Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

सोमवार, 2 अक्तूबर 2017

पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री और सत्य अहिंसा के पुजारी महात्मा गांधी के जयंती पर शिवम् सृजन संस्थान ने खोला जनपद प्रतापगढ़ में भूख बैंक

  • भूख बैंक का एक ही मिशन, सबको भोजन,सबको जीवन. 35 लाभार्थी को दिया गया भूख बैंक से अनाज का एक पैकेट,जिसमें 10 किलो आटा और 3 किलो चावल का रहा,अनुपात...!!! 
  • प्रत्येक माह की 1 तारीख से 10 तारीख के बीच सुबह 10 बजे से अपरान्ह 2 बजे तक लाभार्थी पा सकेंगे भूख बैंक से आटा और चावल...!!!  
समाज सेवा के लिए देश भर में बहुत से लोग समाज सेवा कार्य कर रहे हैं। सबके कार्य करने के अपने-अपने तरीके हैं। जनपद प्रतापगढ़ में पहला संस्थान है जो वेसहारा,गरीब एवं असहाय लोंगो को हर माह उनकी भूख मिटाने के लिए शिवम् सृजन संस्थान की तरफ से भूख बैंक से 10 किलो आटा और 3 किलो चावल दिया जाएगा। जनपद प्रतापगढ़ का ये पहला संस्थान होगा जो असहाय और गरीबों को सीधे भोजन के लिए अनाज की ब्यवस्था करने का निश्चय किया है। असहाय,वेसहारा और गरीब को भूख से निजात दिलाने का अनोखा उपाय संस्थान के ट्रस्टी ने निकाला। साथ ही शिवम् सृजन संस्थान,अष्टभुजा,प्रतापगढ़ में ध्यान चिकित्सा केंद्र (मेडिटेशन सेंटर) में निःशुल्क ध्यान योग कराया जाएगा। पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री और सत्य अहिंसा के पुजारी महात्मा गांधी के जयंती पर ट्रस्टी राजेंद्र तिवारी अपनी माँ की स्मृति में इसकी शुरुवात की...!!!
ट्रस्टी राजेंद्र जी अपनी माँ स्वर्गीय अनारा देवी की स्मृति में गरीब एवं असहाय लोंगो को भूख से निजात दिलाने का निकाला अनोखा उपाय.
ट्रस्टी राजेन्द्र तिवारी ने अपने संबोधन में कहा कि जिस तरह एक माँ अपने बच्चे को पहले भोजन कराती है और उसके बाद ही वो अपने लिए सोचती है। ये विचार मैं,अपनी माँ से सीखा और उन्हीं के विचारों को आगे बढ़ाने के उद्देश्य से ये भूख बैंक की स्थापना किया। संस्थान के मुख्य ब्यवस्थापक शिवेशानंद जी ने कहा कि देश के प्रधानमंत्री रहते हुए लाल बहादुर शास्त्री ने कहा था कि जय जवान,जय किसान। देश के ऊपर संकट की घड़ी में सभी देश वासियों से एक टाइम भूखे रहने का आह्वाहन भी किया था तो उनके आह्वाहन पर देश के नागरिकों ने एक टाइम उपवास कर देश की रक्षा के लिए अपना सहयोग किया था। देश में आज भी बहुत से असहाय और गरीब लोग हैं, जिन्हें दो जून का भोजन नहीं मिल पाता। इन्हीं विचारों से ओत-प्रोत होकर बड़े भईया श्रधेय राजेंद्र जी गुरुदेव ने इसका बीड़ा उठाया है। शुरुवात प्रतापगढ़ से की गयी है और आने वाले समय में इसका विस्तार प्रदेश भर में और उसके भाद देश भर में किया जाएगा। संस्थान से जुड़े आर बी सिंह,रोहित सिंह,डी.एन. चड्ढा,विवेकानंद पाण्डेय एवं राजेश गुप्ता सहित सभी लाभार्थी मौजूद रहे। भूख बैंक के उद्घाटन पर पहुंचे सभी लोंगो ने संस्थान से जुड़े सभी महानुभावों का उत्साहवर्धन किया और भूख बैंक के इस उपाय की प्रसंशा की...!!!

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें