविश्वास प्रस्ताव पर हुए मतदान में 67 सदस्यों ने भाग लिया जिसमें से 66 सदस्यों ने अविश्वास प्रस्ताव के पक्ष में और एक सदस्य ने विरोध में मतदान किया। खुटहन ब्लाक में 109 बीडीसी हैं,जिसमें एक विदेश में हैं। ब्लाक प्रमुख सरयू देवी के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पर सोमवार को मतदान होना था। इसके लिए ब्लाक मुख्यालय के आसपास सुरक्षा का कड़ा बंदोबस्त किया गया था। 
विधायक शैलेन्द्र यादव "ललई" व डीएम के बीच होती बहस...  
प्रतापगढ़ के सांसद हरिवंश सिंह और उनके पुत्र पूर्व प्रमुख रमेश सिंह तकरीबन 70 से अधिक बीडीसी संग 16 गाड़ियों का काफिला ले कर आ रहे थे। सवा 11 बजे के करीब काफिला तिघरा चौराहे से आगे बढ़ा तो सरयू देवी के समर्थकों ने मार्ग में ट्रैक्टर खड़ा कर रास्ता अवरुद्ध कर दिया। इसी बीच किसी ने फायरिंग कर दी, जिसके बाद सरयू देवी के समर्थकों ने पथराव शुरू कर दिया। पुलिस ने मोर्चा संभाला और हवाई फायरिंग की तो दूसरे पक्ष से भी फायरिंग की जाने लगी। तभी दोनों तरफ से पथराव शुरू हो गया। इस दौरान अफरातफरी और भगदड़ में पथराव से बीडीसी अमिला गौतम, सुनील कुमार, सीमा सिंह तथा सरोज गिरी, प्रतापगढ़ के सांसद का गनर राकेश मिश्र, पूर्व प्रमुख रमेश सिंह का निजी गनर रामशृंगार यादव घायल हो गए।


सांसद कुंवर हरिवंश सिंह की फूंकी गई स्कार्पियो...
इसी बीच कुछ लोगों प्रतापगढ़ सांसद के खेमे की एक स्कार्पियो में आग लगा दी और कई गाड़ियों के शीशे तोड़ डाले। सूचना पर डीएम सर्वज्ञराम मिश्र और पुलिस अधीक्षक केके चौधरी भी मौके पर पहुंचे। पूरे जिले की फोर्स और पीएसी बुला ली गई। पुलिस ने हल्का बल प्रयोग कर स्थिति को संभाला। अविश्वास प्रस्ताव को लेकर पक्ष और विपक्ष दोनों तरफ से दिग्गजों का जमावड़ा लगा हुआ था। जहां ब्लाक प्रमुख सरयू देवी की तरफ से पूर्व मंत्री एवं शाहगंज विधायक शैलेंद्र यादव ललई, पूर्व सांसद धनंजय सिंह, एमएलसी बृजेश सिंह प्रिंसू जमे थे। वहीं अविश्वास प्रस्ताव लाने वालों की तरफ से प्रतापगढ़ सांसद हरिवंश सिंह, उनके पुत्र रमेश सिंह, एवं पूर्व सांसद उमाकांत यादव, बदलापुर विधायक रमेश मिश्र आदि भी इधर-उधर डेरा डाले हुए थे। पुलिस अधीक्षक केके चौधरी ने कहा कि पथराव, तोड़फोड़ में 17 लोगों को हिरासत में लिया गया है। पुलिस अपनी तरफ से उपद्रवियों के खिलाफ केस दर्ज कर रही है। इसके अलावा भी कोई तहरीर देगा तो केस दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि पुलिस ने हवाई फायरिंग नहीं की।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें