अपना दल एस विधायक संगम लाल गुप्ता का नहीं छूट रहा,भाजपा (भगवा) प्रेम...

1:09:00 pm 0 Comments Views


नेता बनने की शौक तो बहुत है,परन्तु इन्हें ये नहीं पता कि कैबिनेट मंत्री  की बात तो छोड़िये डॉ महेंद्र नाथ पाण्डेय राज्यमंत्री थे,जो भाजपा प्रदेश ध्यक्ष बनते ही मोदी मंत्रिमंडल से त्याग पत्र दे दिया था...!!!
भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ महेंद्र नाथ पाण्डेय एवं अपना दल एस विधायक संगम लाल गुप्ता 
प्रतापगढ़। ये संयोग ही था जब भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ महेंद्र नाथ पाण्डेय का काफिला नगरकोतवाली के कटरा क्षेत्र स्थित अपना दल एस के विधायक संगम लाल गुप्ता के आवास के सामने से निकला। जैसे ही इस बात की जानकारी संगम लाल गुप्ता को हुई तो वो भाजपा प्रदेश अध्यक्ष का काफिला रोककर उनका स्वागत करने की इच्छा जताई। वजह भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ महेंद्र नाथ पाण्डेय का जन्मदिन रहा। अपना दल एस विधायक संगम लाल गुप्ता ने प्रदेश अध्यक्ष का काफिला अपने दर्जनों कार्यकर्ताओ के साथ अपने आवास के सामने रोक लिया और भाजपा प्रदेश अध्यक्ष का भव्य स्वागत किया। अपना दल एस विधायक संगम लाल गुप्ता ने भाजपा प्रदेश अध्यक्ष के जन्मदिन पर केक भी काटे और कार्यकर्ताओ के साथ उन्हें जन्म दिन पर बधाई भी दी। 
भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ महेंद्र नाथ पाण्डेय  के जन्मदिन पर केक  काटते  विधायक संगम लाल गुप्ता
संगम लाल गुप्ता कहने के लिये अपना दल एस के राष्ट्रीय सचिव हैं और 248-अपना दल एस के टिकट से विधायक। सही बात यही है कि उनकी सम्पूर्ण आस्था और विश्वास भाजपा के साथ था और आज भी बना हुआ है। भविष्य में रहेगा ये तय नहीं है। भाजपा में रहते अपना दल एस से सेटिंग कर 248-प्रतापगढ़ का टिकट हथिया लिया और बहती गंगा में हाथ धो लेने का कार्य कर माननीय भी बन गए। इसके पीछे भाजपा के दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष एवं दिल्ली पूर्वी क्षेत्र से सांसद मनोज तिवारी और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह का आशीर्वाद रहा। लिहाजा संगम लाल गुप्ता का भाजपा से नजदीकियां कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। विधायक संगम लाल गुप्ता द्वारा अभी नवरात्रि में एक दिन "शीतला धाम" में जागरण का आयोजन किया गया था,उसमें भाजपा के दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी आये थे। उनकी वजह से एक बार जागरण का आयोजन 22 सितम्बर से टालकर 29 सितम्बर रखना पड़ा सांसद मनोज तिवारी का आगमन हवाई जहाज से वाराणसी होकर आना निश्चित था,परन्तु अचानक सूचना मिली कि अब सांसद मनोज तिवारी वाराणसी न आकर लखनऊ आयेंगे तो विधायक संगम लाल गुप्ता अपने सभी साथियों के साथ बाबतपुर वाराणसी के हवाई अड्डे से लखनऊ अमौसी हवाई अड्डा पहुँच कर सांसद मनोज तिवारी की अगवानी की और उन्हें ससम्मान प्रतापगढ़ स्थित शीतला धाम लेकर आये तब कहीं जाकर जागरण का आयोजन हो सका। 
 अपना दल एस विधायक संगम लाल गुप्ता के अनुज दिनेश कुमार गुप्ता 
प्रतापगढ़ की जनता मनोज तिवारी के भक्ति गीत सुनने शीतला धाम पहुँची थी और इस आस में थी कि विधान सभा चुनाव-2017 के दौरान स्टार प्रचारक के रूप में सांसद मनोज तिवारी ने संगम लाल गुप्ता का चुनावी कम्पेन किया था और तमाम लोक लुभावन लालीपॉप दिया था। चुनाव परिणाम और सूबे में सरकार बनने के छः माह बाद सांसद के अतिरिक्त दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष का तमगा लेकर मनोज तिवारी जब प्रतापगढ़ के कटरा स्थित शीतला धाम आए तो अपने किये गए चुनावी वादों पर चर्चा करना मुनासिब नहीं समझे। उन्हें सांप सूंघ गया था। दिल्ली के नगर निगम चुनाव में विधायक बन चुके संगम लाल गुप्ता एक पखवारा डेरा दिल्ली में डालकर जिले में सभी भाजपाईयों के नींद हराम किये थे। संगम लाल गुप्ता के भाजपा के शीर्ष नेतृत्व के नेताओं की सांठ गांठ से जिले के भाजपा नेता अचम्भित हैं। 
भाजपा नेता सहित राजनीति के जानकारों का मानना है कि संगम लाल गुप्ता वर्ष-2019 के सामान्य लोकसभा चुनाव के मद्देनजर भाजपा नेताओं से नजदीकियां बनाये हुए हैं। चूँकि अपना दल के सिम्बल कैंची से चुनाव जीतने वाले कुंवर हरिवंश सिंह का इस बार पत्ता कटना तय है। सांसद कुंवर हरिवंश सिंह अपना दल एस में नहीं हैं,जिसका गठबंधन वर्तमान में राजग से है। लिहाजा संगम लाल गुप्ता अपनी गोट अभी से बिछा रहे हैं संगम लाल गुप्ता विधायक निर्वाचित होने के बाद प्रतापगढ़ नगरपालिका की सीमा बढ़ाने में एड़ी चोटी का जोर अपनी बौद्धिक क्षमता के अनुसार लगाए परन्तु नगरपालिका प्रतापगढ़ की सीमा का विस्तार दुर्भाग्यवश न हो सका। संगम लाल गुप्ता की इच्छा थी कि प्रतापगढ़ नगरपालिका को कटरा और सिटी दोनों नगर पंचायतों को मिलाकर प्रतापगढ़ को अयोध्या की तरह नगर निगम बना दिया जाए, ताकि निकाय चुनाव के वक्त मेयर के चुनाव में वो अपने अनुज दिनेश कुमार गुप्ता को चुनाव के मैदान में उतार कर उन्हें मेयर बना सके। फिलहाल इस मुहीम में संगम लाल गुप्ता को मुंह की खानी पड़ी ये चाल तो संगम लाल गुप्ता की धराशायी हो गयी। 
 नेता बनने की शौक तो बहुत है,परन्तु इन्हें ये नहीं पता कि अब डॉ महेंद्र नाथ पाण्डेय भाजपा का प्रदेश ध्यक्ष बनते ही मोदी मंत्रिमंडल में नहीं है...
अब ले देकर बचा लोकसभा चुनाव-2019, जिसके लिए संगम लाल गुप्ता अपनी माया फैलाये हुए हैं। उधर भाजपा के दिग्गज नेता व योगी कैबिनेट के वरिष्ठ मंत्री राजेन्द्र प्रताप सिंह उर्फ "मोती सिंह" भी विधान सभा चुनाव-2017 की कमान अपने इकलौते ठेकेदार पुत्र राजीव प्रताप सिंह उर्फ नंदन सिंह के हाथ में सौंप दी थी।तभी से नंदन सिंह यूथ ब्रिगेड और उनके नाम और फोटो की होर्डिंग क्षेत्र में लगनी शुरू हुई । तभी ये चर्चा आम हो गई कि इस बार लोकसभा चुनाव-2019 में जिले के दो नेता अपनी राजनीतिक विरासत का विस्तार कर सकते हैं। भाजपा से योगी कैबिनेट के वरिष्ठ मंत्री राजेन्द्र प्रताप सिंह उर्फ "मोती सिंह" अपने पुत्र नंदन को तो अपना दल एस के राष्ट्रीय सचिव व विधायक संगम लाल गुप्ता अपने अनुज दिनेश कुमार गुप्ता को राजनीतिक ककहरा सिखाने के लिए राजनीतिक कुरुक्षेत्र में उतार सकते हैं अपना दल एस में रहते विधायक संगम लाल गुप्ता का भाजपा के नेताओं के प्रति मोह की वजह कहीं यही तो नहीं। तभी तो भाजपा का जिला स्तर,प्रदेश स्तर एवं राष्ट्रीय स्तर के सभी आयोजनों में अपना दल एस के विधायक संगम लाल गुप्ता बढ़ चढ़कर हिस्सा ले रहे हैं...!!!
विधायक बनने के पहले ही संगम लाल गुप्ता भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष सहित मनोज तिवारी को कटरा स्थित शीतला धाम में एक साथ संगम कराकर अपनी नजदीकियां जिले के सभी भाजपाईयों को बता दिया था ,जो आज फलीभूत हुई है... 

rameshrajdar

एक खोजी पत्रकार की सत्य खबरें जिन्हे पूरा पढ़े बिना आप रह ही नहीं सकते हैं ,इस खबर को पढ़ने के लिए............| Google || Facebook

0 टिप्पणियाँ: