Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

रविवार, 26 जून 2016

केजरीवाल की मुसीबतें बढ़ी, 40 विधायकों की सदस्यता खतरे में


दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल

नई दिल्ली- मुख्यमंत्री केजरीवाल और उनकी सरकार अब एक नई मुसीबत में फंसते हुए दिखाई दे रहे हैं।21 विधायकों के संसदीय सचिव मामले में फंसने, 400 करोड़ के कथित टैंकर घोटाले में केजरीवाल के खिलाफ एफआईआर के बाद आम आदमी पार्टी के 27 विधायक 'ऑफिस ऑफ़ प्रॉफिट' के मामले में फंस रहे हैं।

चुनाव आयोग में आम आदमी पार्टी के 27 विधायकों के खिलाफ 'ऑफिस ऑफ़ प्रॉफिट' के तहत शिकायत दर्ज की गयी है। यह शिकायत विभोर आनंद नाम के लॉ के छात्र ने की है। इस शिकायत में कहा गया है आआप ने अलग अलग इलाकों के सरकारी अस्पतालों में 27 विधायकों को रोगी कल्याण समिति का अध्यक्ष बनाया है।

विभोर का कहना है केंद्र सरकार की 2015 की गाईडलाइंस के मुताबिक सिर्फ स्वास्थ्यमंत्री, क्षेत्रीय सांसद, जिला पंचायत अध्यक्ष या जिलाधिकारी ही समिति के अध्यक्ष बन सकते हैं।आरोप यह भी है सभी विधायकों को सरकारी अस्पताल में पर्सनल ऑफिस मुहैया कराये गये हैं।अगर विभोर के आरोप सही साबित होते हैं तो केजरीवाल के इन विधायकों की सदस्यता में पड़ सकती है।

संसदीय सचिव बनाये जाने के मामले में केजरीवाल के 21 विधायकों पर पहले से खतरा मंडरा रहा है। इन दोनों मामलों में 8 विधायक कॉमन हैं।इसका मतलब (21+19) 40 विधायकों की सदस्यता अब खतरे में हैं।अगर इनकी सदस्यता खत्म होती है तो दिल्ली में केजरीवाल सरकार गिर जायेगी जिसके दिल्ली विधानसभा में चुनाव नए स्तर से चुनाव होंगे।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें