Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

मंगलवार, 31 मई 2016

एक बार फिर से छली गई पत्रकार विरादरी...!!!

एक बार फिर से छली गई पत्रकार विरादरी...!!!

 प्रो .शिवाकांत ओझा ने पत्रकारों को  दिया लालीपॉप
गत वर्ष की भाँति इस वर्ष भी 30 मई को पत्रकारिता दिवस मनाया गया...!!! वो भी पूरे हर्षौल्लास के साथ...!!! परन्तु गजब की गिरावट आ गई है जमाने में....!!! जिला मुख्यालय का तो मतलब ही समाप्त होता जा रहा है....!!! पत्रकारिता जगत में कहने के लिए तो कई संगठन है, परन्तु जिला मुख्यालय पर कोई आयोजन का न होना पूरी पत्रकार समुदाय पर प्रश्नचिन्ह खड़ा कर दिया....!!! जिले की सबसे नवीन तहसील रानीगंज जो परगना भी नहीं है, में उपजा के तत्वाधान में पत्रकारिता दिवस मनाया गया...!!!
प्रत्येक वर्ष की भाँति इस वर्ष भी पत्रकार भवन की मांग तहसील मुख्यालय पर पत्रकारों द्वारा बहुत जोर शोर से उठाया गया, परन्तु मिला वही बाबाजी का ठुल्लू....!!! पूर्व मंत्री प्रो. शिवाकांत जी उक्त कार्यक्रम के मुख्य अतिथि रहे...!!! उनका कहना था कि जमीन अभी उपलब्ध कराइए तो मैं अपने विधायक निधि से पत्रकार भवन बनवा दूंगा...!!! मुझे हंसी आती है, उनके इस बयान पर....!!! ये वही ओझा जी हैं जो विना तहसील भवन बनाए ही राजनाथ सिंह के मुख्यमंत्रित्व काल में पट्टी से पृथक रानीगंज की स्थापना करवाया था...!!!
अब इनसे कौन पूछे कि आप जितना कार्य अपने विधान सभा क्षेत्र में कांस्ट्रकशन का लाते हो, उसकी जमीन तहसील प्रशासन किसकेइशारे पर देता है....??? श्री ओझा जी, पत्रकारों को मूर्ख बनाना आसान है, बना लीजिये इन्हें आप भी मूर्ख....!!! यदि आपकी इच्छा पत्रकार भवन बनाने की है तो 2 घंटे के भीतर तहसील प्रशासन एक पैर पर खड़ा होकर पत्रकार भवन बनाने के लिए आवंटित कर देगा...!!! परन्तु कथनी और करनी एक करनी होगी....!!! यही हाल जिला मुख्यालय के प्रेस क्लब के लिए जिला प्रशासन की दृढ़ इच्छाशक्ति के अभाव में रुका पड़ा है....!!! पत्राकारों में एकता का अभाव है, नहीं तो प्रे स क्लब और तहसील मुख्यालयों पर पत्रकार भवन अभी तक कब का बन गया होता....!!!


कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें