Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

शुक्रवार, 24 जून 2016

सीएम महबूबा मुफ़्ती ने अलगाववादियों को लगाई लताड़, कहा ‘नारे लगाने से नहीं बचेगी 370’...!!!

सीएम महबूबा मुफ़्ती ने अलगाववादियों को लगाई लताड़, कहा ‘नारे लगाने से नहीं बचेगी 370’...!!!

विधानसभा में बोलते हुए सीएम Mehbooba Mufti ने कहा कि कश्मीर और कश्मीरियत के लिए जो जरूरी कदम होगा वो उठाए जाएंगे...!!!

New Delhi, Jun 23: धारा 370 का जिक्र आते ही जहन में एक सवाल पनप जाता है कि आखिर जम्मू कश्मीर की सरकार इस मसले पर सोचती क्या है. विधानसभा में सीएम महबूबा मुफ़्ती ने इस पर काफी हद तक तस्वीर साफ कर दी कि सरकार के लिए धारा 370 के क्या मायने है. विधानसभा में अलगाववादियों को जमकर लताड़ लगाते हुए महबूबा ने कहा कि  राज्य की विरासत को कमजोर बनाने का काम कर रहे हैं अलगाववादी. 
सीएम महबूबा मुफ़्ती ने कहा कि अनुच्छेद 370 हमारी विरासत है. और हमसब मिलकर इसकी हिफाजत करेंगे. उन्होने ललकारते हुए कहा कि यहां मौजूद हर सदस्य की हिफाजत की जिम्मेदारी हमारी है. जब ये सुरक्षित रहेगी जभी यहां कि रियासत भी सुरक्षित लगेगी. उन्होने कहा कि मस्जिदों में नारे लगाने से 370 नहीं बचेगी. सी. एम. महबूबा मुफ़्ती अपने विभागों की अनुदान की मांगों पर चर्चा का जवाब विधानसभा में दे रही थी.
सीएम महबूबा मुफ़्ती ने कहा कि काश अनुच्छेद 370 पर चिल्लाने वाले इंडस्ट्रियल पॉलिसी और कश्मीरी पंडितों की कॉलोनी के खिलाफ बोलने वाले पर भी कुछ बोलते, प्रदेश में लड़कियों की प्रताडऩा के खिलाफ भी कुछ कह पाते. आए दिन होने वाली पत्थरबाजी पर कुछ पाते, वादियों में फैले नशे के खिलाफ भी कुछ बोलने की हिम्मत करते. तो आज रियासत ज्यादा खुशहाल होती.महबूबा मुफ़्ती ने बीजेपी-पीडीपी गठबंधन पर सवाल उठाने वालों को कहा कि जनता के हित के लिए मैं एक बार नहीं बल्कि 100 बार बीजेपी से गठबंधन करूंगी. उन्होने कहा कि मैने ये फैसला अपने घर के लिए नहीं लिया. और न ही मुझे इस पर सफाई देने की कुछ जरूरत है. 
महबूबा मुफ़्ती ने कहा कि ऐसा कहा जा रहा है कि मैने अलगाववादियों को जेल में बंद करा दिया. उन सब लोगों से मैं कहना चाहती हूं कि हम अपना टूरिज्म सीजन बर्बाद नहीं करना चाहते हैं. उन्होने कहा कि यहां माहौल खराब करने की साजिश रची जा रही है.कश्मीरी पंडितों के मसले पर बोलते हुए सीएम महबूबा ने कहा कि कश्मीरी पंडितों का पुनर्वास हमारे कश्मीरियत को जिंदा रखने के लिए जरुरी है. उन्होने कहा कि आज हमारे बच्चों को ये पता ही नहीं कि कश्मीरी पंडित कौन है, वो गैर कश्मीरी मुस्लिमों को ही कश्मीरी पंडित समझते है. उन्होने कहा कि अब वक्त बदलाव है और कश्मीर के हित के लिए हर जरूरी कदम उठाए जाएंगे.

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें