Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

रविवार, 10 अप्रैल 2016

सत्ता के सौदागर....!!!

  राष्ट्रवाद के स्वघोषित इकलौते ठेकेदारों को सत्ता मिलते ही उनका वास्तविक काला कुरूप और कुटिल देशघाती चेहरा इतनी जल्दी बेनकाब हो जायेगा, यह तो सोचा भी ना था...!!!
आज जम्मू कश्मीर के श्रीनगर हवाई अड्डे पर उन अनुपम खेर को जम्मू कश्मीर पुलिस ने रोक लिया और उन्हें श्रीनगर में प्रवेश नहीं करने दिया l जिन्हें अभी कुछ दिन पहले केंद्र सरकार ने पद्मभूषण सम्मान से नवाज़ा है l अनुपम खेर ने श्रीनगर में प्रवेश से स्वयं को रोके जाने की तुलना अपनी गिरफ़्तारी से करते हुए ट्विटर पर यह खबर ‪#‎AirportArrest‬ लिख कर दी है....!!!
अनुपम खेर ने लिखा है कि, उन्हें NIT के छात्रों से मिलने से तो मना किया ही गया साथ ही साथ उनके पैतृक गाँव स्थित खीर भवानी माता के मंदिर में दर्शनार्थ जाने से भी भाजपा सरकार की पुलिस द्वारा रोक दिया गया l
दो दिन पहले शुक्रवार को श्रीनगर की मुख्य मस्जिद के बाहर घंटों तक पाकिस्तान तथा ISIS के झंडे लहराए गए, पाकिस्तान ज़िंदाबाद के नारे लगाए गए और ऐसा करने वालों पर जम्मू कश्मीर की भाजपा सरकार की पुलिस ने ना तो लाठीचार्ज़ किया ना उनपर आंसू गैस के गोले दागे ना ही किसी को गिरफ्तार किया...!!!
जम्मू कश्मीर की भाजपा सरकार की ये वही पुलिस है जिसने अभी कुछ दिन पहले ही भारत माता की जय नारा लगाने वाले, तिरंगा झंडा फहराने वाले छात्रों को इस बात पर इतनी बुरी तरह मारा कि, 17 छात्र अस्प्ताल में और 3 छात्र ICU में जिंदगी मौत की लड़ाई लड़ रहे हैं l वैसे मुझे ज्यादा आश्चर्य नहीं हो रहा, इस पूरे घटनाक्रम पर, क्योंकि राष्ट्रवाद के स्वघोषित इकलौते ठेकेदारों का इससे भी वीभत्स और घिनौना चेहरा उत्तरप्रदेश में वर्षों पहले देख चुका हूँ और मैं अकेला नहीं हूँ, पूरा यूपी वह चेहरा देख चुका है....!!!
इसीलिए जब वोट देने का वक्त आता है तो यूपी की जनता को मुलायम और माया का चेहरा इन विश्वासघाती स्वघोषित राष्ट्रवादियों से कई गुना बेहतर लगता है l इसीलिए यूपी में भाजपा पिछले 12 वर्षों से राजनीतिक अप्रासंगिकता का कफ़न ओढ़कर तीसरे चौथे नंबर की पराजय की चिता पर मुर्दों की तरह निर्जीव निष्प्राण लेटी हुई थी l कश्मीर के घटनाक्रम पर आश्चर्य मुझे इसबार इसलिए हुआ है क्योंकि मुझे नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार से ऐसे घृणित कुटिल कुत्सित आचरण की उम्मीद कतई नहीं थी l अब भी नहीं है, लेकिन जो सच चीख - चीख कर अपनी उपस्थिति दर्ज़ करा रहा है, उसको अनदेखा कैसे कर दूँ.....???
घोर निराशाजनक स्थिती से गुज़र रहे भारतीय तंत्र की दशा और दिशा धीरे - धीरे भयानक क्षोभ की तरफ़ जाती दिख रही है l लग रहा है, जैसे- राष्ट्रवाद का मधु मुल्लमे की तरह नीम पर चढ़ा कर धोखे में दिखाया गया था और लोगों ने जोश में अपने होश गँवा दिए, जिसकी क़ीमत अब वसूलवाने के लिए तैयार रहे जनमानस...!!! जैसे आप अब एक गुंडा तैयार कर सकते हैं, मात्र 2 रूपए में JNU type संस्थानों से, पर 2 लाख+ boarding फ़ीस देकर एक उदीयमान छात्र नहीं तैयार कर सकते, क्योंकि इतनी afford करने की हमारी क्षमता हीं नहीं होगी.....!!!

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें