Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

रविवार, 10 अप्रैल 2016

अजीब दोगलापन है भाई....!!!

भारत का कोई नेता इस मदर टेरेसा के खिलाफ या इसके धर्मांतरण वाले एजेंडे के बारे में बोलने की हिम्मत नहीं करता क्योंकि इस देश में हिन्दू वोटरों से ज्यादा ईसाई और अल्पसंख्यक वोट महत्वपूर्ण है...!!! साधुवाद तस्लीमा को जो हर मुद्दे पर अपनी बेबाक राय रखती है...!!! वो पाखंड भी करें तो वो चमत्कार है और संत कहलायेगें....!!! हिन्दू कुछ करें तो उसे अंधश्रद्धा कहा जायेगा...!!!

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Post Top Ad

Your Ad Spot

अधिक जानें