जेहन में चुभते सवाल अनेक हैं,पर उत्तर एक का भी नहीं है...

9:40:00 pm 0 Comments Views

अजित सिंह की कलम से...
देश के 132 साल पुरानी पार्टी के समर्थक और कथित विद्वानो ने अपने अस्तित्व को बचाने का एक अन्तिम अभियान छेड कर अपने दल को बचाने के लिये कुतार्किक कथन प्रस्तुत कर रहे है कि कांग्रेस ने देश को बिजली,सडक,आधुनिक कृषि,टीवी,कम्प्युटर आदि अनादि अनेक चीजे दिये जाने को अपनी उपलब्धि बता कर गिना रहे है. क्या मतलब है, उनका...? क्या भारत भूखे,नंगो और भिखमंगो का देश था...? जो इन्होने हमे जीने की वस्तुये दी और जीवन जीने का ढंग सिखाया. कभी ये नही बताया कि हमसे ले क्या लिया...? 
हताश व निराश सोनिया
हमारा गौरवशाली इतिहास,स्वर्णिम संस्कार युक्त सभ्यता और प्रगतिवर्धक शिक्षा प्रणाली...सब कुछ तो छीन 
लिया. देश के अधिकांश राष्ट्रवादी सोच रखने वाले प्रधानमंत्री मोदी को न तो भगवान मानते है और न ही ऐसी सोच रखते है,फिर भी देश द्रोहियों की नानी मरी जा रही हैं...! हां,ये जरूर है कि मोदी आज सनातन राष्ट्रवाद की संरक्षा और सुरक्षा करने वाले सबसे काबिल,योग्य,निर्भीक,विश्वसनीय और ईमानदार व्यक्ति है...! आज के समय मे किसी नेता का नाम बताइये जो मोदी की तरह केवल राष्ट्रहित के संबन्ध मे सोचता है...? फिलहाल कुछ सवाल है जिसे जनसामन्य से पूछना चाहिये...!!!

1-भारत यूएन के वीटो पावर वाला स्थाई सदस्य क्यों नही है...? 
2- भारत एनएसजी का सदस्य क्यों नही है...? 
3- भारत की मुद्रा कमजोर क्यों है,जबकि 1947 मे रूपया का मूल्य डालर से अधिक था...?
5- कश्मीर समस्या का समाधान अभी तक क्यों नही हो सका...? 
6- कश्मीर से धारा 370 क्यों नही हटाई गई...? 
7-कश्मीर के लिये संविधान मे धारा-35 ए चुपके से क्यो बढ़ाया गया...?
8- 1971 में पूर्वी पाकिस्तान की आजादी की आड में हुए 200000 मौतों और 18000 हिन्दू महिलाओं के बलात्कार का जिम्मेदार कौन है और उसको सजा देने का क्या प्रयास किया गया है...? 
9- कश्मीर का कुछ भाग पाकिस्तान के अधीन क्यों है...?
10- 1962 में भारत चीन से क्यों हारा और अरूणांचल तथा कश्मीर के कुछ भाग पर चीन का कब्जा क्यों और कैसे हुआ...?
11- 65 साल के राज में देश की गरीबी क्यों नही मिटी...? 
12- 1947 में धर्म के आधार पर बंटवारे के बाद पाकिस्तान मुस्लिम देश बना तो बाकी बचा देश हिन्दू राष्ट्र क्यों नही घोषित किया गया...?
13- आपातकाल के दौरान 42वें सविधान संशोधन के द्वारा जेल मे बंद विपक्ष की अनुपस्थिति मे क्यों संविधान का आमूल चूल परिवर्तन करते हुये सेकुलर शब्द क्यो और किसे प्रसन्न करने के लिये जोडा गया...?
14-पंथनिरपेक्षता की परिभाषा किस आधार पर तय किया गया...?
15- देश को रिश्वत,गबन और घोटालों का अड्डा किसने बनाया...? 
16- क्वात्रोची और एंडरसन जैसे हत्यारों को देश से किसने भगाया...? 
17- हिन्दुओं की आस्था का प्रतीक रामसेतु कौन तोडना चाहता था...? 
18- देश को आरक्षण जैसी घटिया समस्या किसने दी...? 
19- भगवा आतंकवाद नाम किसने दिया और कौन इसकी आड मे राष्ट्रभक्तो को झूठे आरोपो मे जेल मे ठूंस रहा था...?
20-2008 के मुम्बई हमले की साजिश किसकी थी,जिसके सम्बन्ध मे दिग्गी ने पुस्तक का विमोचन भी कर दिया था...?
21-सेना का मनोबल किसने गिराया...?
22- देश मे बांग्लादेशियो और रोहिंग्यायो को कौन बसाना चाहता है...?
ऐसे बहुत से सवाल हैं,जिनके जवाब शायद ही कोई दे सके...!!!
कांग्रेस का डूबता हाथ...
तमाम ऐसी समस्याए हैं जो बहुत पुरानी हैं,जिनकी वजह से देश की आम जनता त्राहि-त्राहि कर रही है...! आज कांग्रेस भले ही गुजरातियों को बुद्धू बनाने के लिये मन्दिरों का चौखट चूम रही हो...! लेकिन यही कांग्रेस है जो मंदिर का विरोध और प्रभु के अस्तित्व पर सवाल करती रही, लेकिन देश द्रोहियों अस्तित्व को प्रणाम करने, उनको देखने जाती रही है एवं उन्हे हर स्तर की मदद करती और कराती रही है, जबकि वीर जवानों को देखने या सुनने की उसे कभी फुर्सत नहीं मिली...!!!

rameshrajdar

एक खोजी पत्रकार की सत्य खबरें जिन्हे पूरा पढ़े बिना आप रह ही नहीं सकते हैं ,इस खबर को पढ़ने के लिए............| Google || Facebook

0 टिप्पणियाँ: