Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

बुधवार, 18 मई 2016

गोधरा ट्रेन कांड: 14 साल बाद मुख्य आरोपी गिरफ्तार...!!!

गोधरा ट्रेन कांड: 14 साल बाद मुख्य आरोपी गिरफ्तार...!!!

अहमदाबाद, एजेंसी- वर्ष 2002 के गोधरा ट्रेन कांड में मुख्य आरोपी को गुजरात एटीएस ने14 साल तक फरार रहने के बाद आज गिरफ्तार कर लिया। गोधरा ट्रेन कांड में 59 कार सेवक मारे गए थे। इस ट्रेन कांड के बाद राज्य में बड़े पैमाने पर दंगे भड़क उठे थे। 

साबरमती एक्सप्रेस गोधरा स्टेशन से पहले आग लगने के बाद का दृश्य

एक एटीएस अधिकारी ने बताया कि फारूख मोहम्मद भाणा मुख्य आरोपियों में से एक है जिसने 27 फरवरी 2002 को गोधरा ट्रेन स्टेशन पर ट्रेन को आग लगाने की साजिश रची थी। आतंकवाद रोधी दस्ते के अधिकारियों के अनुसार, घटना के समय भाना गोधरा में पार्षद था। गिरफ्तारी से बचने के लिए वह मुंबई चला गया और वहां जाकर प्रोपर्टी ब्रोकर बन गया।
एटीएस के एक अधिकारी ने बताया, एक गुप्त सूचना के आधार पर हमने पंचमहल जिले में कलोल कस्बे के समीप एक टोल प्लाजा से भाणा को पकड़ लिया। आज वह मुंबई से गोधरा जा रहा था। वह गोधरा कांड का मुख्य साजिशकर्ता है। प्राथमिकी में फारूख मोहम्मद भाणा पर आरोप लगाया गया है कि गोधरा रेलवे स्टेशन के समीप अमन गेस्ट हाउस में अन्य आरोपियों के साथ बैठक के दौरान उसने एस 6 कोच को आग के हवाले करने की साजिश रची थी।
उसने तथा एक अन्य पार्षद बिलाल हाजी ने कथित रूप से अन्य आरोपियों को मौलाना उमरजी से मिले निर्देशों के अनुसार ट्रेन कोच को आग लगाने को कहा था। उमरजी को घटना के मुख्य साजिशकर्ता के रूप में गिरफ्तार किया गया था लेकिन बाद में रिहा कर दिया गया।साबरमती एक्सप्रेस के एस 6 कोच में आग लगने से 59 लोगों की जान चली गयी थी। घटना के बाद राज्य में बड़े पैमाने पर दंगे भड़क उठे थे जिनमें करीब एक हजार लोग मारे गए थे। 

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें