Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

शुक्रवार, 8 जुलाई 2016

''शास्त्री के बाद मोदी ने लोगों को सोच बदली''




''शास्त्री के बाद मोदी ने लोगों को सोच बदली''



नई दिल्ली: रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने शुक्रवार को कहा कि लाल बहादुर शास्त्री के बाद नरेंद्र मोदी ही ऐसे प्रधानमंत्री हैं, जिन्होंने लोगों को अपनी सोच बदलने के लिए प्रेरित किया। पणजी से 35 किलोमीटर दूर मडगाव कस्बे में एक सरकारी कार्यक्रम में पर्रिकर ने कहा कि शास्त्री की तरह ही मोदी गंभीर व काफी समय से लंबित मामलों के लिए सरल समाधान पेश करते हैं।

                        पूर्व पी. एम. लाल बहादुर शास्त्री !

लाल बहादुर शास्त्री ने भी बदली थी लोगों की सोंच....

मंत्री ने कहा कि लोगों ने सन् 1965 में तत्कालीन प्रधानमंत्री की अपील पर प्रतिक्रिया व्यक्त की थी। मुझे वही वाकया फिर से देखने को मिल रहा है। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार की सबसे बड़ी उपलब्धि यह है कि लोगों ने अपने सोचने का तरीका बदल दिया है। हमने एक नारा दिया है, मेरा देश बदल रहा है। उन्होंने कहा कि लाल बहादुर शास्त्री ऐसे प्रधानमंत्री थे, जिनकी बातों पर लोग अमल करते थे, क्योंकि वह दिल से बोलते थे।

पी एम मोदी 
मंत्री ने कहा कि मुझे याद है, तब भारत अनाज की कमी से जूझ रहा था। लाल बहादुर शास्त्री ने कहा था कि यदि प्रत्येक भारतीय एक दिन का खाना नहीं खाए या एक पहर का खाना नहीं खाए, तो देश में खाद्य पदार्थो की मांग 10-15 फीसदी तक गिर सकती है। उन्होंने  कहा, मुझे याद है कि लाल बहादुर शास्त्री की कही बातों के सम्मान में लोगों ने एक दिन खाना नहीं खाया था और लोगों की वह आदत आज तक बनी हुई है।
गोवा के पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि उसी प्रकार वर्तमान सरकार ने कई मुद्दों का समाधान किया है और नवाचार के माध्यम से उन्हें अवसरों में बदल दिया है।  उन्होंने कहा कि पिछले साल सरकार ने 20 हजार करोड़ रुपये से 30 हजार करोड़ रुपये की बचत की और यूरिया पर नीम की परत चढ़ाकर यूरिया की कमी की पूर्ति की।
पर्रिकर ने कहा, भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) का मेरा एक मित्र लंबे समय से अमेरिका में रह रहा है। उसने कहा कि पहले लोगों को विश्वास नहीं होता था कि भारत ने प्रौद्योगिकी में काफी तरक्की की है, लेकिन धीरे-धीरे वे बदलाव में यकीन कर रहे हैं।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें