Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

मंगलवार, 17 मई 2016

"जेटली" जी की कृपा कांग्रेस पर आखिर कब तक होती रहेगी.?

शायद यही कारण है कि, सोशल मीडिया में जेटली जी "जय इटली" जी नाम से ज्यादा कुख्यात हैं...!!!
"जेटली" जी की कृपा कांग्रेस पर आखिर कब तक होती रहेगी.?
माँ बेटे और भाजपा की नैय्या डुबाने वाला अरुण जेटली 


16 मई को तमिलनाडु में वोट पड़ने थे और 14 मई की शाम से ही हर न्यूजचैनल पर वित्त मंत्री अरुण जेटली का बयान कई-कई बार दिखाया जा रहा था कि कांग्रेस GST बिल का समर्थन करने को तैयार हो गयी है और आगामी मानसून सत्र में GST बिल पास हो जायेगा. हालांकि कांग्रेस के इतने बड़े फैसले के बारे में किसी दिग्गज कांग्रेसी नेता को तो छोड़िए, किसी छुटभैय्ये नेता तक को एक शब्द बोलते हुए मैंने तो नहीं सुना या ऐसी कोेेई खबर अख़बार में पढ़ी.

वित्त मंत्री अरुण जेटली और कांग्रेस की प्रेसीडेंट श्रीमती सोनिया गाँधी 

क्योंकि 12 मई तक तो संसद का सत्र ही चल रहा था अतः जेटली महोदय GST मुद्दे पर कांग्रेस के कुकर्म को क्लीन चिट देने की स्थिति में नहीं थे. लेकिन सत्रावसान होते ही मतदान से 48 घंटे पहले ही जेटली ने यह क्लीन चिट जारी करने में कोई देर नहीं की.अब यह क्लीन चिट कितनी प्रभावी सिद्ध हुई.? यह तो 19 मई को ज्ञात होगा लेकिन इस क्लीन चिट से यह तो स्पष्ट हो ही गया कि, कांग्रेस पर जेटली जी की कृपा में फिलहाल कोई कमी नहीं आयी है.














सवाल जवाब के लिए दिखावा और है,परन्तु अन्दर का मामला कुछ और ही है...!!!

क्योंकि 12 मई तक तो संसद का सत्र ही चल रहा था अतः जेटली महोदय GST मुद्दे पर कांग्रेस के कुकर्म को क्लीन चिट देने की स्थिति में नहीं थे. लेकिन सत्रावसान होते ही मतदान से 48 घंटे पहले ही जेटली ने यह क्लीन चिट जारी करने में कोई देर नहीं की.अब यह क्लीन चिट कितनी प्रभावी सिद्ध हुई.? यह तो 19 मई को ज्ञात होगा लेकिन इस क्लीन चिट से यह तो स्पष्ट हो ही गया कि, कांग्रेस पर जेटली जी की कृपा में फिलहाल कोई कमी नहीं आयी है.

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें