Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

शनिवार, 7 मई 2016

देश का मुसलमान कभी भी ISIS या किसी भी आतंकी संगठन का साथ कभी नहीं देगा.....गृहमंत्री राजनाथ सिंह


देश का मुसलमान कभी भी ISIS या किसी भी आतंकी संगठन का साथ कभी नहीं देगा.....गृहमंत्री राजनाथ सिंह 
कभी आपने सोचा कि टाटा, बाटा, रिलायंस समेत देश की सभी छोटी बड़ी कंपनियों के शो रूम में यह सूचना/चेतावनी क्यों नहीं लिखी होती कि......
उधार प्रेम की कैंची है
आज नगद, कल उधार
उधार अगली दुकान से।
उधार कल से शुरू। कृपया उधार मांग कर शर्मिंदा ना करें। आदि...,आदि....!!!


देश के गृहमंत्री राजनाथ सिंह  
दरअसल इन कंपनियों के शो रूम्स के विषय में लोगों को पहले से ही ज्ञात होता है कि, यहाँ उधार मिलने की कोई सम्भावना ही नहीं है। प्रायः ऐसी सूचनाएं/चेतावनियाँ आदि चाय, पान, किराने, कपड़े की उन दुकानों पर ही लिखी होती हैं, जो पूर्व में कभी उधार के कारण तबाही की कगार पर पहुँच चुकी होती हैं और जिनके विषय में लोग पूरी तरह आश्वस्त होते हैं कि, यहां तो उधार मिलेगा ही मिलेगा, यहां नहीं तो फिर कहाँ मिलेगा...?
आज यह चर्चा इसलिए, क्योंकि देश के गृहमंत्री को पिछले 2 वर्षों के दौरान कल सम्भवतः पचासवीं बार यह सफाई देते हुए सुना कि, देश का मुसलमान कभी भी ISIS या किसी भी आतंकी संगठन का साथ कभी नहीं देगा। पिछले 2 वर्षों से देश के गृहमंत्री को लगातार यह सफाई क्यों देनी पड़ रही हैं...?
क्योंकि पिछले 2 वर्षों में गृहमंत्री समेत किसी भी मंत्री को मैंने ऐसी ही सफाई सिक्ख,जैन,पारसी,ईसाई आदि अन्य अल्पसंख्यक समुदायों के लिए देते हुए कभी नहीं सुना, कि ये लोग ISIS या अन्य किसी आतंकी संगठन का साथ कभी नहीं देंगे। ऐसी सफाई सिर्फ मुसलमानो के लिए ही देने की जरूरत क्यों...? 
सिर्फ गृहमंत्री या अन्य मंत्री ही नहीं बल्कि विपक्षी राजनीति में सेक्युलरिज़्म का इकलौता ठेकेदार बनकर घूमने वाले नेताओं की फौज की भी यही स्थिति हैं। जबकि यही नेता चौबीसों घंटे गला फाड़ - फाड़ कर चिल्लाते हैं कि, आतंकवाद का कोई धर्म नहीं होता। "उधार" से संबंधित सूचनाओं/चेतावनियों से अपनी बात मैंने क्यों शुरू की थी....? अब यह तो आप समझ ही गए होंगे...!!!

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें