Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

मंगलवार, 24 अक्तूबर 2017

शहर की यातायात ब्यवस्था पर ग्रहण बन चुके थे,ई-रिक्शे...!!!

यातायात के विरुद्ध जिले में पहली बार हुआ ई-रिक्शा पर कड़ी कार्यवाही 
ई -रिक्शे से हो रही परेशानियों की कुछ प्रमुख वजहे -
(1)परिवहन विभाग में रजिस्ट्रेशन का न होना 
(2)ई -रिक्शे के चालाक का कोई मापदंड का न होना 
(3)यातायात के नियमों को हर कदम पर तोड़ना 
(4)बैठने हेतु यात्रियों की संख्या का कोई निर्धारण का न होना 
(5)बैटरी बचाने के चक्कर में शाम होने के बाद भी हेड लाइट को न जलाना 
(6)अश्लील गाने बजाना 
(7)सड़क पर ही पार्किंग करना 
(8)मानक से अधिक स्पीड में ई -रिक्शे का चलाना 
(9)विना किसी इशारे के कहीं भी यू टर्न का लेना 
(10)आबादी और सड़क के घनत्व से अधिक ई -रिक्शे का सड़क पर होना 
(11)दुर्घटना होने के बाद कोई जबाबदेही का न होना 
(12)रजिस्ट्रेशन के बगैर ई -रिक्शे के चालकों पर नियंत्रण का न होना 
(13)शहर को जाम के झाम में तब्दील करना प्रमुख वजह है ...

 अपनी टीम के साथ पुलिस अधीक्षक,प्रतापगढ़ शगुन गौतम ...
सी ओ सिटी राम आशीष यादव एवं एआरटीओ प्रवर्तन मनोज सिंह 
होटल स्नेह  के पास ई-रिक्शा चलाने वाले बालक की उम्र नाबालिक 

 पुलिस लाइन में पकड़े जाने के बाद खड़े कराए गए ई-रिक्शे ...

सड़क किनारे अक्सर पलट जाते हैं ई-रिक्शे...

असुरक्षित साबित हो रहे हैं ,ई-रिक्शे ...
नगर भ्रमण के दूसरे दिन पुलिस अधीक्षक शगुन गौतम की भृगुटी शहर में कुकरमुत्ते की तरह गली-गली में चल रहे बेतरतीब ई-रिक्शा संचालको पर तन गई । हुआ यूं कि कल पुलिस लाइन गेट से जिला अस्पताल होते हुए चौक घंटाघर और वहां से भंगवा चुंगी तक स्वयं पुलिस दल बल के साथ सड़क पर अतिक्रमण हटाने फौरी तौर पर निकल पड़े थे । पुलिस अधीक्षक प्रतापगढ़ के निर्देशन में एआरटीओ प्रवर्तन मनोज सिंह एवं सी ओ सिटी राम आशीष यादव द्वारा चलाये गये चेकिंग अभियान में 113 अनाधिकृत ई-रिक्शा के विरुद्ध कार्यवाही की गयी । यातायात व्यवस्था को चुस्त व दुरुस्त करने के लिए ट्रैफिक पुलिस और परिवहन विभाग की संयुक्त कार्यवाही में आज सड़क पर जब सैकड़ो ई- रिक्शे पकड़े गए तो ई-रिक्शा चालकों में हड़कम्प मच गया। सभी ई-रिक्शा चालकों को पुलिस लाइन में खड़ा कराया गया । उद्योग बिहीन जिले में बेरोजगारी के इस दौर में जब ई-रिक्शा निकला तो थोक की भाव में सड़कों पर ई–रिक्शा खरीदकर बेरोजगार लोग अपनी आजीविका के लिए ई-रिक्शा को अपना साधन बना लिए l पुराने रिक्शे जो पैरों से चलते थे, वो न के बराबर हो गए l एक स्थान से दूसरे स्थान तक आने व जाने के लिए शहरियों को सिर्फ ई-रिक्शा ही एक मात्र साधन रह गया था l फिलहाल ई-रिक्शा चालकों के विरुद्ध इस कार्यवाही से शहर की सड़के आज जाम के झाम से बची रही l आज ई-रिक्शा के विरुद्ध यातायात के नियमों के विरुद्ध पुलिसिया कार्यवाही से जहाँ बहुत से लोग खुश हुए तो वहीं नगरीय क्षेत्र में निकाय चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवार ई-रिक्शा चालकों के विरुद्ध हुई इस कार्यवाही को अनुचित बताया...!!!

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें